Connect with us

पानीपत

पानीपत में युवक के अपहरण और ह’त्या की वारदात सामने आई है।

Spread the love

Spread the love शास्त्री कॉलोनी में व्यवसायी सलीम के इकलौते बेटे शादाब का अपहरण कर ह’त्या का मामला सामने आया है। किराएदार रह चुके तीन युवकों ने इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने तीनों युवकों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें रिमांड में भेज दिया गया। शास्त्री कॉलोनी में सलीम […]

Published

on

Spread the love

शास्त्री कॉलोनी में व्यवसायी सलीम के इकलौते बेटे शादाब का अपहरण कर ह’त्या का मामला सामने आया है। किराएदार रह चुके तीन युवकों ने इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने तीनों युवकों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें रिमांड में भेज दिया गया।

शास्त्री कॉलोनी में सलीम का कंबल काटने का गोदाम है। उसका 22 वर्षीय बेटा शादाब बाइक रिपेयरिंग का काम करता था। शादाब के घर में करीब डेढ़ साल पहले दो युवक सलमान और गौरव किराएदार थे। शादाब से उनकी दोस्ती थी। सलमान और गौरव का एक साथी संजय भी है। आठ फरवरी को सलीम को बेटे के अपहरण की सूचना परिजनों को मिली। परिजनों ने किशनपुरा चोकी में शिकायत दी थी। इसके बाद चांदनी बाग थाना पुलिस में अपहरण का मामला दर्ज किया गया।

महराणा स्थित विजय फैक्टरी में शादाब को बुलाया

गौरव ने आठ फरवरी की दोपहर शादाब को कॉल करके बाइक खरीदने की बात कही। उसने महराणा स्थित विजय फैक्टरी में बाइक खड़ी होने की बात कही। संजय और सलमान नहर के पास उसका इंतजार करने लगे। बुलेट से शादाब के पहुंचने पर दोनों उसे फैक्टरी लेकर पहुंचे।

बंधक नहीं बना पाए तो की मारपीट

शादाब को तीनों आरोपितों ने पकड़ लिया। लेकिन उसे काबू नहीं कर सके। इसके बाद संजय, गौरव और सलमान ने मारपीट की। हथौड़ा से उसके सिर पर वार कर उसे बेहोश कर दिया और हाथ पांव बांधकर स्क्रैप रूम में बंद कर दिया।

उसी के फोन से मांगी फिरौती
संजय ने शादाब के मोबाइल फोन से उसकी मां बिलकेश से पांच लाख की फिरौती मांगी। बिलकेश ने पैसे न होने की बात कही तो बेटे को मार देने की धमकी दी। रात दस बजे तीनों को पकड़े जाने का डर सताया तो उन्होंने रस्सी से शादाब का गला कस दिया।

दी दर्दनाक मौत
पुलिस हिरासत में आरोपितों ने बताया कि रस्सी से गला कसने के बावजूद मौत नहीं है। शादाब के गले पर रॉड रखकर तीनों उस पर खड़े हो गए। वह उठने का प्रयास करता रहा। हालांकि कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई।

बोरे में भरकर नहर में फेंका
आरोपितों ने शव को खुदबुर्द करने के लिए उसे कंबल में लपेट कर बोरे में भर दिया। इसके बाद रोहतक पानीपत रोड स्थित महराणा के पास पश्चिमी यमुनानगर नहर में उसे फेंक दिया। उसकी बुलेट शुगर मिल के पास खड़ी कर दी।

संजय भाग गया, सलमान और गौरव मांगते रहे फिरौती के पैसे
वारदात के बाद संजय फरार हो गया। हालांकि सलमान और गौरव 12 फरवरी शाम को सलीम के परिजन से एक बार फिर फिरौती की रकम मांगी। परिजन तीन लाख देने को तैयार हुए। वहीं पुलिस की साइबर सेल ने मोबाइल फोन की लोकेशन से आरोपितों को ट्रेस कर धर दबोचा।

चार महीने पहले हुई थी शादी
शादाब की चार महीने पहले ही शादी हुई थी। सलीम ने बताया कि उसका बेटा काफी खुशमिजाज था। उसे भरोसा नहीं था कि उसके किराएदार ही उसके घर के चिराग को बुझा देंगे। वहीं पुलिस ने तीनों को कोर्ट में पेश कर रिमांड में लिया।

पुलिस गोताखोरों की मदद से नहर में छानबीन में जुटी है। वहीं आरोपितों को रिमांड में लेकर पूछताछ में कर रही है कि शव को किस लोकेशन में फेंका था। पुलिस अधिकारी दूसरे थानों से भी सूचना दे दी है।

Source Jagran

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *