Connect with us

राज्य

किसी की गर्दन हुई अलग तो कोई मिला 100 फीट दूर, भाई बोला- भाभी को क्या जवाब दूंगा

Advertisement नेशनल हाई-वे पर हिसार-फतेहाबाद के बीच काजला पुल पर फतेहाबाद से आ रही ओवर स्पीड हाेंडा सिटी कार टायर फटने के कारण चार फीट ऊंची डिवाइडर पार कर रोडवेज बस से जा टकराई। हादसे में कार सवार एक ही परिवार के चार लोगों व एक पड़ोसी की मौके पर मौत हो गई। हादसा इतना […]

Published

on

Advertisement

नेशनल हाई-वे पर हिसार-फतेहाबाद के बीच काजला पुल पर फतेहाबाद से आ रही ओवर स्पीड हाेंडा सिटी कार टायर फटने के कारण चार फीट ऊंची डिवाइडर पार कर रोडवेज बस से जा टकराई। हादसे में कार सवार एक ही परिवार के चार लोगों व एक पड़ोसी की मौके पर मौत हो गई। हादसा इतना भीषण था कि गाड़ी में बैठे दो लोगों की गर्दन धड़ से अलग हो गई। एक व्यक्ति फ्लाईओवर के ऊपर से उछलकर करीब 100 मीटर दूर खेतों में जा गिरा। दो लोग दीवार से जा टकराए। वहीं बस में सवार 10 यात्री घायल हो गए। हादसे में पांचवां मरने वाला उनका पड़ोसी है। मृतकों के भाई जोगेंद्र ने बिलखते हुए कहा दो सगे भाइयों, चाचा, पिता व दोस्त की मौत के बाद टूट गया हूं। पूरे परिवार का बोझ उसके कंधों पर है। भाभी को क्या जवाब देगा। वह अकेला चिराग बचा है, उसके आंगन में अभी तक बच्चे की किलकारी भी नहीं गूंजी है।

इलाज के लिए हिसार जा रहा था परिवार

पुलिस को फतेहाबाद के बीघड़ रोड काठ मंडी निवासी कश्मीरी लाल ने बताया कि उसके चचेरे भाई ओमप्रकाश को हार्ट की बीमारी थी। बुधवार दोपहर को 12 बजे ओमप्रकाश का बेटा प्रवीन कुमार, राधेश्याम, उसका भाई रघुबीर व विकास कार से फतेहाबाद से हिसार दवा दिलाने जा रहे थे।

Advertisement

गाड़ी विकास चला रहा था और प्रवीन आगे की सीट पर बैठा था। काजला पुल पर गाड़ी का अगला टायर अचानक फट गया और गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया। गाड़ी डिवाइडर पर चढ़कर सामने से आ रही फतेहाबाद डिपो की बस से जा टकराई।

हादसा स्थल से गुजरे पर रुके नहीं, हिसार पहुंचे तो फोन आया कि एक्सीडेंट हो गया

Advertisement

मृतकों के एक रिश्तेदार ने बताया ओमप्रकाश को अटैक आने की सूचना पर हम भी गाड़ी लेकर पीछे चल पड़े।

Advertisement

हमारे और उनके बीच 8-9 किमी का अंतर होगा। हम हादसा स्थल से गुजरे, जहां होंडा सिटी टकराई थी, लेकिन रुके नहीं। हिसार पहुंचे तो परिवार के सदस्य का फोन आया कि एक्सीडेंट हो गया, तब समझ में आया कि वह हादसा वही था, जिसे देखकर वह आए थे। हादसे में ओमप्रकाश और उसके भाई रघुबीर की मौत हुई है। रघुबीर के दो बेटे हैं।

एक बीटेक की पढ़ाई कर रहा है जबकि दूसरे की हाल ही में प्राइवेट नौकरी लगी थी। वहीं रघुबीर के दो बेटे व पत्नी हैं। पांचवां मरने वाला विकास उनका पड़ोसी है।

लोग पहुंचे तो चल रहीं थीं राधेश्याम की सांसें

हिसार के गांव दुर्जनपुर रोड के फोरलेन पर हुआ हादसा इतना दर्दनाक था कि जब हादसा हुआ तो प्रवीन का शव कार से हादसे वाली जगह से करीब 100 मीटर दूर जाकर गिरा। इस दौरान प्रवीन, रघुवीर, विकास, ओमप्रकाश की तभी मौत हो गई थी। राधेश्याम की कुछ सांसें चल रही थी। जैसे ही लोग इकट्ठा हुए और उससे पूछताछ की तो उसने तड़पते हुए बताया कि मेरा नाम राधेश्याम हंै और मैं फतेहाबाद के काठमंडी का रहने वाला हूं। यह कहते ही उसने अपना दम तोड़ दिया।

विकास ने इसी हफ्ते खरीदी थी सेकंड हैंड होंडा सिटी कार

विकास जिस होंडा सिटी कार में ओमप्रकाश व उसके परिवार को हिसार ले गया था। यह कार उसने इसी सप्ताह सेकंड हैंड खरीदी थी।

कारोबार के चलते करीब 3 साल दुबई में रहा था प्रवीन

मृतक ओमप्रकाश व दोनों बेटे प्रवीन, राधेश्याम फर्नीचर का काम करते थे। फर्नीचर के व्यापार के चलते मृतक प्रवीन दुबई भी गया था। जहां उसने करीब 3 साल तक फर्नीचर का कारोबार किया और लौट आया। 16 जुलाई को प्रवीन का जन्मदिन भी आने वाला था।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *