Connect with us

Cities

कोरोना ओपीडी में आठ लोगों की जांच, एक स्पेन का मूल नागरिक

Published

on

सिविल अस्पताल स्थित कोरोना वायरस ओपीडी में सोमवार को खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत लेकर आठ मरीज पहुंचे। इनमें आइओसीएल का कर्मचारी, स्पेन का मूल नागरिक भी शामिल है। किसी में भी वायरस के लक्षण नहीं मिले हैं।

स्पेन के नागरिक को 14 दिन होम आइसोलेशन में रहने के निर्देश दिए गए हैं। सिविल सर्जन डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि अभी तक ओपीडी में जितने भी मरीज जांच के लिए पहुंचे हैं, उनमें से अभी तक दो में कोरोना वायरस के लक्षण थे। दोनों की रिपोर्ट नेगेटिव मिली है। जिले के 125 लोग विदेशों की यात्रा कर लौटे हैं, मात्र आठ ऐसे हैं जिनसे सेल्फ डिक्लेरेशन फार्म नहीं भरवा सके। मंगलवार में सभी को ट्रैस कर लिया जाएगा। सिविल सर्जन के मुताबिक शाम के समय विभाग विभागों के अधिकारियों की बैठक बुलाई गई।

बैठक में तय हुआ कि संदिग्ध मरीजों को आउटर एरिया में ठहराया जाए, ताकि वायरस पैर नहीं पसार सके। इंस्टीट््यूट आदि भवनों में 1000 मरीजों के लिए अस्थाई आइसोलेशन वार्ड बनाए जाएंगे। आगामी दो दिनों में चार-पांच स्थान तय कर दिए जाएंगे।

चार डॉक्टर ओपीडी में नहीं

सिविल अस्पताल में सोमवार को 700 से अधिक मरीज इलाज के लिए पहुंचे। हड्डी रोग विशेषज्ञ, सर्जन और स्त्री रोग विशेषज्ञ छुट्टी पर बताए गए। मनोचिकित्सक की ड्यूटी इमरजेंसी में लगी हुई थी। सिविल सर्जन ने एमएस डॉ. आलोक जैन को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।बिना पूर्व सूचना अवकाश पर रहने वाले डॉक्टर का उस दिन का वेतन काटा जाएगा।

इसराना में कोरोना से बचाव को छात्राओं को बांटे मास्क

राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में सोमवार को शिक्षिका कुसुम लता ने परीक्षा देने पहुंची छात्राओं को कोरोना वायरस की जानकारी दी। कहा कि यह वायरस इंसान से इंसान में फैल रहा है। इससे बचने के लिए बार-बार साबुन से हाथ धोएं। खांसते व छीकते समय मुंह पर हाथ-रूमाल रखें और भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचें। उन्होंने छात्राओं को मास्क बांटे। इस दौरान प्रधानाचार्य रोहताश, सुदेश, किरण, राजेश, संगीता, जसबीर ङ्क्षसह, सत्यवान, मंजीत, संजीव व बबिता उपस्थित रहीं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *