Connect with us

Cities

झील निर्माण के कारण हाली पार्क में लगा दमकल विभाग का ट्यूबवेल 6 माह से है बंद

Published

on

अापके घर, दुकान या फैक्ट्री में अाग लगती है ताे पानी का इंतजाम अापकाे ही रखना पड़ेगा। दमकल विभाग के पास अाग बुझाने के लिए पर्याप्त पानी नहीं है। उधार का पानी मिला ताे ठीक, वरना फायर ब्रिगेड की गाड़ियां बिना पानी ही अाएंगी। हाली पार्क झील वाले ट्यूबवेल व इससे जुड़ा हाईड्रेंट पॉइंट (इसकी मदद से फायर ब्रिगेड गाड़ी में पानी डाला लाता है) 6 माह पहले बंद कर दिया गया था।

शहर में दमकल विभाग की 3 शाखाएं हैं। मुख्य शाखा हाली पार्क में है अाैर यहां पर गाड़ियाें में पानी भरने वाला ट्यूबवेल नहीं है। यहां पर लगे ट्यूबवेल काे हाली पार्क निर्माण के चलते 6 माह पहले बंद कर दिया गया था। जिसके बाद दूसरा ट्यूबवेल अब तक नहीं लगा है। लाल बत्ती चाैक पर भी पानी का काेई प्रबंध नहीं है। सिर्फ सेक्टर-25 स्थित ट्रांसपोर्ट नगर वाले दमकल कार्यालय में ही ट्यूबवेल है।

Panipat News - haryana news the fireworks department39s tubewell in hali park is closed for 6 months due to lake construction

शहर में भी नहीं हाईड्रेंट पॉइंट : शहर के किसी भी काेने में हाईड्रेंट पॉइंट नहीं है। ये पॉइंट दाे प्रकार के हाेते हैं। इन्हें पब्लिक हेल्थ वाली पाइप लाइन या खुद के निजी ट्यूबवेल से जाेड़ा जाता है। इन पर 24 घंटे पानी उपलब्ध रहता है।

इंडस्ट्री क्षेत्रों में ताे हाईड्रेंट पॉइंट जरूरी शहर के इंडस्ट्री सेक्टर-25 पार्ट-1 व 2, सेक्टर-29 पार्ट-1 व 2, कुटानी राेड व अाेल्ड इंडस्ट्री एरिया में ताे हाईड्रेंट पाॅइंट सबसे ज्यादा जरूरी हैं। इनके अलावा निंबरी, सिवाह, बिंझौल चाैक, असंध राेड चाैकी चाैक, बरसत राेड चाैक के पास भी हाईड्रेंट पॉइंट जरूरी हैं।

5 माह में 100 से ज्यादा आग में खाक हाे गई 7 फैक्ट्रियां, उधार में पानी नहीं मिला ताे खाली आएंगी दमकल की गाड़ियां कमिश्नर, डीसी और विधायक के सामने समस्या रखने पर भी नहीं लग रहा ट्यूबवेल

आग लगने से ये फैक्ट्रियां जली

6 माह में आग की 100 से ज्यादा घटनाओं में अधलखा शोरूम के अलावा 7 बड़ी फैक्ट्रियां खाक हाे चुकी हैं। सरकार व प्रशासन उचित प्रबंधन नहीं करवा रहे, जबकि लाेगाें की गालियां कर्मचारियों काे खानी पड़ रही हैं।

इन फैक्ट्रियों में लगी अाग

Panipat News - haryana news the fireworks department39s tubewell in hali park is closed for 6 months due to lake construction

टाेल टैक्स के हाईड्रेंट पॉइंट से मजबूरी वश लेना पड़ता है पानी

जब भी आग की बड़ी घटना हाेती है तो फायर ब्रिगेड गाड़ियाें काे पानी के लिए टाेल टैक्स पर जाना पड़ता है। इसके अलावा आग जहां लगती हैं वहां अासपास की फैक्ट्रियों व अन्य माध्यमाें से पानी मांगना पड़ता है।

ये है स्थिति: 3 शाखाअाें में से सिर्फ सेक्टर-25 में है पानी

दमकल विभाग की शहर में तीन शाखाएं हैं। हाली पार्क, लाल बत्ती चाैक व सेक्टर-25 में ट्रांसपोर्ट नगर। इन तीनाें में से मात्र सेक्टर-25 में ही पानी के प्रबंध है। दमकल कर्मचारियों का कहना है कि जब भी अाग लगती है ताे हमारी अपनी गाड़ियाें के लिए भी यह पर्याप्त नहीं है। हमें बाहर वाली गाड़ियाेंं समेत अपनी गाड़ियाें काे टाेल टैक्स पर ही भेजना पड़ता है।

जाे अाग 5 गाड़ियां बुझा सकती हैं, उसमें 20 गाड़ियां लगती है

हरियाणा चैंबर्स अाॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्री के चेयरमैन विनाेद खंडेलवाल व द पानीपत डायर्स एसोसिएशन प्रधान भीम सिंह राणा का कहना है कि जब भी अाग लगती है ताे गाड़ियाें के लिए पानी का प्रबंध या ताे उद्यमियाें काे कराना पड़ता है या टाेल टैक्स के पास लेकर अाते हैं। जितना समय वहां से गाड़ियाें काे अाने में लगता है, उतने में अाग भड़कती चली जाती है। जाे काम 5 गाड़ियाें में हाेना था, उसमें 20 से ज्यादा गाड़ियां लग जाती हैं।

3 बार उठा चुके हैं मांग : दहिया

विभाग के पास हैं 12 गाड़ी : इस समय विभाग के पास पानी व फाेम वाली 4000 लीटर वाली 4 टेंडर हैं। इनके अलावा 7500 लीटर वाली 4 टेंडर, 2000 लीटर वाली 2 टेंडर व बाइक वाली एक टेंडर यानी फायर ब्रिगेड गाड़ी हैं। इनके अलावा एक रेस्क्यू टेंडर है। नई गाड़ियां मिलते ही 6 कंडम घाेषित कर दी गई हैं।