Connect with us

पानीपत

पानीपत में टोपी गैंग के ब दमाश चोरी व लू ट में सक्रिय, पुलिस पीछे मगर बुरी तरफ़ उलझी

Published

on

टोपी गैंग के दो ब दमाशों ने 25 मिनट में शहर की अलग-अलग जगहों पर दो वा रदात को अंजाम दिया। बाइक सवार दो ब दमाशों ने मॉडल टाउन में शिवाजी स्टेडियम के गेट नंबर दो के सामने आयकर विभाग रोहतक के कर्मचारी आरके पुरम कॉलोनी के बिजेंद्र सिंह और टाइल्स व्यवसायी की बेटी वैशाली की दो तोले की चेन लू ट ली। ब दमाशों की तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। मौके पर सीआइए की टीमें पहुंची।

पुलिस का मानना है कि अंतरराज्यीय चेन स्नेचिंग टोपी गिरोह के सरगना शामली के बिरालीयन गांव के मंगल के गुर्गे अजय ने साथी के साथ वा रदातों को अंजाम दिया है। गिरोह 18 दिन में सुबह छह से आठ बजे के बीच में पांच वा रदात कर चुका है। पुलिस ने वैशाली को मॉडल टाउन में वा रदात करने वाले ब दमाशों का फोटो दिखाया तो उसने उनके संलिप्त होने की पुष्टि कर दी।

आयकर विभाग रोहतक के कर्मचारी आरके पुरम की गली नंबर 12 निवासी बिजेंद्र सिंह ने बताया कि गुरुवार को सुबह 6:45 बजे सैर के लिए निकले। शिवाजी स्टेडियम के गेट नंबर दो के पास कुछ युवकों में झ गड़ा हो रहा था। इसी दौरान बाइक सवार दो ब दमाश उसके पास से गुजरे। 7:07 बजे झ गडऩे वाले युवक चले गए तभी वही बाइक सवार रविंद्र अस्पताल की तरफ से आए और धक्का देकर चेन झपट ली।रामलाल चौक की ओर भाग गए। ब दमाशों ने हेलमेट पहन रखा था।

 

कलंदर चौक के अशोक कुमार ने बताया कि उसकी बरसत रोड और उग्राखेड़ी के पास फ्लोर टाइल्स की दुकानें हैं। वह 25 वर्षीय बेटी वैशाली को सेक्टर 13-17 स्थित जिम से स्कूटी से घर लेकर जा रहा था। तहसील कैंप से बाइक सवार दो ब दमाशों ने स्कूटी का पीछा किया। देवी मंदिर गेट से 10 मीटर दूर आशीर्वाद अस्पताल के सामने बाइक सवार पीछे बैठे युवक ने बेटी की चेन झपट ली। उसने स्कूटी से पीछा किया, लेकिन ब दमाश स्काईलार्क रोड की ओर भाग गए।

एरिया को लेकर उलझी चौकी व थाना पुलिस 

अशोक कुमार ने बताया कि वा रदात होने के बाद वह शिकायत देने किला थाने पहुंचे। पुलिस मौके पर आई, लेकिन वा रदात का एरिया तहसील कैंप चौकी का बता चली गई। इसके बाद वह तहसील कैंप चौकी से पुलिस को साथ लेकर आए। चौकी प्रभारी हरनारायण ने आशीर्वाद अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली।

दो गिरोह के चार ब दमाश पकड़े, फिर भी वा रदात

5 सितंबर को तीन ब दमाशों ने गोशाला मंडी निवासी नीलम मंगला की गर्दन पर चाकू से वार करके चेन लू ट ली थी। लोगों ने पीछा करके करनाल के अशोक नगर के रामकुमार को काबू कर लिया था। सरगना अशोक नगर का अश्वनी व उसका साथी फरार है। 7 सितंबर की रात एंबिएंस सिटी के पास मुठभेड़ में सीआइए-वन ने गिरोह के सरगना मंगल, उसके साथी विक्की और राहुल को काबू कर लिया था। उनका साथी अजय फरार है। अजय और उसके तीन साथी चेन लू ट की वा रदातों को अंजाम दे रहे हैं। वहीं सीआइए-वन ने ब दमाश को अदालत में पेश कर उसे सात दिन की रिमांड पर लिया है।

अजय इन वा रदातों में भी शामिल 

  • 31 अगस्त को दो ब दमाशों ने सेक्टर 12 निवासी केमिकल कारोबारी अमित गोयल की सोने के चेन लू टी।
  • 24 अगस्त को सेक्टर-12 के उद्यमी प्रहलाद जिंदल की पत्नी निर्मला की सेक्टर-12 स्थित शिव मंदिर में दो तोले की चेन तोड़ ली।
  • 26 अगस्त की सुबह उद्यमी न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के त्रिलोचन सिंह पत्नी 67 वर्षीय विद्या प्रकाश की वार्ड-11 में 21 ग्राम की सोने की चेन झपट ली।

टोपी गैंग के ब दमाशों को पकडऩे में पुलिस के लिए ये है चुनौती

  • बद माश वा रदात में हमेशा चोरी की अपाचे या प्लसर बाइक का इस्तेमाल करते हैं। पुलिस की गाड़ी भी उन्हें पकड़ पाती है।
  • ब दमाश मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करते हैं।
  • वा रदात के बाद ब दमाश घर नहीं जाते हैं और परिजन को भी उनके ठिकानों का पता नहीं रहता है।