Connect with us

कैथल

एयरपोर्ट से लौट रहे थे…पर न सुहाग बचा न बेटा और न बहू, तस्वीरें देख नहीं पाओगे

एयरपोर्ट से लौट रहे थे कि रास्ते में अचानक कुछ ऐसा हो गया, न सुहाग बचा, न बेटा और न बहू। हादसा कितना दर्दनाक, तस्वीरें गवाह हैं। हादसा हरियाणा के कैथल में हुआ। ताईवान में बसे बेटे के पास भेजने के लिए पुत्रवधू को दिल्ली एयरपोर्ट पर छोड़कर वापिस लौट रहे परिवार की कार कैथल-करनाल […]

Published

on

एयरपोर्ट से लौट रहे थे कि रास्ते में अचानक कुछ ऐसा हो गया, न सुहाग बचा, न बेटा और न बहू। हादसा कितना दर्दनाक, तस्वीरें गवाह हैं।

हादसा हरियाणा के कैथल में हुआ। ताईवान में बसे बेटे के पास भेजने के लिए पुत्रवधू को दिल्ली एयरपोर्ट पर छोड़कर वापिस लौट रहे परिवार की कार कैथल-करनाल रोड पर ट्राले से जा टकराई। हादसे में कार सवार एक ही परिवार के चार लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। कार सवार ढाई साल के मासूम बच्चे सहित एक की जान बच गई, दोनों को गंभीर रूप से घायल होने के चलते निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है।

परिवार जिले के सीवन गांव का रहने वाला है। हादसे की खबर मिलते ही गांव में रविवार सुबह ही सन्नाटा पसर गया। मृतक की पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल हैं, हाल ही में वे जेबीटी टीचर के पद से रिटायर हुईं। हादसे का कारण नींद की झपकी बताई जा रही है। ट्राला चालक ने ही पुलिस को हादसे के बारे में सूचित किया। इसके बाद एंबुलेंस मौके पर पहुंची और उन्हें अस्पताल तक लाया गया।

बताया जा रहा है कि मृतक गुरबचन सीवन में ही अच्छे जमींदार थे। वहीं उनके दोनों बेटे सीवन में ही मोबाइल की दुकान चलाते हैं। मृतक दिल्ली से मोबाइल व जेवरात लेकर आ रहे थे। उनका थैला कार में ही था। मौके से यह थैला भी लापता मिला। जिसमें लाखों रुपये कीमत के मोबाइल बताए जा रहे हैं। डीएसपी रामकुमार ने बताया कि घायल देवेंद्र की शिकायत पर अज्ञात ट्राला चालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

मिली जानकारी के अनुसार सीवन निवासी गुरबचन उर्फ पप्पू मिड्डा अपने दो बेटों देवेंद्र मिड्डा (28), मनीष ऊर्फ आसू (26), अपनी बहन मथरा(60), देवेंद्र की पत्नी निशा(27), पौत्र मनन (ढाई साल)के साथ दिल्ली में एयरपोर्ट से लौट रहे थे। वे सभी ताईवान में रह रहे तीसरे बेटे मोहित मिड्डा की पत्नी लवली को ताईवान जाने से पहले मिलने के लिए गए थे। लवली मिड्डा की शनिवार रात को ही फ्लाइट थी।

वे रात को ही उससे मिलकर वापिस सीवन के लिए चल पड़े। रास्ते में करनाल में गुरबचन की बहन के यहां मिलकर दो बजे के बाद कैथल के लिए रवाना हुए। सुबह करीब 4 बजे शुगर मिल के निकट ट्राले के साथ उनकी कार की भीषण टक्कर हो गई। टक्कर इतनी भयंकर थी कि कार के परखचे उड़ गए। हादसे में गुरबचन, मनीष, मथरा व निशा की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं देवेंद्र मिड्डा व उनका ढाई साल का बेटा मनन किसी तरह बच गए।

सुबह लोगों ने उन्हें किसी तरह से मौके से उठाकर अस्पताल पहुंचाया। एक साथ चार मौतों की सूचना मिलते ही सुबह-सुबह ही सीवन में सन्नाटा पसर गया। गांव से गणमान्य लोग घटनास्थल की और दौड़ पड़े। जिला अस्पताल में भी लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। पूर्व विधायक बूटा सिंह सहित कई गणमान्य लोग मौके पर पहुंचे। यहां से पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम करवाकर मृतका मथरा के शव को उनकी ससुराल बरवाला(हिसार) भेज दिया।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *