Connect with us

राज्य

पिता ने जमीन बेटे के नाम नहीं की तो पी’टकर मा’र डा’ला, श’व आंगन में द’फनाया

Advertisement बेटे ने जमीन अपने नाम नहीं करने से खफा होकर पिता की डं’डों से पी’ट-पी’टकर ह’त्या कर दी और श’व को घर के आंगन में द’बा दिया। आरोपी सोनू और उसके साले राहुल ने वा’रदात को 17 दिसंबर को अंजाम दिया था। पुलिस ने सोनू को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर 20 दिन बाद […]

Published

on

Advertisement

बेटे ने जमीन अपने नाम नहीं करने से खफा होकर पिता की डं’डों से पी’ट-पी’टकर ह’त्या कर दी और श’व को घर के आंगन में द’बा दिया। आरोपी सोनू और उसके साले राहुल ने वा’रदात को 17 दिसंबर को अंजाम दिया था। पुलिस ने सोनू को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर 20 दिन बाद रविवार को श’व को आंगन से बरामद किया है। आरोपी को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। राहुल फरार है। पुलिस ने सतबीर की बेटी मुकेश रानी के बयान पर सोनू और नियाणा गांव निवासी उसके साले राहुल के खिलाफ ह’त्या सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।  जानकारी के अनुसार, गांव हसनगढ़ निवासी सतबीर उर्फ भीरा (56) अपने सबसे छोटे बेटे सोनू (26) के डर से पिछले छह महीने से गांव कल्लर भैणी के एक ढाबे पर रहता था। सतबीर के नाम नौ एकड़ जमीन है और तीन एकड़ जमीन उसके भाई की भी उसी के पास थी। लंबे समय से सोनू अपने हिस्से की जमीन अपने नाम करवाने के लिए सतबीर पर दबाव बना रहा था। बताते हैं कि जमीन नाम नहीं करने पर सोनू ने सतबीर के साथ कई बार मा’रपीट की थी। सतबीर की पत्नी का कई साल पहले निधन हो चुका है।

Advertisement

पुलिस के अनुसार, 17 दिसंबर को सोनू और उसका ममेरा साला कल्लर भैणी होटल पर गए और सतबीर के साथ मा’रपीट कर उसे साथ ले गए। सोनू और राहुल ने घर पर सतबीर की डंडों से पीटकर सतबीर की ह’त्या कर दी और घर के आंगन में गड्ढा खोदकर शव को दबा दिया। कई दिनों से जब सतबीर का पता नहीं चला तो 31 दिसंबर को सतबीर की बेटी सिंघवा निवासी मुकेश रानी ने बरवाला पुलिस स्टेशन में सतबीर के लापता होने की रपट दर्ज करवाई।

पुलिस ने पड़ोसियों से पूछताछ की तो लगा सुराग

Advertisement

पुलिस ने जब मामले की छानबीन की तो सोनू के घर के आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि सतबीर को अंतिम बार सोनू के घर आते देखा गया था। इसके बाद वह दिखाई नहीं दिया। इसके बाद पुलिस को सोनू पर शक हुआ। इस बीच पुलिस ने ढाबे के संचालक से भी पूछताछ की। सोनू को काबू कर पूछताछ की गई तो उसने वारदात कबूल ली। पुलिस ने सोनू को हिरासत में लेकर उसकी निशानदेही पर सोनू से गड्ढे को खुदवाया और शव को बरामद किया। सोनू व राहुल ने जिस समय वारदात को अंजाम दिया, उस वक्त घर में कोई नहीं था। सोनू की पत्नी मायके गई हुई थी।

सतबीर के हैं तीन बेटे और दो बेटियां

Advertisement

सतबीर के तीन बेटे और दो बेटियां हैं। सभी विवाहित हैं। एक बेटा सुभाष अपनी बुआ के पास रहता है, जबकि मोनू खेत में बनी ढाणी में रहता है। सबसे छोटा बेटा सोनू गांव में रहता है। रविवार को पुलिस सतबीर के शव की बरामदगी के लिए गई तो उस दौरान नायब तहसीलदार प्रकाशवीर, डीएसपी जयपाल सिंह व थाना प्रभारी प्रहलाद सिंह मौजूद रहे।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *