Connect with us

करनाल

एनसीआर में आज से 10 दिन कंस्ट्रक्शन पर रोक, 4 से 10 तक प्रदूषण फैलाने वाली इंडस्ट्री भी नहीं चलेगी

Published

on

केंद्रीय पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने 1 से 10 नवंबर के बीच सर्वाधिक प्रदूषण होने की आशंका जताई है। इसे ध्यान में रखते हुए पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण अथाॅरिटी  के निर्देश पर हरियाणा स्टेट प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एचएसपीसीबी) ने एनसीआर के जिलों में सभी तरह के निर्माण कार्यों को एक से 10 नवंबर तक बंद करने के आदेश दिए हैं।

साथ ही 4 से 10 नवंबर तक कोयला और बायोमास उपयोग करने वाली इंडस्ट्री को बंद रखने को कहा है। यानी- डाइंग और इससे संबंधित सभी यूनिट इस दौरान बंद रहेंगी। बोर्ड ने प्रदेश के सभी डीसी को नियमों का पालन सुनिश्चित कराने को कहा है।

इन पर भी रोक :

  •    दस दिन तक स्टोन क्रशर और हॉट मिक्स प्लांट भी बंद रहेंगे।
  •    ट्रैफिक पुलिस व ट्रांसपोर्ट विभाग को प्रदूषण से जुड़े मामलों की सघन जांच करने को कहा है।
  •    प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर ऑन द स्पॉट जुर्माना किया जाए। रात में भी पेट्रोलिंग की जाए है।
  •    बिजली की उपलब्धता भी अधिक से अधिक कराने को कहा है, ताकि डीजल सेट जेनरेटर न चले।
  •   कूड़ा-कर्कट जलाने पर पूरी पाबंदी भी सुनिश्चित करने को कहा है।

एनसीआर में प्रदेश के 13 जिले :

एनसीआर में हरियाणा के 13 जिले (गुड़गांव, फरीदाबाद, पलवल, मेवात, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, भिवानी, रोहतक, झज्जर, सोनीपत, पानीपत, करनाल, जींद) आते हैं। इस आदेश का असर इन जिलों पड़ेगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

करनाल

जमीनी विवाद में 1 दर्जन बदमाशों ने युवक को

Published

on

By

नीलोखेड़ी कस्बे के संडीर गांव में एक युवक को बेरहमी से पीटने का वीडियो वायरल हुआ है। आरोपी कोई और नहीं बल्कि पीड़ित के परिवार का ही सदस्य उसका ताऊ है। लगभग 1 दर्जन आरोपियों ने लाठी, डंडों से युवक को बेरहमी से मारा , जिसकी वजह से उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। हमलावरों ने खुद इस पूरी घटना का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। पुलिस ने मामले में पीड़ित के बयान दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

24 घंटे बाद आया पीड़ित को होश, इसके बाद पुलिस को दर्ज करवाए बयान

अस्पताल में भर्ती पीड़ित हरविंदर सिंह ने बताया कि घटना 1 नवंबर 2018 की है। वह शाम को अपने खेत में काम कर रहा था। हरविंदर का आरोप है कि इसी दौरान उसका ताऊ दलबीर सिंह व लगभग 1 दर्जन युवकों ने उस पर लाठी,डंडों से वार कर दिया और बेरहमी से मरने लग गए।

आरोपियों ने ही इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। उनकी मार से हरविंदर बुरी तरह से घायल हो गया, उसे नीलोखेड़ी सीएचसी ले जाया गया, जहां से कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया। उसके परिजन उसे एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए।

यहां उसका इलाज चल रहा है, हरविंदर के हाथ पैर में फ्रैक्चर है। उसे 24 घंटे बाद होश आया है। हरविंदर का कहना है कि उसके ताऊ व आरोपियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

बयान लेने पहुंचे पुलिस जांच अधिकारी श्रीभगवान का कहना है कि हरविंदर 24 घंटे से बेहोश था, वह बयान देने की हालत में नहीं था। अब उसे होश आया है। उसके बयान दर्ज कर लिए गए हैं।

जिसमें उसने अपने ताऊ दलबीर सिंह व कुछ अन्य पर हमले का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

Continue Reading

करनाल

हरियाणा रोडवेज: पहले भर्ती किया, अब निकालने के थमाए नोटिस

Published

on

By

हरियाणा रोडवेज की हड़ताल गतदिवस पंजाब हरियाणा हाइकोर्ट के संज्ञान लेने के बाद खत्म हो गई।

रोडवेज के कर्मचारी काम पर लौट अाए हैं। परिवहन विभाग की और से कर्मचारियों को वापस लेने की बात कही है। वहीं आउटसोर्सिंग पोलिसी-1 के तहत भर्ती किए गए कर्मचारियों को विभाग के निदेशक ने हटाने के फरमान जारी किया है।
PunjabKesari

PunjabKesari

जिसके बाद सरकार व अाम जनता की कुछ परेशानी हल तो हुई लेकिन हड़ताल के दौरान भर्ती किए गए चालकों व परिचालकों को दोहरी मार झेलनी पड़ी। क्योकि सरकार ने अाज हड़ताल के दौरान भर्ती किए गए चालकों व परिचालकों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। अाज उन परिचालकों को नौकरी ज्वाइन नहीं करने दिया गया। इस बात पर भड़के अधिकारियों ने जीएम ऑफिस के बाहर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

PunjabKesari

सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे कर्मचारी सरकार पर यूज एन्ड थ्रो नीति को अपनाने का अारोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि संकट की घड़ी में लगभग डेढ़ सो युवाओँ ने चालक व् परिचालक की डयूटी निभाई और सरकार का मुश्किल घड़ी में साथ दिया, लेकिन हड़ताल के खत्म होते ही सरकार ने हमें बेरोजगार कर दिया। बेरोजगार हुए चालक व परिचालकों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर नौकरी की मांग की है।

PunjabKesari

उनका कहना है कि सरकार उनकी दिवाली काली न करें पिछली नौकरी भी उनके हाथ से जा चुकी है और अाज सरकार ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया।

 

Continue Reading

करनाल

जरा बचके, शहर दर शहर फैल रहा सम्मोहन का जाल, इस तरह उतरवा रहे गहने

Published

on

By

पानीपत: इन दिनों एक ऐसा गिरोह काम कर रहा है, जिससे लोगों में खौफ छाया है। अनजान लोगों से बात भी करना अब मुसीबत बनता जा रहा है। लोगों में खौफ है कि सम्मोहित करके ये गिरोह लोगों को लूट रहा है। पुलिस भी इस गिरोह तक अब तक नहीं पहुंचा पा रही है।

करनाल की न्यू प्रेम कालोनी निवासी 60 वर्षीय पूनम से बदमाश दिन दिहाड़े सोने के कंगन व दो अंगूठियां उड़ा ले गए। बदमाशों ने वारदात को इतने शातिराना तरीके से अंजाम दिया कि महिला को आभास तक नहीं हुआ। जब पता चला तब तक वो फरार होने में कामयाब हो गए।

बातों में उलझा लिया

पूनम अपने पोते जयंत और पोती ज्योति के साथ ज्योति नगर अपने भाई के यहां जा रही थी।  जैसे ही वह तीनों मान कालोनी के नजदीक पहुंचे तो एक युवक उनके पास आया। उसने अपना मुंह पर कपड़ा बांध रखा था। ताई राम राम कहते हुए उसने महिला को बातों में उलझाया। पूछा कि शिव मंदिर कहां है? वहां जाना है। उसके पास कुछ कूपन है। इससे बुजुर्गों को देने हैं, इसमें जिसका भी नंबर निकलेगा उसे 600 रुपये देंगे।

सोने के कड़ा और अंगूठियां तक उतारकर दे दी

दूसरा बदमाश मौके पर आया। उसने भी एक कूपन लिया। स्क्रेच किए तो उसका नंबर आ गया। उसे मौके पर 600 रुपये दे मिल गए। इसमें से उस बदमाश ने 100 रुपये पूनम की पोती को भी दिए। दोनों ने महिला और उसके बच्चों को बातों में उलझा लिया। देखते ही देखते एक बदमाश ने महिला के हाथ  से सोने का कड़ा और अंगूठियां उतरा ली। उन्हें कुछ समझ भी नहीं आया कि उनके साथ हो क्या रहा है? देखते ही देखते बदमाश बाइक पर मौके से फरार हो गए।

तो क्या सम्मोहित कर लिया।

ज्योति ने बताया कि बदमाशों ने उनके दिमाग पर इस तरह से काबू कर लिया कि सोच ही नहीं पा रहे थे। जैसे जैसे वह बोल रहे थे हम ऐसा ही कर रहे थे।

ऐसा लग रहा था जैसे उन्होंने हमें सम्मोहित कर लिया हो। तब हमें समझ में आया जब बदमाश मौके से भाग गए। हमने शोर मचाया। मौके पर कुछ लोग आए। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया।

hypnotized

सीसीटीवी में दिखे बदमाश।

पहले भी हो चुकी है इस तरह की वारदात 

यह पहली वारदात नहीं है। इससे पहले भी इस तरह की कई वारदात हो चुकी है। इसके बाद भी पुलिस इनका पता नहीं लगा पाई है। कांग्रेस के पूर्व शहरी जिलाध्यक्ष सुरेश चंद भारद्वाज ने कहा कि शहर की कानून व्यवस्था बिगड़ गई है। पुलिस क्राइम कंट्रोल करने में नाकामयाब है। इस तरह से यदि दिन दिहाड़े ही लोग लूटते रहेंगे तो कैसे कोई खुद को यहां सुरक्षित महसूस कर सकता है।

अजनबी से ज्यादा बातचीत न करें

किसी भी अजनबी से ज्यादा बातचीत न करें। इन बदमाशों का तरीका ही ऐसा होता है कि यह बड़ी ही होशियारी से  सामने वाले को अपनी बातों में उलझाते हैं। आमतौर पर बुजर्ग महिलाओं को ही निशाना बनाते हैं। धार्मिक स्थल, मंदिर या इसी तरह की जगह पर बदमाश पहले टारगेट फिक्स करते हैं।

उसका पीछा कर ऐसी  सुनसान जगह तलाशते हैं, जहां आराम से वारदात को अंजाम दे सके। जैसे ही इन्हें ऐसा स्थान मिलता है तुरंत ही एक्टिव हो जाते हैं। दो से तीन मिनट में ही अपना काम निकाल जाते हैं।

पहले एक बदमाश आता है, पीछे से उसके साथी 

पहले एक बदमाश आता है। वह महिलाओं को अपनी बातों में उलझाता है। इसी बीच उसका दूसरा साथी बदमाश भी पहुंच जाता है। लेकिन दिखाते ऐसे हैं जैसे वह एक दूसरे को जानते ही नहीं हो। यह इसलिए करते हैं ताकि जिसे टारगेट किया हो, वह उन पर शक न कर सके। दूसरे साथी का सहयोग लेकर ही वारदात को अंजाम देते हैं।

सभी वारदातों का तरीका एक जैसा 

अभी तक जितनी भी वारदात हुई, सभी का तरीका एक जैसा ही है। दो बदमाश ही इसे अंजाम देते हैं। इससे यहीं अंदाजा लगाया जा सकता है कि एक ही गिरोह की करतूत है। जो बार बार इसे अंजाम दे रहे हैं। यह आसानी से आम लोगों में घुल मिल जाते हैं। जिससे आसानी से इनका पता भी नहीं चलता है। इसी अंदाज में 12 अक्टूबर को कुंजपुरा रोड पर वारदात को अंजाम दिया था। माडल टाउन निवासी महिला कौशल्या से दो युवकों ने यह कहकर कंगन उतरवा लिए थे कि वह पुलिस वाले। इसके बाद वह दोनों फरार हो गए। सेक्टर एरिया में दो वारदात ऐसी हो चुकी हैं, जब अनजान व्यक्ति घर में आया और उसने महिला को सम्मोहित कर उसके जेवर लूट लिए।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2018 Panipat Live