Connect with us

राज्य

कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोलने निकले अजय चौटाला, झज्जर, भिवानी, हिसार होते हुए पहुंचेंगे सिरसा

Published

on

चौटाला परिवार में चल रहे पारिवारिक विवाद के बीच पैरोल पर 14 दिन के लिए बाहर आए अजय चौटाला ने इस मामले को और हवा दे दी है। सोमवार को उन्होंने अपने तेवर दिखा दिए थे कि वे इतनी आसानी से इनेलो नहीं छोड़ेंगे और अपने आगामी कदम की घोषणा 14 नवंबर को करेंगे। इससे पहले उन्होंने कार्यकर्ताओं के बीच जाने का फैसला किया है ताकि उनसे जन समर्थन जुटाया जा सके। इसी कड़ी में मंगलवार को अजय चौटाला सिरसा के लिए निकलेंगे। इस बीच वे झज्जर, दादरी, भिवानी, हांसी और हिसार होते हुए सिरसा पहुंचेंगे।

अजय चौटाला मंगलवार 12 बजे झज्जर पहुंचे। यहां पूर्व इनेलो जिलाध्यक्ष सतपाल पहलवान के घर रुके। यहां उन्होंने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इसी तरह वे अन्य जिलों में भी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे और फीडबैक लेंगे। हर जिले में उनके समर्थकों ने पहले से कार्यक्रमों का आयोजन कर रखा है।

एक दिन पहले बोले थे कि इनेलो किसी के बाप की बपौती नहीं

18 जनपथ पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा था कि इनेलो न तो मेरे बाप की बपौती है और न किसी के बाप की, इनेलो कार्यकर्ताओं की है, इसे किसी की बपौती नहीं बनने देंगे।

उन्होंने अभय का नाम लिए बिना टिप्पणी करते हुए कहा था कि मुझे उन लोगों पर तरस आता है जो इनेलो पार्टी को खून-पसीने से सींचने वाले कार्यकर्ताओं को आज पेड कांग्रेसी बता रहे हैं। इन्होंने 18 जनपथ पर पहुंचे इनेलो के विधायक और कार्यकर्ताओं के नाम लेकर कहा कि क्या ये कांग्रेसी हैं? क्या ये किसी कांग्रेस के दरवाजे पर गए हैं?

उन्होंने महाभारत का वाकया याद दिलवाया कि जब पांडवों ने दुर्योधन से 5 गांव मांगे तो दुर्योधन ने मना कर दिया था और कहा था कि मैं सुई की नोक जितनी जगह नहीं दूंगा। तब पांडवों ने कहा था कि जा दुर्योधन अब हम जाते हैं, ये संदेश सुनाते हैं। याचना नहीं अब रण होगा, जीवन या मरण होगा। दुर्योधन तू उत्तरदाई होगा। हिंसा का उत्तरदाई होगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पानीपत

यह भीड़ किसी एक प्रदेश की नहीं। बल्कि हजारों किमी दूर से यहां अभ्यर्थी आए हैं।आखिर ऐसी कौन खास भर्ती थी।

Published

on

By

जीटी रोड जाम, बस अड्डे में भारी भीड़ और रेलवे स्टेशन में भी पैर रखने तक की जगह नहीं। यह किसी एक प्रदेश की नहीं बल्कि कई किमी से आए अभ्यर्थियों की भीड़ है। वह भी फोर्थ क्‍लास की नौकरी के लिए। लेकिन जब सैलरी सुनेंगे तो भौचक्के रह जाएंगे।

हरियाणा के विभिन्न जिलों के अलावा राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार और दिल्ली से एक दिन पहले परीक्षार्थी पानीपत पहुंचे। धर्मशालाओं में ठिकाना नहीं मिला तो रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर बिस्तर बिछाकर सुबह का इंतजार करते रहे। जिनके पास बिस्तर थे, वे तो बिछाकर आराम करते दिखाई दिए। बाकि ठंड में ठिठुरते नजर आए। कुछ एक तरफ बैठकर पढ़ते मिले।

मेरिट में तगड़ा मुकाबला

ग्रुप डी की परीक्षा में भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं की डगर आसान नहीं है, क्योंकि मेरिट में आने के लिए उनका मुकाबला प्रदेश के युवाओं के अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार और राजस्थान के युवाओं से भी है। साथ लगते राज्यों से बड़ी तादाद में युवा नौकरी का सपना लेकर हरियाणा में आए हैं। वे किसी भी तरह अपने ऊपर लगे बेरोजगारी के दाग को धोना चाहते हैं। फिर उसके लिए उन्हें एक हजार किलोमीटर का सफर ही क्यों न तय करना पड़ रहा हो या फिर रात प्लेटफार्म पर गुजारनी पड़ रही हो।

हैरान कर देने वाली भीड़
शुक्रवार देर रात को बड़ी तादाद में दूसरे राज्यों से युवा एक दिन पहले ही रेलवे स्टेशन पर परीक्षा देने के लिए पहुंच गए। रात उन्होंने स्टेशन पर ही गुजारी। इनमें से कुछ युवाओं के चेहरे पर परीक्षा पास करने का जुनून दिखाई दिया तो किसी के चेहरे पर सुबह जल्दी उठकर केंद्र ढूंढने की चिंता दिखाई दी। कई युवा प्लेटफॉर्म की लाइट पर बैठे हुए देर रात तक पढ़ते हुए नजर आए। वहीं रात भर आरपीएफ के सुरक्षा कर्मी तैनात रहे।

group d student

एक हजार किलोमीटर लंबा सफर करके पहुंचा कुरुक्षेत्र तक

 बिहार के जिला रोहताश निवासी काशीनाथ पासवान ने बताया कि वह 14 नवंबर को घर से चला था और एक हजार किलोमीटर का सफर करने के बाद 16 नवंबर को कुरुक्षेत्र पहुंचा है। पासवान ने कहा कि हरियाणा में बड़े स्तर पर भर्ती हो रही है और सरकारी नौकरी में इतनी बड़ी भर्ती में प्रवेश के लिए मौका वह नहीं छोड़ सकता। पासवान ने बताया कि उसने बीए कर रखी है और इस परीक्षा के लिए अपने आपको पूरी तरह से तैयार करके आए हैं। अब शनिवार को अगर दिन सही रहा तो वे अपनी मेहनत से इस परीक्षा को अच्छे नंबरों से पास कर लेंगे। इसके लिए उसने एक हजार किलोमीटर से भी ज्यादा का सफर किया है।

ये रही स्थिति

पानीपत : 72 केंद्र में 30 हजार अभ्यर्थी

कुरुक्षेत्र : 51 केंद्र में 28 हजार अभ्यर्थी

अंबाला : 92 केंद्र में 32 हजार अभ्यर्थी

यमुनानगर : 68 केंद्र में 44 हजार अभ्यर्थी

करनाल : 67 केंद्र में 20 हजार अभ्यर्थी

कैथल : 43 केंद्र में 16 हजार अभ्यर्थी

ये भी जानें

ग्रुप डी पदों पर भर्ती 

कैटेगरी और कुल पद

सामान्य: 8312

एससी: 4245

बीसीए 3345

बीसीबी: 2316

कुल पदों की संख्या: 18218

चयनित उम्मीदवारों को ग्रेड के आधार पर 16900-52500 रुपये पे-स्केल दी जाएगी।
योग्यता: मान्यता प्राप्त बोर्ड से मैट्रिक, हिंदी और संस्कृत मैट्रिक के विषय होने चाहिए।
उम्र सीमा: 18 से 42 साल

Continue Reading

जींद

अजय चौटाला ने की नई पार्टी बनाने की घोषणा, बोले- इनेलो और चश्मा छोटे भाई को मुबारक

Published

on

By

इनेलो में चल रही सियासी खींचतान के बीच शनिवार को इनेलो दोफाड़ हो गई और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अजय चौटाला ने नई पार्टी बनाने की घोषणा कर दी। उन्होंने जींद में बुलाई कार्यकर्ताओं की बैठक में निर्णय लेने के बाद कहा कि इनेलो और चश्मा छोटे भाई को मुबारक हो। वो इसे संभालकर रखे, क्यों कि वे मेरा अजीज है। हम तो नई पार्टी बनाएंगे। अभी पार्टी के नाम और झंडे की घोषणा नहीं की है। यह घोषणा एक सप्ताह के अंदर कानूनी अड़चनें पूरी करके की जाएगी।

बोले कार्यकर्ताओं के इस्तीफे जेल लेकर जाऊंगा और चौटाला को दिखाऊंगा:

कार्यकर्ताओं बैठक में अजय चौटाला द्वारा एक फॉर्म बांटा गया था, जिसमें कार्यकर्ताओं ने सामूहिक रुप से इनेलो से इस्तीफा लिखवाया है। उन्होंने कहा कि इन इस्तीफों को तिहाड़ लेक जाऊंगा और अपने पिता चौटाला को दिखाउंगा। ये देखो इनेलो सामूहिक रुप से छोड़ दी है।

9 दिसंबर को बुलाई रैलीः 

अजय चौटाला ने नई पार्टी के लिए 9 दिसंबर को रैली बुलाई है। इस रैली में नई पार्टी की विधिवत रुप से घोषणा की जा सकती है। उन्होंने पार्टी की बागडोर पूरी तरह दुष्यंत के हवाले करने के संकेत दे दिए हैं और जनता को कहा है कि दुष्यंत को आप लोगों को सौंप कर जा रहा हूं, इसे संभालकर रखना।

अभय पर साधा निशानाः

अजय चौटाला ने अपने भाषण के दौरान अभय चौटाला पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुझे कहा जाता है कि मैंने राजस्थान की राजनीति की है। मैंने कम से कम इनेलो की राजनीति तो की लेकिन अभय से पूछे कि वो कब राजस्थान जाता है। अभय इनेलो के लिए नहीं बल्कि अपने साले के लिए बीजेपी की वोट मांगने राजस्थान जाता है। आज फिर राजस्थान में नोमिनेशन है अभय फिर वहां जाएगा।

इनसो को लेकर फिर दिया स्पष्टीकरणः

अजय चौटाला ने इंडियन नेशनल स्टूडेंट आर्गेनाइजेशन को लेकर फिर से स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा कि इनसो उनके द्वारा बनाई गई स्टूडेंट आर्गेनाइजेशन है। इसे भंग करने का किसी को अधिकार नहीं है।

सीएम बनने के लिए नहीं सम्मान की लड़ाई लड़ीः

अजय चौटाला ने कहा कि 5 नवंबर को जब से बाहर आया मैंने कभी पार्टी विरोधी बात नहीं की लेकिन फिर भी पार्टी से बाहर निकाल दिया गया। मैंने 662 किलोमीटर लंबी जन आंक्रोश यात्रा क्या सीएम बनने के लिए की थी क्या? शिक्षक भर्ती घोटाले में न तो एफआईआर, न कोई गवाही, न चार्ज फिर भी 10 साल की सजा काट रहा हूं। क्या सीएम बनने के लिए ऐसा किया था। नहीं, लोगों के सम्मान की लड़ाई के लिए ऐसा किया था।

दुष्यंत बोले-दादा ओमप्रकाश चौटाला को खड़ा कर दूंगा इसी मंच परः 

जींद में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राम ने लव-कुश को बाहर निकाला था, राम को उनके पिता ने निकाला था। इसका मतलब ये नहीं कि उन्होंने संघर्ष करना छोड़ दिया था। हम अंत तक इतनी मेहनत करेंगे कि अपने दादा ओमप्रकाश चौटाला को इसी मंच पर खड़ा कर देंगे।

Continue Reading

जींद

जींद से हुंकार, अजय चौटाला ने की नई पार्टी बनाने की घोषणा

Published

on

By

इनेलो में चल रही सियासी खींचतान के बीच जींद में अजय चौटाला ने नई पार्टी की घोषणा कर दी है। उन्होंने कहा कि इनेलो और चश्मा अभय चौटाला को ही मुबारक हो। वे एक सप्ताह के अंदर कानूनी अड़चने पूरी कर नई पार्टी का नाम, उसका झंडा घोषित कर देंगे। अजय चौटाला ने यह घोषणा जींद के एक पैलेस में की। इसके बाद वे जींद हुड्डा ग्राउंड में जनता को संबोधित करेंगे।

अब अभय चौटाला कर सकते हैं बड़ी घोषणाः

अजय के इस फैसले के बाद अब अभय चौटाला बड़ी घोषणा कर सकते हैं। वे अजय के फैसले का इंतजार कर रहे थे। बता दें कि चंडीगढ़ में भी इनेलो कार्यकारिणी की बैठक चल रही है। वहीं जींद में

चंडीगढ़ में 14 इनेलो विधायकों के पहुंचने की सूचनाः

वहीं चंडीगढ़ में 14 इनेलो विधायकों के कार्यकारिणी में पहुंचने की सूचना प्राप्त हो रही है। बताया जा रहा है कि जींद विधायक की मौत के बाद इनेलो के 18 विधायक बचे थे। विधायक नैना चौटाला, विधायक राजदीप फोगाट और अनूप धानक जींद पहुंचे हुए हैं।

दोनों जगह पहुंचे हैं समर्थक:

चंडीगढ़ के जाट भवन में आयोजित हो रही बैठक में अभय चौटाला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा और विधायक व पदाधिकारी पहुंचे हुए हैं। यहां इनेलो कार्यकर्ता भी मौजूद हैं। इसी तरह जींद में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे हुए हैं। यहां दो जगह कार्यक्रम है, दोनों जगह भीड़ मौजूद है।

इनेलो विधायक बोले हमें नहीं किया गया था हाईजैक:

इनेलो विधायक जाकिर हुसैन ने चंडीगढ़ के जाट भवन में पहुंचकर कहा कि यह जानकारी गलत फैलाई जा रही थी कि उन्हें हाईजैक किया गया है। हमें किसी ने गायब नहीं किया था। हम तो छुट्टी मनाने के लिए गए थे। हमारे ऊपर कोई प्रैशर नहीं है।

जींद में नई पार्टी के गठन पर बयान देने से बच रहे अभय खेमे के नेताः 

जींद में अजय चौटाला द्वारा नई पार्टी बनाए जाने की चर्चा पर अभय खेमे के लोग बोलने से बच रहे हैं। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व इनेलो विधायक जाकिर हुसैन से जब ये सवाल पूछा गया कि अजय चौटाला नए झंडे और नए डंडे की बात कर रही है, तो उन्होंने जवाब देने से मना कर दिया।

जींद में पोस्टरों से इनेलो हुई गायबः

जींद के दीप पैलेस में अजय चौटाला द्वारा बुलाई गई बैठक में लगे पोस्टरों से इनेलो शब्द गायब है। यहां लगे पोस्टरों में लिखा हुआ है कि आप सभी का प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में स्वागत है।

जींद पहुंचे दिग्विजय चौटाला ने कहा कि भी विधायकों को हाईजैक किया गया था। सभी विधायक जल्द हमारे साथ होंगे।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2018 Panipat Live