Connect with us

विशेष

किन्नरों को दी जाने वाली राशि की होनी चाहिए सीमा तय? क्या है विचार ?

Published

on

 विवाह शादी व लड़का पैदा होने पर अब किन्नर मुंह मांगी राशि के लिए दबाव नहीं बना पाएंगे। नगला जगीर गांव की पंचायत ने किन्नरों को दी जाने वाली राशि की सीमा तय कर दी है। अब परिवार में लड़के के जन्म या शादी समारोह पर किन्नरों को 1100 रुपए का शगुन दिया जाएगा। पंचायत की इस पहल का सभी पंचायतों ने स्वागत किया है। पंचायत एसोसिएशन के जिला प्रधान सर्वजीत सिंह ने इसे जिले की अन्य पंचायतों में भी लागू करने की पेशकश की है। पूरे गांव में जगह-जगह विज्ञापन लगाकर लोगों को सूचना दे दी गई है।

Image result for किन्नरों

गांव के सरपंच नागपाल ने बताया कि मांगलिक कार्य के बाद किन्नर ग्रामीणों को नाजायज तंग करते थे। जिसके चलते मध्यम व निम्न वर्गीय परिवारों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता था। किन्नर दबाव बना कर 21 से 31 हजार रुपए ले जाते थे। अपशगुन से बचने के लिए लोग मुंह मांगी राशि देने को विवश हो जाते थे। पंचायत ने यह भी तय किया है कि परिवार अपनी मर्जी से तय शगुन के अलावा कोई कपड़ा या अन्य सामान दे सकता है।

Image result for किन्नरों

पंचायत की सराहना 
सरपंच एसोसिएशन के जिला प्रधान सर्वजीत सिंह भेड़थल ने कहा कि नगला जगीर पंचायत का निर्णय सराहनीय है। जिले की दूसरी पंचायतों में भी बैठकें बुला कर ये राशि तय की जाएगी।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You're currently offline