Connect with us

पानीपत

तहसील कैम्प के लोग हो रहें हैं परेशान, ठेकेदार की लापरवाही और मनमानी सब पर भारी

Published

on

Spread the love

वार्ड-3 में तहसील कैंप की जीटी राेड से फतेहपुरी चाैक तक मुख्य सड़क काे एक महीना पहले उखाड़कर ठेकेदार इसे दाेबारा बनाना भूल गया है। यह तबसे वन-वे है। जीटी राेड से फतेहपुरी चाैक जाने के लिए राॅन्ग साइड जाना पड़ता है।

वन-वे हाेने से दाेपहर काे सबसे अधिक मुसीबत स्कूली बच्चाें काे हाेती है, जिसकी बसें जाम में फंसती है। इसका निर्माण 50 लाख रुपए में हाेना है। 6 महीने पहले वर्क ऑर्डर हाेने के साथ ही विधायक राेहिता रेवड़ी ने भूमि पूजन भी किया था। स्थानीय लाेगाें का कहना है कि यही सड़क तहसील कैंप की रीड की हड्डी मानी जाती है।

इसे ही नगर निगम ने ताेड़कर रख दिया है। सड़क पर ईंट, पत्थर व मिट्टी जमा हाेने से दुकानाें का कामकाज ठप हाे गया है अाैर बच्चाें व बुजुर्गों का घराें में अाना जाना मुश्किल हाे गया है। इसके विराेध में मंगलवार काे लाेगाें ने राेष प्रदर्शन किया। जनरल स्टाेर संचालक माेहन लाल का कहना है कि सड़क उखड़ने से सभी दुकानाें का कामकाज ठप है।

विधायक व कमिश्नर नहीं चाहती कि इस सड़क का निर्माण जल्दी पूरा हाे, क्याेंकि ये नहीं चाहते की जनहित के काम हाे। इस सड़क का वर्क ऑर्डर 6 महीने पहले हाे हाे गया था। इसके बाद भी निर्माण अाज तक नहीं हुअा। – हरीश शर्मा, पूर्व पार्षद 

सड़क काे उखाड़कर एेसे छाेड़ने का का मामला मुझे पता नहीं था। एेेसे ठेकेदार कैसे सड़क काे उखाड़कर छाेड़ सकता है। यह ताे लापरवाही है। इसके बारे में संबंधित अधिकारियाें व ठेकेदार से जवाब मांगा जाएगा। – वीना हुड्डा, कमिश्नर, नगर निगम पानीपत 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *