Connect with us

पानीपत

पानीपत रिफाइनरी से दिल्ली के हैदरपुर रिंगरोड तक समानांतर सड़क बनाएगी सरकार, प्रोजेक्ट मुश्किल नहीं बस नियत की थी ज़रूरत

Spread the love

Spread the love हरियाणा की मनोहरलाल सरकार ने नए साल पर राज्‍य की जनता को नई सौगात दी है। सरकार ने पश्चिमी यमुना नहर और कैरियर लाइन चैनल के बीच की नहरी सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग 44 (जीटी रोड) के विकल्प के तौर पर विकसित करने का निर्णय किया है। इससे लोगों को हाइवे पर […]

Published

on

Spread the love

हरियाणा की मनोहरलाल सरकार ने नए साल पर राज्‍य की जनता को नई सौगात दी है। सरकार ने पश्चिमी यमुना नहर और कैरियर लाइन चैनल के बीच की नहरी सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग 44 (जीटी रोड) के विकल्प के तौर पर विकसित करने का निर्णय किया है। इससे लोगों को हाइवे पर जाम से बहुत राहत मिलेगी। इससे वाहन चालकों को बहुत लाभ होगा।

पानीपत रिफाइनरी से दिल्ली के हैदरपुर रिंगरोड तक समानांतर सड़क बनाएगी सरकार

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दिल्ली के हरेवली से डिंडर व पानीपत तक के नहरी सड़क के 46 किलोमीटर खंड के जीर्णोद्धार के लिए 334.25 करोड रूपए के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब इसे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड को मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

राज्‍य की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग 44 पर वाहनों के बढ़ते दबाव को देखते हुए य‍ह निर्णय किया गया है। दिल्ली के हरेवली से सोनीपत, पानीपत होते हुए करनाल के मुनक तक बनी सड़क को इसके विकल्प के तौर पर लेने का उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को सुझाव दिया था। इस पर हरियाणा राज्य सडक विकास निगम को एक प्रोजेक्ट तैयार करने के निर्देश दिए गए।

इसके बाद निगम द्वारा पश्चिमी यमुना नहर और कैरियर लाइन चैनल के बीच की नहरी सडक पर हरेवली (दिल्ली) से सोनीपत होते हुए पानीपत में डिंडर गांव तक की सड़क का जीर्णोद्धार करते हुए मजबूत बनाने का खाका तैयार किया। इस 46.866 किलोमीटर खंड के निर्माण के लिए 334.25 करोड रुपये का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्तमान समय में वाहनों के दबाव एवं भविष्य के मद्देनजर मंजूरी प्रदान कर दी है।

उन्‍होंने कहा कि हरियाणा राज्य सड़क विकास निगम द्वारा इसे सात मीटर चौड़ा किया जाएगा। इस मार्ग के निर्माण से सिवाह-डाहर के पास से पानीपत से तथा हरेवली के पास से दिल्ली इस मार्ग का वाहन चालक अधिक से अधिक उपयोग कर सकेंगे। इससे न केवल उनका आवागमन समय बचेगा, अपितु राष्ट्रीय राजमार्ग 44 पर वाहनों के भारी दबाव झेलने से निजात मिलेगी। कविता जैन ने कहा कि इस सौगात से प्रदेश के साथ-साथ इन जिलों के विकास में भी गति आएगी। इससे पूर्व भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल इस नहरी सड़क की दो करोड़ रुपये से स्पेशल रिपेयर करवाई जा चुकी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *