Connect with us

पानीपत

पानीपत के क़िला थाने क्षेत्र में दहला देने वाला मामला…. क़ैद से भाग निकली लड़की तो.

किला थाना क्षेत्र में सामूहिक दु’ष्कर्म का मामला सामने आया है। दो दरिंदों ने कुटानी रोड की किशोरी का अ’पहरण कर बं’धक बना तीन दिन तक सामूहिक दु’ष्कर्म किया। पीडि़ता मुंह से हाथ और पैर में बंधी की रस्सी खोलकर आरोपितों के चंगुल से निकल भागी। घर पहुंचने के बाद परिजन किला थाना पहुंचे। इसी […]

Published

on

किला थाना क्षेत्र में सामूहिक दु’ष्कर्म का मामला सामने आया है। दो दरिंदों ने कुटानी रोड की किशोरी का अ’पहरण कर बं’धक बना तीन दिन तक सामूहिक दु’ष्कर्म किया। पीडि़ता मुंह से हाथ और पैर में बंधी की रस्सी खोलकर आरोपितों के चंगुल से निकल भागी।

घर पहुंचने के बाद परिजन किला थाना पहुंचे। इसी दौरान आ’रोपित पक्ष भी पहुंच गए। आ’रोपित पक्ष ने पुलिस के सामने पीडि़ता के परिजनों से गा’ली-ग’लौज की। कार्रवाई करने के बजाय पुलिस भी आरोपित पक्ष के साथ खड़ी हो गई। दु’ष्कर्म का केस दर्ज करने के बजाय अ’पहरण कर बंधक बनाने की धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया।

वहीं, मामले को लेकर यह बताया जा रहा है कि ई-रिक्शा चलाने वाले एक युवक ने कुछ समय पहले किशोरी को प्रपोज भी किया था तथा मना करने पर ही उक्त युवक ने किशोरी का अ’पहरण किया। फिलहाल पुलिस मामले की कई ङ्क्षबदुओं पर जांच कर रही है।मूल रूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली महिला ने पुलिस को बताया कि हाल ही में वह एक किराए के मकान पर अपने परिवार के साथ रहती है। इसी मकान के एक हिस्से में किराए पर रहने वाला एक युवक ने अपने एक अन्य साथी के साथ मिलकर गत 31 जनवरी को उसकी 13 साल की बेटी को अ’पहरण करके कहीं ले गया था।

नशीला पदार्थ सुंघा अ’पहरण किया

किशोरी ने बताया कि वह 31 जनवरी को घर पर अकेली थी। वह बाथरूम से नहा कर निकली तो परिचित लक्की घर में घुस आया। न’शीला पदार्थ सुंघा अ’पहरण कर लिया। एक अन्य साथी की मदद से उसे पहलवान चौक के निकट एक कमरे में ले गया। वहां आ’रोपितों ने उसे कुर्सी पर बांध दिया। उसके साथ सामूहिक दु’ष्कर्म किया। उसने विरोध किया तो मा’रपीट की। शोर मचाने पर मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। 2 फरवरी को मुंह से हाथ-पांव पर बंधा कपड़ा खोला। घर पहुंचकर पिता को मामले से अवगत कराया।

किशोरी ने बताया कि होश में आते ही उसे न’शीला पदार्थ सुंघा दिया जाता था। उसके साथ मारपीट करते थे। आरोपितों के चंगुल से छूटने के बाद भी किशोरी अ’र्धबेहोशी में थी। काफी देर तक पहलवान चौक के आस-पास घूमने के बाद उसे घर का पता याद आया तो वह लोगों की मदद से घर पहुंची।

बोल भी नहीं पा रही थी नाबालिग

पिता ने बताया कि उसकी बेटी 2 फरवरी को घर पहुंची तो वह सही से बोल भी नहीं पा रही थी। उस पर तब भी न’शीली दवा का असर था। तीन दिनों तक उपचार कराने के बाद उसकी हालत में कुछ सुधार आया। उसने इसके बाद आपबीती बताई।

मां की शिकायत पर केस दर्ज कर किशोरी को सीडब्लयूसी टीम के सुपुर्द कर दिया है। मां ने शिकायत में किशोरी से दुराचार की कोई बात नहीं बताई थी। काउंसिलिंग के आधार पर किशोरी का मेडिकल करा आगामी कार्रवाई की जाएगी। विरेंद्र सिंह, किला थाना प्रभारी।

Source DJ

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *