Connect with us

पानीपत

दिल्‍ली से सटे पानीपत जिले में एक के बाद एक वारदात कर चुके हैं।

Published

on

दिल्‍ली, पंजाब और हरियाणा सहित कई प्रदेशों में 18 ऐसे बदमाश छिपे हैं, जो कहीं भी, कभी भी गोलियां बरसा देते हैं। चोरी और लूट करने में माहिर हैं। दिल्‍ली से सटे पानीपत जिले में एक के बाद एक वारदात कर चुके हैं। पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहे। हत्या, लूट और डकैती की वारदातों को अंजाम दे चुके कुख्यात अपराधी से ये भी अंदेशा है कि कहीं फिर से वारदात करके जिले को दहला न दें। कोई चारा न चलाते देख पुलिस ने इन्हें मोस्टवांडेट की सूची में डाल दिया है। नौ बदमाशों पर पुलिस ने इनाम भी घोषित किया है।

harshita murder

गायिका हर्षिता की पानीपत में हत्‍या कर दी गई थी।

गोगी ने हर्षिता की हत्‍या की थी  
सबसे ज्यादा दो लाख रुपये का इनाम गैंगस्टर दिल्ली के अलीपुर के जितेंद्र मान उर्फ गोगी पर है। गोगी ने 17 अक्टूबर, 2017 को चमराड़ा गांव के पास हरियाणवी गायिका हर्षिता दहिया की गोली मारकर हत्या कर दी थी। गोगी पर दिल्ली पुलिस ने भी चार लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा है। इसी तरह से सात जनवरी 2019 को काबड़ी रोड अर्जुन नगर के नीतिन की हत्या के आरोपित सोनीपत के कामी गांव के नीरज उर्फ चौटाला और उसके साथ सोनीपत के भूरी गांव के राहुल को मोस्टवांडेट की सूची में डाल दिया है। इन पर 50-40 हजार रुपये के इनाम की घोषणा के लिए एसपी ने आइजी करनाल रेंज को पत्र लिखा है। पुलिस की चार टीमें बदमाशों की तलाश में पंजाब, दिल्ली सहित कई प्रदेशों में मारी-मारी फिर रही है।

अरशद पर हैं लूट और चोरी के 16 मामले दर्ज
मोस्टवांडेट इनामी बदमाश पानीपत के गढ़ी बेसिक गांव के बदमाश अरशद पर सबसे ज्यादा 16 लूट और चोरी के मामले दर्ज हैं। इसमें नौ मामले थाना सदर में, चार थाना मॉडल टाउन और तीन मामले थाना शहर में दर्ज हैं। तीन थानों की पुलिस अरशद की तलाश में छह साल से खाक छान रही है। अरशद को सात अप्रैल 2012 में पुलिस ने 5000 रुपये का इनामी बदमाश घोषित किया था।

कहीं आपके आसपास तो नहीं ये बदमाश, सरेआम चलाते हैं गोलियां

जोगेंद्र ग्योंग सहित छह की पुलिस के पास तस्वीर भी नहीं है
गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग के छोटे भाई जोगेंद्र ग्योंग पर पुलिस ने 50000 रुपये का इनाम रखा हुआ है। 30 दिसंबर 2017 को करनाल के राहड़ा गांव के जयदेव की सेक्टर-18 में जोगेंद्र ग्योंग ने अपने साथियों के साथ मिलकर गोलियां बरसा कर हत्या कर दी थी। थाना शहर पुलिस ने मामला दर्ज कर रखा है। पुलिस के पास जोगेंद्र की तस्वीर नहीं है। इसी तरह से पुलिस के पास आठ अन्य मोस्टवांडेट की भी तस्वीर नहीं है। इसी वजह से पुलिस को उन्हें तलाश करने में दिक्कत हो रही है।

चार टीमें वांछित अपराधियों की तलाश कर रही हैं
एसपी सुमित कुमार ने बताया कि वांछित अपराधियों की गिरफ्तार के लिए सीआइए की तीन टीमें और एनडीपीएस स्टाफ लगा दिया है। इन बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश पुलिस के भी उनकी टीमें संपर्क में हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *