Connect with us

गुड़गांव

निर्माणाधीन चार मंजिला इमारत गिरी, कम से कम 20 लोगों के दबे होने की आशंका

Advertisement यहां के उलवास गांव में गुरुवार को निर्माणाधीन चार मंजिला इमारत गिर गई। मलबे में कम से कम 20 लोगों के दबे होने की आशंका है। Advertisement इनमें ज्यादातर सिक्युरिटी गार्ड बताए जा रहे हैं। जो आसपास के इलाकों में नौकरी करते थे और यहां किराए से रह रहे थे। Advertisement बताया जा रहा […]

Published

on

Advertisement

यहां के उलवास गांव में गुरुवार को निर्माणाधीन चार मंजिला इमारत गिर गई। मलबे में कम से कम 20 लोगों के दबे होने की आशंका है।

Advertisement

इनमें ज्यादातर सिक्युरिटी गार्ड बताए जा रहे हैं। जो आसपास के इलाकों में नौकरी करते थे और यहां किराए से रह रहे थे।

Advertisement

बताया जा रहा है कि यह इमारत चौथी मंजिल को छोड़कर लगभग बनकर तैयार हो चुकी थी। एनडीआरएफ और बीएसएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं।

Advertisement

हादसा गुरुवार सुबह करीब 5 बजे हुआ। इमारत गिरते ही चीख-पुकार मच गई। मलबा दूर-दूर तक बिखरा इससे आसपास की इमारतों को भी नुकसान पहुंचा है। बुधवार को इसी इलाके में बारिश भी हुई थी।

बिल्डिंग की अनुमति पर सवाल

मीडिया रिपोर्ट्स में आसपास के रहवासियों के हवाले से बताया गया है कि यह इमारत बिना किसी मंजूरी के बनाई जा रही थी।

मौके पर आला अफसर भी पहुंचे

उलवास गांव में गुड़गांव के डिप्टी कमिश्नर विनय प्रताप सिंह और एसडीएम संजीव सिंगला भी पहुंचे। सिंह ने कहा कि एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें मौके पर मौजूद हैं। बचाव और राहत कार्य जारी है। बिल्डिंग के मालिक का पता चल गया है। जांच के बाद ही इमारत के गिरने की वजह का पता चल पाएगा।

एसडीएम सिंगला के मुताबिक, इमारत कमजोर थी और बिना किसी विशेषज्ञ की सलाह के बनाई जा रही थी। हमें कुल कितने लोग फंसे है यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन हमें  6-7 लोगों के फंसे होने की जानकारी दी गई है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *