Connect with us

पानीपत

चार करोड़ के कंबल, चादर, बेडशीट लिए फ़र्ज़ी आधार कार्ड से खोली फ़र्मों के नाम

Advertisement अमर भवन चौक के पास बाजार में फर्जी आधार कार्ड देकर दो जगह दुकानों में 11 महीने के एग्रीमेंट पर ट्रेडर्स कंपनी खोल खुद को मद्रासी बताने वाले 6 ठग 32 दुकानदारों से 4 करोड़ रुपए का माल लेकर फरार हाे गए। 4 दिन से दोनों दुकानों पर ताले लटके हैं। ठगों ने 10 […]

Published

on

Advertisement

अमर भवन चौक के पास बाजार में फर्जी आधार कार्ड देकर दो जगह दुकानों में 11 महीने के एग्रीमेंट पर ट्रेडर्स कंपनी खोल खुद को मद्रासी बताने वाले 6 ठग 32 दुकानदारों से 4 करोड़ रुपए का माल लेकर फरार हाे गए। 4 दिन से दोनों दुकानों पर ताले लटके हैं। ठगों ने 10 दिसंबर 2 फर्म खोली थीं। इनमें एक सतीश के नाम पर साई ट्रेडर्स और दूसरी मोहनलाल के नाम से अमर ट्रेडर्स थी। दोनों के ही मुहूर्त पर आसपास व अन्य बाजारों के सभी दुकानदारों को निमंत्रण भेजे थे। साथ में अपने-अपने माल के सैंपल भी साथ लेकर आने को कहा था। कई दुकानदार तो मुहूर्त वाले दिन ही सैंपल लेकर पहुंच गए थे।

चादर, कंबल, बेडशीट, टावल, बाथमैट, चप्पल जूते, सोफा कपड़े, कवर व पर्दे, जिससे जो माल मिला वही ले लिया। ठगी का शिकार बने दुकानदारों ने अभी तक पुलिस में शिकायत नहीं दी है। गुरुवार को वकील से माध्यम से ठगों के खिलाफ दुकानदार पुलिस में शिकायत दर्ज कराएंगे।

Advertisement


पूरी कीमत किसी को नहीं दी : ठगों ने किसी भी दुकानदार को माल की पूरी कीमत नहीं दी। दिनेश हैंडलूम के मालिक नंदलाल बरेजा ने बताया कि हमसे 63,855 रुपए का माल खरीदा। 25 जनवरी का चेक दिया। हालांकि मैंने बेटे को चेताया था कि इन्हें 50 हजार रुपए से ज्यादा का माल न दे। बेटे ने फिर भी दे दिया। पूरे बाजार में 32 ऐसे दुकानदार हैं, जिन्हें इसी तर्ज पर ठगा गया है।

सिर्फ एक-एक महीने का किराया ही दिया था एडवांस में: ठगों ने दोनों ही दुकान मालिकों को खुद के आधार कार्ड देकर ही किराए के 11-11 महीने के एग्रीमेंट बनवाए। दोनों को एक-एक महीने का किराया एडवांस में दिया। बाद के 3 महीनों के किराए के लिए इसी महीने में चुकाने का भरोसा दिया।

Advertisement

दिल्ली में बताया था सेंटर: ठगों ने अपना एक सेंटर दिल्ली में बताया था। वे पानीपत से रोजाना ऑर्डर पर माल खरीदते और किसी भी ट्रांसपोर्ट कंपनी के माध्यम से माल ना पहुंचाकर दिल्ली तक खुद की ही गाड़ियों से लेकर जाते। वहां से मालगाड़ी के माध्यम से तमिलनाडु तक लेकर पहुंचाते थे।

Advertisement

हैंडलूम एसो. के प्रधान ने आरोपियों पर पहले ही जताया था संदेह 

मेरी दो दुकानें किराए पर लेकर साई ट्रेडर्स के नाम से फर्म खोली थी। किराए का 26 हजार रुपए प्रति माह का एग्रीमेंट हुआ था। एक ही महीने का किराया दिया था। 3 महीने का इसी माह में देने का वादा था। मैंने बेटे को कहा था कि ये परदेशी हैं, ज्यादा माल नहीं देना। फिर भी बेटे ने दे दिया। मेरा तो किराया भी गया और माल भी। – नंदलाल बरेजा, दुकान मालिक

मैंने सभी दुकानदारों को चेता दिया था 

बाजार व आसपास के सभी बाजारों के दुकानदारों को इन लोगों को सामान नहीं देने की चेतावनी दी थी। 9 जनवरी को संयुक्त व्यापार मंडल की बैठक थी। यहां दुकानदारों को कहा था कि शहर में 6 मद्रासियों ने फर्म शुरू की है। इन्हें कोई माल न दें। ये ठगी करके फरार हो सकते हैं। – मदन बरेजा, प्रधान, पानीपत हैंडलूम एसोसिएशन अमर भवन चौक।

विधायक रेवड़ी से मिले दुकानदार, बोले- ठगों को पकड़वाने में मदद करें 

ठगी के शिकार व अन्य दुकानदारों ने विधायक रोहिता रेवड़ी व उनके पति सुरेंद्र रेवड़ी से मुलाकात करके ठगी के आरोपियों काे पकड़वाने में सहयोग मांगा है। दुकानदारों ने बताया कि विधायक ने हर तरह से सहयोग का भरोसा दिलाया है। साथ ही यह भी सलाह दी कि किसी भी एडवोकेट के माध्यम से पुलिस को शिकायत देें। ताकि पुलिस की जांच व कार्यवाही सही प्रकार से चले। गुरुवार को दुकानदार पुलिस को शिकायत देंगे। ठगी होने वालों में मुख्य रूप से नंदलाल बवेजा- दिनेश हैंडलूम, राजपाल सिंह -ठकराल हैंडलूम, गोपीनाथ-गगन हैंडलूम, तिजेंद्र-ओम डेकर समेत 32 हैं।

सौजन्य : भास्कर न्यूज़

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *