Connect with us

विशेष

डिफॉल्टर्स की लिस्ट में शामिल होगा PNB, अगर 31 मार्च तक नहीं किया यह काम, तो जाएंगे बर्बाद

Advertisement नीरव मोदी का पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद पंजाब नेशनल बैंक पर खतरे की तलवार लटक रही है। पंजाब नेशनल बैंक अगर 31 मार्च तक एक हजार करोड़ रुपए की राशि का भुगतान नहीं करता है तो यूनियन बैंक ऑफ इंडिया उसे डिफॉल्टर घोषित कर सकता है। दरअसल पंजाब नेशनल बैंक की ओर […]

Published

on

Advertisement
नीरव मोदी का पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद पंजाब नेशनल बैंक पर खतरे की तलवार लटक रही है।

पंजाब नेशनल बैंक अगर 31 मार्च तक एक हजार करोड़ रुपए की राशि का भुगतान नहीं करता है तो यूनियन बैंक ऑफ इंडिया उसे डिफॉल्टर घोषित कर सकता है। दरअसल पंजाब नेशनल बैंक की ओर से एक हजार करोड़ रुपए का एलओयू यूनियन बैंक इंडिया में भुगतान के लिए जारी किया गया था। इसी राशि को 31 मार्च तक यूनियन बैंक ने पीएनबी से देने को कहा है।

पंजाब नेशनल बैंक

Advertisement

यह देश के इतिहास में पहली बार होगा जब किसी सरकारी बैंक को डिफॉल्टर घोषित किया जाएगा। ऐसे में पंजाब नेशनल बैंक को इस स्थिति से बचाने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और केंद्र सरकार को आगे आना पड़ सकता है।

पंजाब नेशनल बैंक फ्रॉड

Advertisement

यूनियन बैंक पीएनबी की ओर से जारी किए गए 1000 करोड़ रुपए के एलओयू को लेकर किसी भी तरह का समझौता करने के मूड में नहीं है, बैक ना सिर्फ पीएनबी की डिफॉल्टर घोषित करने की तैयारी कर रही है, बल्कि इस पैसे को एनपीए में भी डालने की योजना बना रहा है।

पंजाब नेशनल बैंक

Advertisement

रेटिंग एजेंसी से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि यह कोई बैंक डिफॉल्टर की सूचि में है तो यह काफी मुश्किल स्थिति है। उन्होंने कहा कि इस तरह की राशि एनपीए से अलग होती है। यहां उधार देने वाले की क्षमता या इरादे पर सवाल नहीं खड़ा होता है। लेकिन हमे आरबीआई और सरकार की ओर से इस संबंध में और स्पष्ट बयान की प्रतीक्षा करनी चाहिए। वहीं इस घटना के बाद तमाम बैंक एलओयू की जगह बैंक गारंटी देने के नियमों में बदलाव कर रहे हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *