Connect with us

Cities

ठंड से बचने के लिए अलाव का सहारा लिए बैठे थे 8 लोग, कार चालक ने रौंदा;

Published

on

जींद में भिवानी रोड पर रविवार सुबह एक दुर्घटना में 3 लोगों की मौत हो गई। इनके तीन साथी गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि दो बाल-बाल बच गए। तेज गति से आ रहे कार चालक इन 8 लोगों को उस समय रौंदा, जब ये ठंड से बचने के लिए अलाव ताप रहे थे। चालक हादसे को अंजाम देकर कार को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गया।

घटना जींद के भिवानी रोड पर जींद शहर से करीब 8 किलोमीटर दूर गांव रामगढ़ के पास की है। मिली जानकारी के अनुसार शहर की अजमेर बस्ती का राजू और उसके बेटा मोनू काफी समय से शादी समारोह में हलवाई के साथ वेटर का काम करके घर का गुजारा चला रहे थे। रविवार सुबह राजू अपने 23 वर्षीय बेटे मोनू और कुछ अन्य लोगों के साथ हिसार जिले के गांव भकलाना में शादी समारोह में काम पूरा करने के लिए निकला था। इनमें अजमेर बस्ती निवासी 17 वर्षीय मोहित, भूपेंद्र नगर निवासी सोनू, अजमेर बस्ती निवासी कामरुद्दीन, दुर्गा बस्ती निवासी सतीश शामिल थे।

जींद के सिविल अस्पताल में पहुंचे मृतकों और घायल लोगों के परिजन व अन्य परिचित।

थ्रीव्हीलर ने आठों लोगों को गांव रामगढ़ के बस अड्डे पर उतार दिया और वहां से भकलाना जाने वाले वाहन का इंतजार करने लगे। ठंड ज्यादा थी, जिसके चलते वहां चाय की एक दुकान के बाहर जल रहे अलाव के पास आठों खड़े हो गए।

इसी बीच जींद की तरफ से आ रही पंजाब नंबर की तेज रफ्तार स्विफ्ट कार बेकाबू हो गई। नजर भी पड़ गई थी, लेकिन इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता, कार ने राजू और मोनू को रौंदते हुए मोहित, सोनू, कामरूद्दीन, सतीश को सीधे चपेट में ले लिया।

घटना के दौरान राजू, उसके बेटे मोनू और पड़ोसी मोहित ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। साथियों ने एंबुलेंस को बुलाकर घायलों को नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया। वहां से घायलों को पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया। पुलिस फिलहाल परिजनों के बयान दर्ज कर रही है। उसके आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। मृतक हलवाई राजू के परिवार में अब उसकी पत्नी व एक बेटा सोनू रह गए हैं।

स्कूल से छुट्‌टी थी, इसलिए साथ हो लिया मोहित

गांव निरजन निवासी ऋषिराज पिछले कई वर्ष से भिवानी रोड स्थित अजमेर बस्ती में परिवार सहित रहा था। उसका 17 वर्षीय बेटा मोहित दो बहनों का इकलौता भाई था और शहर के एक निजी स्कूल में दसवीं कक्षा में पढ़ता था।

रविवार को स्कूल की छुट्टी होने के कारण वह भी शादी समारोह में वेटर का काम करने के लिए दूसरे लोगों के साथ हो लिया।

घटना के बाद मोहित की बीए में पढ़ रही दोनो बहनों और परिवार के अन्य लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *