Connect with us

राज्य

दो बार क्लीयर किया था यूजीसी नेट एग्जाम, फिर भी लड़की ने दे दी जा’न, वजह जान मां-बाप हैरान

Published

on

लड़की ने दो बार यूजीसी नेट एग्जाम क्लीयर कर लिया था, उसके बावजूद उसने फं’दा लगाकर जान दे दी। वजह जानकर मां-बाप भी चौंक गए। मामला हरियाणा के रोहतक का है। एमबीबीएस छात्र के बाद एमडीयू के यमुना हॉस्टल में एक छात्रा ने आ’त्महत्या कर ली। मृतक राखी तीसरी बार में जेआरएफ (जूनियर रिसर्च फेलोशिप) क्लीयर नहीं कर पाने से आहत थी, जबकि वह दो बार नेट क्वालीफाई कर चुकी थी। सुबह मैस में नहीं पहुंचने पर सहेली ने कमरे में झांककर देखा तो शव फंदे पर लटका मिला। कमरे से कोई सु’साइड नोट नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। घटना का पता चलने पर छात्रा की मां, भाई और अन्य परिजन मौके पर पहुंच गए।

पुलिस के अनुसार, छात्रा दो बार नेट क्वालीफाई कर चुकी है। तीसरी बार जेआरएफ (जूनियर रिसर्च फेलोशिप) की परीक्षा दी थी। परीक्षा का शनिवार को परिणाम आया है। लेकिन परीक्षा में जेआरएफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाने की वजह से उसके आ’त्महत्या करने का अंदेशा जताया जा रहा है।

लड़कियां बुलाने आई तो हुआ खुलासा

जानकारी के मुताबिक, झज्जर के तलाव गांव की रहने वाली राखी एमडीयू से एमए भूगोल की पढ़ाई के बाद डिप्लोमा इन रिमोट साइंस कर रही थी। यूनिवर्सिटी के यमुना हॉस्टल के कमरा नंबर-117 में रहने वाली छात्रा सुबह नाश्ते के लिए मैस नहीं पहुंची तो हॉस्टल में साथ रहने वाली लड़कियां उसे बुलाने पहुंचीं।

छात्राओं ने राखी को आवाज लगाई, मगर वह बाहर नहीं आई। इस बीच एक छात्रा ने उसके कमरे में झांका तो वह पंखे पर ल’टकी दिखी। कमरे के दरवाजे की चिटकनी अंदर से लगी थी। लड़कियों ने इसकी सूचना चीफ वार्ड प्रो. राजेश धनखड़, यूनिवर्सिटी के अधिकारियों और पीजीआईएमएस थाना एसएचओ गरिमा को दी।

पुलिस भी मौके पर पहुंची। एफएसएल इंचार्ज डॉ. सरोज दहिया ने भी मौके का मुआयना करके घटना से जुड़े तथ्य जुटाने का प्रयास किया। प्रथम वर्ष की छात्रा रीना मृ’तका राखी की रूममेट है। उसने बताया कि वह एचटेट की परीक्षा देने गई थी। सुबह राखी कमरे पर अकेली थी। संभवत: इसी बीच उसने आ’त्महत्या की।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *