Connect with us

पानीपत

घर के बाहर खड़े होकर आवाज लगाई। बाहर आए तो वारदात को अंजाम दिया

Published

on

मतलौडा के ताऊ देवीलाल चौक के पास चार बदमाशों ने देर रात खौफनाक लूट की वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों ने पहले घर के बाहर खड़े होकर आवाज लगाई। परिवार के लोग जब बाहर आए तो गन प्वाइंट पर लेकर बाकी सदस्यों को बंधक बना लिया। इसके बाद लूट की वारदात की।

ताऊ देवी लाल चौक निवासी दीपक उर्फ बंटी पुत्र प्रेम के घर पर रात 11.30 बजे चार अज्ञात बदमाश पहुंचे। एक ने मुहं बांध रखा था। चारों बदमाश देसी कट्टा से लैस थे। बंटी ने बताया कि कि रात को बाहर से आवाज आई कि गेट पर आना। जैसे ही बाहर आया तो बदमाशों ने उस पर धावा बोल दिया।

loot

बंटी ने बताया कि घर के बगल वाले प्लॉट में तीन बदमाश छिपे थे और एक गेट पर था। सभी ने मुंह ढका हुआ था। गेट खोलते ही बाहर खड़े बदमाश ने उस पर पिस्तौल तान दी। इसके बाद बगल के प्लॉट से तीन बदमाशों ने दीवार फांदकर उसे पीछे से पकड़ लिया।

बदमाशों ने उसके पेट और कनपटी पर पिस्तौल तानते हुए बाल पकड़कर अंदर ले जाने लगे। जब विरोध किया तो उसका दो साल का बेटा वासु आ गया। उन्होंने बेटे को मारने की धमकी दी। इसके बाद वह अंदर चला गया।

loot

गन प्वाइंट पर लिया सभी परिवार को 

अंदर जाते ही पत्नी शालू का मोबाइल छीन कर गन प्वाइंट पर बंधक बना लिया। दूसरे कमरे में सो रहे पिता प्रेमचंद और मां विद्या देवी के पास दो बदमाश चले गए। सभी का मोबाइल छीन कर पांचों को वॉशरूम में बंद कर दिया। अलमारी की ताले तोडऩे का प्रयास किया। जब ताले नहीं टूटे तो मां बेटे को बाहर निकाल कर चाबी मांगी। मां ने माना किया तो दोबार बंटी के कनपटी पिस्तौल तान दी। मां विद्या डर से अलमारी की चाबी दे दी। उसके बाद दोनों को दोबारा वॉशरूम में बंद कर दिया। बदमाश लॉकर में रखे दो लाख रुपये नकदी और दो सोने के कड़े, तीन अंगूठी, एक चेन और दो मोबाइल लेकर फरार हो गए। जाते समय धमकी दी कि किसी को बताया तो दोबारा आकर जान से मार देंगे।

पुलिस कंट्रोल रूम का फोन नंबर नहीं लगा

बदमाशों के जाने के बाद बंटी वॉशरूम के दरवाजे से कूदकर बाहर आया और सबको निकाला। इसके बाद कंट्रोल रूम में फोन करना चाहा तो नहीं लगा। पड़ोस के लोगों को ले जाकर पुलिस को सूचना दी। एएसआइ नरेश रात को ही मौके पर पहुंचा। डीएसपी विजेंद्र ने सुबह में घटनास्थल का दौरा कर जांच शुरू दी है।

डिजायर  दिखी सीसीटीवी कैमरे में 

बंटी की टेंट हाउस की दुकान है। उसने बताया कि घर में तीन बच्चे सो रहे थे बदमाशों ने उन्हें नहीं छेड़ा। वहीं बंटी के भाई को पैरालिसिस अटैक आया। वह पीजीआइ रोहतक में भर्ती है। उसी के इलाज के रुपये भी रखे थे। बदमाश वह भी ले गए। वहीं पुलिस को सीसीटीवी कैमरे में एक संदिग्ध डिजायर कार दिखी है। शायद बदमाश इसी में सवार होकर आएंगे।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *