Connect with us

कोरोना वायरस

पानीपत के गांवों से लें सबक, Coronavirus से टक्‍कर लेने उतरेे युवा सरपंच, ग्रामीण भी देे रहे साथ

Published

on

कोरोना से ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए महावटी के नव युवक सरपंच ने बुजुर्गो और साथियों से मंत्रणा के बाद पंचायत की सीमाओं को सील करने का निर्णय लिया है। गांव में आने-जाने के आधा दर्जन रास्ते मंगलवार सुबह 9 बजे से 31 मार्च तक बंद रहेंगे। वहां युवकों की तैनाती होगी। प्यार और भाईचारे से आने-जाने वालों को रोका जाएगा। ग्रामीणों को कोरोना वायरस के बारे में जागरूक भी किया जाएगा।

सरपंच कपिल देव शर्मा ने बताया कि कोरोना के संक्रमण से ग्रामीणों को बचाने के लिए पंचायत ने मीटिंग कर यह फैसला लिया है। सभी के सहयोग और सलाह से यह किया जाएगा। पुलिस को भी फोन पर मामले की सूचना दी गई है। दस्तावेजी कार्रवाई भी पूरी की जाएगी।

ये रास्ते होंगे सील

महावटी से समालखा, बसाड़ा, हल्दाना, देहरा, दतौली और चिरस्मी जाने वाले रास्ते सील होंगे। वहां बैरियर लगाया जाएगा। दिन और रात दोनों शिफ्टों में 15 युवाओं की बारी-बारी से ड्यूटी लगाई जाएगी। सेवा देने वाले युवाओं के पास सैनिटाइजर और मास्क होंगे। मंगलवार सुबह 9 बजे युवाओं द्वारा मोर्चा संभाला जाएगा। सभी को समझा कर गांव में आने जाने से रोका जाएगा। लॉकडाउन पर पूरी तरह अमल किया जाएगा।

kapil

रिश्तेदारों को दी जा रही सूचना: सरपंच कपिल

सरपंच कपिल देव ने बताया कि सभी से इस पर सहमति व्यक्त की है। यह समाज और देश के हक में है। पंचायत प्रस्ताव भी पास करेगी। उच्चाधिकारियों से अनुमति भी लेगी। सरकार के लॉकडाउन आदेश की कापी मंगवा ली गई है। इमरजेंसी सेवाओं के लिए सरपंच की अनुमति लेनी होगी। सीमा से बाहर जाते और आते समय लोगों को सैनिटाइज किया जाएगा। बेहतर सेवाओं के लिए गांव का एंटी कोरोना ग्रुप बनाया गया है, जिसमें युवाओं और बुजुर्गों को जोड़ा गया है। सभी आवश्यक संवाद ग्रुप के माध्यम से होंगे। गांव के फेरी वालों को सब्जी आपूर्ति की जिम्मेदारी दी गई है। जरूरत पड़ी तो टीम भी बाहर से सामान लाकर लोगों को देगी। एसएचओ हर¨वदर सिंह ने बताया कि सरपंच ने मामले की सूचना दी। लॉक डाउन की पालना कराई जाएगी।

सैनिटाइजर छिड़काव के साथ बाहरी लोगों पर रोक

कोरोना वायरस को लेकर सरकार ने प्रदेश भर में लॉक डाउन घोषित होने के बाद ग्राम पंचायतों को भी अलर्ट हो गई है। सैनिटाइजर का छिड़काव कराने के साथ बाहरी लोगों के आने पर भी रोक तक लगा दी गई है, जिससे कि वायरस को फैलने से रोका जा सके।

rajkumar

चौकीदार से मुनादी करा मांगा जा रहा सहयोग

बुड़शाम की महिला सरपंच पूनम के पति राजकुमार ने बताया कि गांव में ग्रामीणों को जागरूक कर पूरी सजगता बरती जा रही है। चौकीदार से मुनादी कराने के साथ सोमवार को ग्रामीणों के सहयोग से तीन ट्रैक्टर टंकी के जरिये गांव की हर गली और फिरनी पर बने घरों पर सैनिटाइजर का छिड़काव कराया गया है। ग्रामीणों को घरों से बाहर न निकलने और चार से ज्यादा एकत्र न होने का आह्वान किया है। इसमें कृष्ण बैरागी, दिनेश गर्ग, रविंद्र, सतबीर आदि का विशेष योगदान रहा।

sunita
मनाना गांव ने भी की पहल

कोरोना वायरस के चलते मनाना की ग्राम पंचायत ने पहल की है। सरपंच सुनीता ने कहा कि गांव में मेडिकल स्टोर और किराना की दुकान ही खुलेंगी। यदि कोई अन्य दुकान खुलती है तो उसे सील किया जाएगा। गांव में फेरी पर रोक लगा दी गई है। फिर भी कोई आता है तो उसका सामान जब्त किया जाएगा। गांव में चौपाल या अन्य सार्वजनिक स्थान पर पांच या उससे ज्यादा लोग एकत्र नहीं होंगे। लोग किसी भी प्रकार के सहयोग के लिए नंबरदार, सरपंच और ग्राम सचिव से संपर्क कर सकते हैं। सरपंच ने कहा कि महामारी का सामना सभी के योगदान से किया जा सकता है।

बताएंगे बचाव के तरीके

देहरा की ग्राम पंचायत भी वायरस से सतर्कता को लेकर कदम उठाएगी। सरपंच मामन छाछिया ने बताया कि गांव में सार्वजनिक स्थानों पर फ्लैक्स लगवा कर लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के तरीके बताने के साथ-साथ लक्षण व सरकार की एडवाइजरी से अवगत कराया जाएगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *