Connect with us

जींद

पुराने ट्रैक्‍टरों और घोड़ों का दीवाना ये ताऊ

Published

on

शौक। दो अक्षरों का ऐसा शब्द, जिसका कोई मोल नहीं होता। शौक कब और किस चीज से हो जाए, इसका भी पता नहीं चलता। किसान से बड़े उद्यमी बने गांव बोहतवाला के 70 वर्षीय बुजुर्ग चौ. महेंद्र सिंह रेढू को घोड़े और ट्रैक्टर रखने शौक है। अब उनके पास छह पुराने ट्रैक्टर और पांच घोड़े-घोड़ी हैं।

गांव बोहतवाला के राजकीय स्कूल के नजदीक रेढू फार्म हाउस पर आप जाएंगे तो चार से पांच दशक पहले बंद हो चुके ट्रैक्टरों को चमचमाते हुए लाइन में देखकर दंग रह जाएंगे। इनमें टी-25, डीटी-14, डीटी-28, बेलारूस ट्रैक्टर शामिल हैं। महेंद्र सिंह इन ट्रैक्टरों को पंजाब, उत्तरप्रदेश, राजस्थान से ढूंढ़कर लाए हैं। पूरी उम्र जमकर खेती करने वाले महेंद्र सिंह इनको कृषि कार्यों में प्रयोग नहीं करते।

बैट्री से स्‍टार्ट होते हैं


सभी बैट्री से स्टार्ट होते हैं, इसलिए इनकी बैट्री चार्ज करने के लिए दो-चार किलोमीटर तक चला लेते हैं। ट्रैक्टरों से महेंद्र सिंह को इतना प्यार है कि किसी दूसरे व्यक्ति को इन पर बैठने नहीं देते। सभी ट्रैक्टरों को बच्चों की तरह संभालकर रखते हैं। लक्ष्य मिल्क प्लांट के डायरेक्टर बलजीत सिंह रेढू के बड़े भाई चौ. महेंद्र सिंह ने  कहा उन्होंने इन ट्रैक्टरों को दो साल में जमा किया है।

कबाड़ी से खरीदा, महंगा हो गया

टी-25 का 1970 का मॉडल है और 1971 में यह मॉडल बंद हो गया था। यह लखनऊ आइटीआइ से 18 हजार में कबाड़ के भाव बिका था। पता चलने पर मिस्त्री से खरीदने गया तो पौने तीन लाख रुपये में दिया। 25 हजार रुपये ऊपर खर्च किए। इस ट्रैक्टर पर आज तक एक बार भी चाबी नहीं लगी है। डीटी-14 का 1968 मॉडल है, जो 1970 में बंद हो गया था। इसे उप्र के संभल जिले से डेढ़ लाख रुपये में खरीदा था। डीटी-28 के 1963 मॉडल के ट्रैक्टर को पंजाब के सरहिंद से 2.17 लाख रुपये में खरीदा था। यह मॉडल 1964 में बंद हो गया था। बेलारूस ट्रैक्टर का 1966 मॉडल है, जो 1971 में बंद हो गया था। यह ट्रैक्टर भी पूरी तरह अनटच है। महेंद्र सिंह कहते हैं कि टी-25, डीटी-14, डीटी-28, बेलारूस ट्रैक्टर रूस से बनकर बाते थे। बाद में कुछ साल टी-25 का सामान रूस से आया और यहां असेंबल किया जाता था।

 

आयशर ट्रैक्टर बहुत भाग्यशाली रहा

चौ. महेंद्र सिंह के पास 1990 मॉडल का आयशर ट्रैक्टर भी है। वह कहते हैं कि यह ट्रैक्टर हमारे लिए बहुत भाग्यशाली रहा। इसके साथ जमकर खेती की और बहुत धन कमाया। वह चार भाई हैं और 28 एकड़ जमीन थी। तीन अब भी संयुक्त परिवार में रहते हैं। छोटा भाई बलजीत लक्ष्य मिल्क प्लांट और हैचरी का व्यवसाय संभाल रहा है। बच्चे भी खेती और बिजनेस में अपनी-अपनी भूमिका निभा रहे हैं। अपने संघर्ष के बारे में महेंद्र सिंह कहते हैं कि शुरू में दस हजार से मुर्गी फार्म शुरू किया था। आज 235 एकड़ जमीन है और देश में कई जगह हैचरी हैं। लक्ष्य मिल्क प्लांट को भी लगातार बढ़ा रहे हैं।

एक घोड़ा व चार घोड़ी

 

चौ. महेंद्र सिंह ने बताया कि उनके पास एक घोड़ा व चार घोड़ी भी हैं। करनाल से एक घोड़ी 1 लाख 60 हजार, एक पंजाब से 5 लाख और राजस्थान से 1.90 लाख रुपये में खरीदी थी। महेंद्र सिंह कहते हैं कि 50-60 पहले तो घोड़ी पर ही चलते थे। उनके घर में तब भी घोड़ी थी। गांव-गुहांड में घोड़ों पर ही जाते थे। इन घोडिय़ों की संभाल के लिए एक युवक भी रखा हुआ है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जींद

अजय चौटाला ने की नई पार्टी बनाने की घोषणा, बोले- इनेलो और चश्मा छोटे भाई को मुबारक

Published

on

By

इनेलो में चल रही सियासी खींचतान के बीच शनिवार को इनेलो दोफाड़ हो गई और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अजय चौटाला ने नई पार्टी बनाने की घोषणा कर दी। उन्होंने जींद में बुलाई कार्यकर्ताओं की बैठक में निर्णय लेने के बाद कहा कि इनेलो और चश्मा छोटे भाई को मुबारक हो। वो इसे संभालकर रखे, क्यों कि वे मेरा अजीज है। हम तो नई पार्टी बनाएंगे। अभी पार्टी के नाम और झंडे की घोषणा नहीं की है। यह घोषणा एक सप्ताह के अंदर कानूनी अड़चनें पूरी करके की जाएगी।

बोले कार्यकर्ताओं के इस्तीफे जेल लेकर जाऊंगा और चौटाला को दिखाऊंगा:

कार्यकर्ताओं बैठक में अजय चौटाला द्वारा एक फॉर्म बांटा गया था, जिसमें कार्यकर्ताओं ने सामूहिक रुप से इनेलो से इस्तीफा लिखवाया है। उन्होंने कहा कि इन इस्तीफों को तिहाड़ लेक जाऊंगा और अपने पिता चौटाला को दिखाउंगा। ये देखो इनेलो सामूहिक रुप से छोड़ दी है।

9 दिसंबर को बुलाई रैलीः 

अजय चौटाला ने नई पार्टी के लिए 9 दिसंबर को रैली बुलाई है। इस रैली में नई पार्टी की विधिवत रुप से घोषणा की जा सकती है। उन्होंने पार्टी की बागडोर पूरी तरह दुष्यंत के हवाले करने के संकेत दे दिए हैं और जनता को कहा है कि दुष्यंत को आप लोगों को सौंप कर जा रहा हूं, इसे संभालकर रखना।

अभय पर साधा निशानाः

अजय चौटाला ने अपने भाषण के दौरान अभय चौटाला पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुझे कहा जाता है कि मैंने राजस्थान की राजनीति की है। मैंने कम से कम इनेलो की राजनीति तो की लेकिन अभय से पूछे कि वो कब राजस्थान जाता है। अभय इनेलो के लिए नहीं बल्कि अपने साले के लिए बीजेपी की वोट मांगने राजस्थान जाता है। आज फिर राजस्थान में नोमिनेशन है अभय फिर वहां जाएगा।

इनसो को लेकर फिर दिया स्पष्टीकरणः

अजय चौटाला ने इंडियन नेशनल स्टूडेंट आर्गेनाइजेशन को लेकर फिर से स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा कि इनसो उनके द्वारा बनाई गई स्टूडेंट आर्गेनाइजेशन है। इसे भंग करने का किसी को अधिकार नहीं है।

सीएम बनने के लिए नहीं सम्मान की लड़ाई लड़ीः

अजय चौटाला ने कहा कि 5 नवंबर को जब से बाहर आया मैंने कभी पार्टी विरोधी बात नहीं की लेकिन फिर भी पार्टी से बाहर निकाल दिया गया। मैंने 662 किलोमीटर लंबी जन आंक्रोश यात्रा क्या सीएम बनने के लिए की थी क्या? शिक्षक भर्ती घोटाले में न तो एफआईआर, न कोई गवाही, न चार्ज फिर भी 10 साल की सजा काट रहा हूं। क्या सीएम बनने के लिए ऐसा किया था। नहीं, लोगों के सम्मान की लड़ाई के लिए ऐसा किया था।

दुष्यंत बोले-दादा ओमप्रकाश चौटाला को खड़ा कर दूंगा इसी मंच परः 

जींद में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राम ने लव-कुश को बाहर निकाला था, राम को उनके पिता ने निकाला था। इसका मतलब ये नहीं कि उन्होंने संघर्ष करना छोड़ दिया था। हम अंत तक इतनी मेहनत करेंगे कि अपने दादा ओमप्रकाश चौटाला को इसी मंच पर खड़ा कर देंगे।

Continue Reading

जींद

जींद से हुंकार, अजय चौटाला ने की नई पार्टी बनाने की घोषणा

Published

on

By

इनेलो में चल रही सियासी खींचतान के बीच जींद में अजय चौटाला ने नई पार्टी की घोषणा कर दी है। उन्होंने कहा कि इनेलो और चश्मा अभय चौटाला को ही मुबारक हो। वे एक सप्ताह के अंदर कानूनी अड़चने पूरी कर नई पार्टी का नाम, उसका झंडा घोषित कर देंगे। अजय चौटाला ने यह घोषणा जींद के एक पैलेस में की। इसके बाद वे जींद हुड्डा ग्राउंड में जनता को संबोधित करेंगे।

अब अभय चौटाला कर सकते हैं बड़ी घोषणाः

अजय के इस फैसले के बाद अब अभय चौटाला बड़ी घोषणा कर सकते हैं। वे अजय के फैसले का इंतजार कर रहे थे। बता दें कि चंडीगढ़ में भी इनेलो कार्यकारिणी की बैठक चल रही है। वहीं जींद में

चंडीगढ़ में 14 इनेलो विधायकों के पहुंचने की सूचनाः

वहीं चंडीगढ़ में 14 इनेलो विधायकों के कार्यकारिणी में पहुंचने की सूचना प्राप्त हो रही है। बताया जा रहा है कि जींद विधायक की मौत के बाद इनेलो के 18 विधायक बचे थे। विधायक नैना चौटाला, विधायक राजदीप फोगाट और अनूप धानक जींद पहुंचे हुए हैं।

दोनों जगह पहुंचे हैं समर्थक:

चंडीगढ़ के जाट भवन में आयोजित हो रही बैठक में अभय चौटाला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा और विधायक व पदाधिकारी पहुंचे हुए हैं। यहां इनेलो कार्यकर्ता भी मौजूद हैं। इसी तरह जींद में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे हुए हैं। यहां दो जगह कार्यक्रम है, दोनों जगह भीड़ मौजूद है।

इनेलो विधायक बोले हमें नहीं किया गया था हाईजैक:

इनेलो विधायक जाकिर हुसैन ने चंडीगढ़ के जाट भवन में पहुंचकर कहा कि यह जानकारी गलत फैलाई जा रही थी कि उन्हें हाईजैक किया गया है। हमें किसी ने गायब नहीं किया था। हम तो छुट्टी मनाने के लिए गए थे। हमारे ऊपर कोई प्रैशर नहीं है।

जींद में नई पार्टी के गठन पर बयान देने से बच रहे अभय खेमे के नेताः 

जींद में अजय चौटाला द्वारा नई पार्टी बनाए जाने की चर्चा पर अभय खेमे के लोग बोलने से बच रहे हैं। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व इनेलो विधायक जाकिर हुसैन से जब ये सवाल पूछा गया कि अजय चौटाला नए झंडे और नए डंडे की बात कर रही है, तो उन्होंने जवाब देने से मना कर दिया।

जींद में पोस्टरों से इनेलो हुई गायबः

जींद के दीप पैलेस में अजय चौटाला द्वारा बुलाई गई बैठक में लगे पोस्टरों से इनेलो शब्द गायब है। यहां लगे पोस्टरों में लिखा हुआ है कि आप सभी का प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में स्वागत है।

जींद पहुंचे दिग्विजय चौटाला ने कहा कि भी विधायकों को हाईजैक किया गया था। सभी विधायक जल्द हमारे साथ होंगे।

Continue Reading

जींद

छात्रा से जबरन शादी के बाद दोस्तों से करवाया सामूहिक दु_ष्कर्म

Published

on

By

एक युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर गांव की ही छात्रा का अपहरण किया और फिर उससे जबरन शादी कर दी। इसके बाद वह दोस्तों से छात्रा का यौ_न शो_षण करवाता रहा। यही नहीं युवक के पिता ने भी छात्रा से अश्लील हरकतें की। किसी तरह से छात्रा उनके चंगुल से छूटी और मामले की शिकायत पुलिस को दी। मामले में महिला थाना पुलिस ने 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

जींद के राजकीय कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा के मुताबिक पढ़ाई के दौरान उसकी मुलाकात गांव के ही रहने वाले युवक दीपक से हुई। दोनों में बातचीत होने लगी। इसी दौरान 10 अगस्त को दीपक अपने दोस्त दर्शन व राजीव के साथ उससे मिलने आया। तीनों ने यहां से उसका अपहरण कर दिया। अपहरण के बाद दीपक ने छात्रा जबरन शादी कर दी।

छात्रा के मुताबिक इसके बाद मनोज ने हिसार में कमरा किराये पर ले लिया। वहां दीपक, उसके भाई हिमांशु, सचिन, प्रवीन, जसबीर ने उसके साथ सामूहिक दु_ष्कर्म किया। इसके बाद दीपक उसे हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के गांव भादू ले गया। कई दिन तक वहां रहे। वहां दीपक व उसके दोस्त अजय ने उसके साथ दु_ष्कर्म किया।

छात्रा ने बताया कि इसके बाद दीपक ने अपने पिता सतीश को वहां बुला लिया। सतीश ने भी उसके साथ अश्लील हरकतें की। वह किसी तरह आरोपितों के चंगुल से भाग निकली। महिला थाना पुलिस ने छात्रा की शिकायत पर दीपक, उसके भाई हिमांशु, उसके पिता सतीश, गांव भादू निवासी अजय, दर्शन, राजीव, प्रवीन, सचिन, जसबीर के खिलाफ अपहरण, सामूहिक दु_ष्कर्म, यौन शो_षण करने का मामला दर्ज किया है। डीएसपी पुष्पा खत्री ने बताया कि युवती से दुराचार करने के आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2018 Panipat Live