Connect with us

सोनीपत

तालाब के किनारे दिखी ऐसी चीज, जिसकी असलियत जानकर सहम गए सब

Advertisement एक शख्स को तालाब के किनारे ऐसी चीज देखने को मिली, जिसे देखकर हर किसी के होश उड़ गए। उसे असलियत पता चली तो वह सहम गया। Advertisement मामला हरियाणा के रोहतक का है। जिला मुख्यालय से 52 किमी दूर स्थित महम के बेडवा गांव में शुक्रवार की शाम को तीन साल में तीसरी […]

Published

on

Advertisement

एक शख्स को तालाब के किनारे ऐसी चीज देखने को मिली, जिसे देखकर हर किसी के होश उड़ गए। उसे असलियत पता चली तो वह सहम गया।

3 hand grenades found in pond

Advertisement

मामला हरियाणा के रोहतक का है। जिला मुख्यालय से 52 किमी दूर स्थित महम के बेडवा गांव में शुक्रवार की शाम को तीन साल में तीसरी बार हैंड ग्रेनेड मिलने से हड़कंप है। बकरी चरा रहे युवक को कबाड़ के लिए लोहा ले जाते देख गांव के रिटायर्ड सूबेदार के संदेह पर घटना का खुलासा हुआ। समय पर अगर ग्रेनेड की पहचान न होती तो बड़ा हादसा हो सकता था। जानकारी तुरंत महम थाना पुलिस को दी।

Advertisement

पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंच कर हैंड ग्रेनेड कब्जे में लिया और गांव के बाहर ले जाकर उसे नष्ट कराया। पुलिस के अनुसार, फरमाना गांव का रहने वाला युवक बेडवा गांव के मनियारी वाले तालाब के पास बकरी चरा रहा था। इस दौरान उसे वहां लोहे का काफी सामान पड़ा मिला। कबाड़ी को बेचने के इरादे से वह उसे उठाकर ले जा रहा था कि सूबेदार ओम प्रकाश ने उसके हाथ में ग्रेनेड जैसी चीज देखी।

सूबेदार ने पास जाकर देखा तो वह ग्रेनेड था। यह देखकर उन्होंने तुरंत सरपंच जगविंदर को जानकारी दी। सरपंच ने पुलिस को बताया तो टीम पूरी तैयारी के साथ पहुंची। इसकी जानकारी जिला पुलिस मुख्यालय को भी दी गई। वहां से दिनेश कुमार के नेतृत्व में बम निरोधी दस्ता भी मौके पर पहुंचा। फिर गांव के बाहर एक गड्ढा खोद कर उसे नष्ट किया गया। इसके बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली।

Advertisement

कहां से आ रहे हथगोले
रमेश कुमार थाना प्रभारी महम, रोहतक का कहना है कि वह अभी नए हैं, पुराने मामलों की जानकारी उन्हें नहीं है। ये हैंड ग्रेनेड कहां से आए इसकी गहनता से जांच की जाएगी। पर अगर इतने ग्रेनेड मिल चुके हैं तो सवाल ये है कि वे आ कहां से रहे हैं। यह पुलिस व ग्रामीणों के लिए पहेली बनी हुई है। इतना समय बीत जाने के बाद भी मिल रहे हथगोलों के बारे में पुलिस कोई सुराग नही लगा पाई है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *