Connect with us

पानीपत

पानीपत की डीसी सुमेधा कटारिया के गनमैन को किस आरोप में कोर्ट ने सुनाई तीन साल की सज़ा ?

पानीपत की जिला उपायुक्त सुमेधा कटारिया के गनमैन को चोरी के आरोप में तीन साल की सजा और 2 हजार रुपए जुर्माना लगाया है। जुर्माना न भरने की स्थिति में 3 महीने अतिरिक्त जेल काटनी होगी। यह फैसला करनाल ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट-प्रथम श्रेणी वंदना की कोर्ट ने सुनाया। इस मामले में शिकायतकर्ता दोषी गनमैन की पत्नी […]

Published

on

पानीपत की जिला उपायुक्त सुमेधा कटारिया के गनमैन को चोरी के आरोप में तीन साल की सजा और 2 हजार रुपए जुर्माना लगाया है। जुर्माना न भरने की स्थिति में 3 महीने अतिरिक्त जेल काटनी होगी। यह फैसला करनाल ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट-प्रथम श्रेणी वंदना की कोर्ट ने सुनाया। इस मामले में शिकायतकर्ता दोषी गनमैन की पत्नी है। कोर्ट ने दोषी गनमैन समेत उसके परिवार के 7 सदस्यों को सजा सुनाई है।

सोनीपत के तिहाड़ मलिक की रहने वाली तिनोपल ने 05 अगस्त 2010 को शिकायत दी थी कि उसके पति वीरेंद्र सिंह ने, अपने पिता ओमप्रकाश, मां संतोष, एक महिला रीना, भाई सुरेंद्र, सतीश और एक अन्य के साथ मिलकर उसके घर में चोरी की है। तिनोपल का आरोप था कि उसके घर से कपड़े, सामान और कैश चोरी हुआ है।

पुलिस ने तिनोपल की शिकायत पर जांच की और उसे झूठा साबित कर रद्द कर दिया। इसके साथ-साथ उसी पर झूठी शिकायत देने का मामला दर्ज करवा दिया। इसके बाद तिनोपल ने कोर्ट का रुख किया और करनाल कोर्ट में गुहार लगाई। कोर्ट ने सुनवाई करते हुए जांच करवाई, जिसमें तिनोपल के आरोप सही पाए गए।

सुनवाई के बाद करनाल ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी वंदना की कोर्ट ने 19 जनवरी 2019 को तिनोपल के पति वीरेंद्र, उसके पिता ओमप्रकाश, वीरेंद्र की मां संतोष, महिला रीना, भाई सुरेंद्र, सतीश और शुभम को धारा 380, 454 और 511 के तहत दोषी करार दिया।

21 जनवरी 2019 को कोर्ट ने सभी दोषियों को धारा 454 और 511 में तीन साल की सजा और 1 हजार रुपए जुर्माना व धारा 380 में भी तीन साल की सजा और 1 हजार रुपए जुर्माना लगाया। जुर्माना न भरने की एवज में 3 महीने अतिरिक्त सजा काटनी होगी।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *