Connect with us

अंबाला

प्रेमिका के शादी रचाने के बाद युवक खुश था, लेकिन अब यह प्रेम कहानी एेसे मोड़ पर पहुंच गई कि पति हाथ मलता रह गया।

Published

on

बराड़ा के डेयरी मोहल्ला निवासी शरणजीत ने वर्ष 2012 में कुरुक्षेत्र के मंगौली जट्टान गांव निवासी परमजीत के साथ उत्तर प्रदेश के देवबंद में प्रेम विवाह किया। इसी साल जनवरी में वह परमजीत को कुछ दिनों के लिए मायके जाने की बात बोलकर चली गई। कई दिन तक जब वापस नहीं लौटी तो परमजीत ने उसकी खोजबीन की। तब पता चला कि शरणजीत कौर ने उसे तलाक दिए बिना नई दिल्ली के जहांगीर पुरी निवासी मलकीत सिंह से दूसरी शादी कर ली है। इस पर उसने एसपी अंबाला को शिकायत दी। साहा थाना पुलिस ने जांच के बाद कानूनी सलाहकार (डीडीए) की रिपोर्ट पर बिना तलाक दूसरी शादी करने वाली शरणजीत कौर के खिलाफ कोर्ट में आपराधिक केस चलाने की सिफारिश कर दी है।

इस तरह शुरू हुई प्रेम कहानी

वर्ष 2009 में परमजीत और शरणजीत कौर के बीच दोस्ती हुई। 2011 में शरणजीत गर्भवती हो गई और यह बात उसकी मां जसविंद्र कौर को पता चल गई। उसी दौरान परमजीत के परिवार ने करीब 55 लाख रुपये की जमीन बेची थी। इसकी भनक लगने पर जसविंद्र कौर ने कहा कि वह अपनी बेटी के साथ उसे भी कनाडा भेज देगी, जिस पर करीब 15 लाख रुपये खर्च आएगा। परमजीत ने साढ़े 7 लाख रुपये और दस्तावेज उसे दे दिए। बाद में जसविंद्र ने शरणजीत और परमजीत को कनाडा के बजाय मलेशिया का वीजा लगवा दिया।

इसी बीच 4 जुलाई 2012 को इन दोनों ने घर से भागकर शादी कर ली। हाई कोर्ट से पुलिस प्रोटेक्शन लेकर साथ रहे। वर्ष 2013 तक शहर के जंडली और उसके बाद से साहा में किराये पर रह रहे थे। परमजीत ने शरणजीत की भी अपने साथ सरकारी विभाग में डीसी रेट पर नौकरी लगवा दी थी। मगर 24 जनवरी को अचानक शरणजीत के मोबाइल पर उसकी मां का फोन आया और उसके पिता की तबीयत खराब होने की बात कही। इस पर परमजीत ने खाते से 1.32 लाख रुपये निकालकर शरणजीत को देते हुए मायके भेज दिया। बस में बैठते ही उसका फोन बंद हो गया।

मायके पहुंचकर कर ली दूसरी शादी

पत्नी का फोन बंद आने पर 30 जनवरी को परमजीत अपने ससुराल बराड़ा पहुंच गया। वहां पता चला कि 27 जनवरी को ही शरणजीत की दूसरी शादी हो गई थी। उसे ससुराल वालों ने धमकी देकर छोड़ दिया। परमजीत ने किसी तरह से उसके दूसरे पति का मोबाइल नंबर पता किया और उसे सारी बात बताई। बाद में परमजीत ने एसपी को शिकायत की। पुलिस ने जांच के बाद डीडीए की रिपोर्ट पर मामला कोर्ट में भेज दिया। उधर, शरणजीत का पिता जसपाल सिंह का कहना है कि उसकी बेटी 2012 से 2018 तक उनके ही साथ रही है।

इस संबंध में मामले के जांच अधिकारी हरिंद्र सिंह का कहना है कि मैंने साहा थाने में ड्यूटी के दौरान इस मामले की तफ्तीश की थी। महिला ने बिना तलाक लिए दूसरी शादी की है। उसके खिलाफ कोर्ट में आइपीसी एक्ट 494 के तहत केस चलाने की सिफारिश की गई है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अंबाला

ग़ज़ब हरियाणा रोडवेज़ का अज़ब कमाल, बिन सरकार को बताए बढ़ा दिए किराए

Published

on

By

हरियाणा रोडवेज में इन दिनों कुछ ठीक नहीं चल रहा। सरकार और कर्मचारियों की तनातनी से 18 दिन की हड़ताल का दर्द यात्री अभी भूले नहीं कि अचानक से बस किराये में वृद्धि की मार पड़ गई है। दीपावली के बाद से ही चंडीगढ़ से सात पड़ोसी राज्यों में जाने वाली रोडवेज बसों का किराया बढ़ा दिया गया है। कमाल की बात है कि इस बारे में सरकार को इस बारे में पता नहीं है और अधिकारियों ने किराया बढ़ा दिया।  किराया बढ़ाने की सूचना न तो परिवहन सचिव को दी गई और न ही परिवहन मंत्री।

मीडिया में यह मुद्दा उठा तो ह‍रियाणा सरकार ने जांच बैठा दी है कि बिना कैबिनेट की मंजूरी के किराया किसने और कैसे बढ़ाया। इसके साथ ही परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार किराये में बढ़ोत्तरी पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात करने की तैयारी में हैं। परिवहन मंत्री पंवार के मुताबिक बिना कैबिनेट की मंजूरी के किराया नहीं बढ़ाया जा सकता। यह बढ़ोतरी किस स्तर पर की गई है, इसकी जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

खास बात यह है कि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव धनपत सिंह को भी किराया बढ़ोतरी की जानकारी नहीं है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि बिना आला अफसरों और मंत्री की मंजूरी के चंडीगढ़ से दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश व जम्मू-कश्मीर जाने वाली बसों का किराये में कैसे पांच से 15 रुपये तक की बढ़ोतरी कर दी गई।

बताया जाता है कि पिछले दिनों पंजाब रोडवेज ने बसों के किराये में इजाफा किया था। पंजाब सरकार की अधिसूचना के आधार पर ही हरियाणा रोडवेज के अफसरों ने बिना प्रदेश सरकार को विश्वास में लिए अपनी बसाें के किराये भी बढ़ा दिए।

Continue Reading

अंबाला

पहले लव, फिर शादी और अब सामने आया वो ‘कड़वा’ सच कि बर्बाद हो गई युवक की जिंदगी

Published

on

By

परिजनों ने धमकाया, पर वे नहीं माने। प्यार परवान चढ़ा और मैरिज कर ली। शारी_रिक संबंध भी बन गए। लेकिन इतना बड़ा धोखा मिलेगा, युवक ने सोचा भी न था। मामला हरियाणा के अंबाला कैंट का है। साहा के युवक परमजीत सैनी ने बराड़ा निवासी अपनी पत्नी पर परिजनों से मिली भगत करके उसे धोखे में रखकर बिना तलाक लिए दिल्ली के लड़के से दूसरी शादी रचाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने जांच के बाद पत्नी पर सेक्शन-494 के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं युवक ने कनाडा भेजने के नाम पर युवती की मां पर साढ़े सात लाख रुपये हड़पने का भी आरोप लगाया है।

साहा निवासी परमजीत सैनी पुत्र माया राम ने पुलिस को शिकायत दी कि वह मूल रूप से कुरुक्षेत्र के मंगोली जटान गांव का रहने वाला है। उसकी जमीन बराड़ा में थी जिसे वह बेचना चाहता था। वर्ष 2009 में उसकी मुलाकात बराड़ा के डायरी मोहल्ला निवासी शरणजीत कौर से हुई। दोनों में प्यार हो गया। इसके बाद परमजीत व शरणजीत ने चार जुलाई 2012 को शादी कर ली। युवती के परिजनों ने धमकाया तो दोनों ने हाईकोर्ट से प्रोटेक्शन ले ली। इसके बाद वे एक माह तक चंडीगढ़ और फिर अंबाला सिटी के जंडली में किराये के मकान में एक साल तक रहे।

इसी दौरान परमजीत ने शरणजीत को नर्सिंग का कोर्स कराया। चूंकि परमजीत पंचकूला में सीएम विंडो विभाग में सरकारी मुलाजिम है, इसलिए वहीं पर वर्ष 2016 में शरणजीत को भी डीसी रेट पर सरकारी विभाग में नौकरी पर लगा दिया।

सबकुछ ठीक चल रहा था। 24 जनवरी 2018 को शरणजीत के पास उसकी मां जसविंद्र कौर का फोन आया कि उसके पिता जसपाल सिंह की तबीयत खराब है। परमजीत ने 1.42 लाख रुपये पत्नी को दिए और बस में बिठाकर उसके घर भेज दिया। इसके बाद पत्नी का फोन बंद हो गया, वह 30 जनवरी को उसके घर बराड़ा गया।

मारपीट व बंधक बनाने का भी आरोप

marriage

उसने आरोप लगाया कि पत्नी के पिता, ताया, मौसा, फुआ व फूफा ने उसके साथ मारपीट की और करीब तीन घंटे तक घर में ही बंधक बनाकर रखा। बाद में उसे मालूम हुआ कि शरणजीत ने दिल्ली के जहांगीरपुरी के डीडीए फ्लैट में रहने वाले मलकीत सिंह पुत्र गुरमीत सिंह के साथ शादी कर ली है। इसके बाद उसने साहा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने युवती के मोबाइल लोकेशन, बैंक अकाउंट व नर्सिंग होम के लिए जमा कराई गई फीस की डिटेल को लेकर जांच की तो सारी सच्चाई सामने आ गई।

55 लाख की बेची थी जमीन

परमजीत ने बताया कि वर्ष 2010 में उसने बराड़ा में करीब 55 लाख रुपये की जमीन बेची, जिसकी जानकारी शरणजीत की मां जसविंद्र कौर को हुई। जसविंद्र कौर ने दोनों को कनाडा भेजने के लिए 15 लाख रुपये में वीजा दिलवाने की बात कही। परमजीत ने भी शुरुआती तौर पर साढ़े सात लाख रुपये दिए, लेकिन जसविंद्र ने उसे कनाडा के बजाय मलेशिया का वीजा पकड़ाया तो दोनों ने जाने से मना कर दिया। रुपये मांगने पर जसविंद्र ने बाद में देने के लिए कहा।

रुपये मांगने पर झूठी दर्खास्त देने का लगाया था आरोप

शादी

परमजीत ने बताया कि वर्ष 2012 में शरणजीत की मां जसविंद्र कौर ने उस पर अपहरण का आरोप लगाया था। इसके बाद खुद शरणजीत ने तत्कालीन डीसीपी ग्रामीण नाजनीन भसीन को शिकायत देकर मामले में उसे फंसाने की बात कही थी। उसने कहा था कि उसके परिवार वाले उसका सौदा करना चाहते हैं। उसने अपनी मर्जी से मुझसे शादी की है। इसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट से प्रोटेक्शन भी लिया था।

परमजीत की पत्नी शरणजीत के खिलाफ धारा 494 का मामला दर्ज कर कोर्ट में भेज दिया गया है। इन मामलों में कोर्ट समन जारी करती है। कोर्ट के आदेशानुसार कार्रवाई की जाएगी।
– हरिंदर, एएसआई, जांच अधिकारी

परमजीत सैनी ने मामले की शिकायत दी थी। जांच के बाद सेक्शन-494 का मामला पाया गया है। यह संज्ञेय अपराध है।
– मनीष कुमार, एसएचओ, साहा

Continue Reading

अंबाला

हरियाणा के कांग्रेसी नेता की गुंडागर्दी, दिवाली के मैके पे तानी अफ़सर पर बंदूक़

Published

on

By

शिवप्रताप नगर की एक गली में बच्चों द्वारा पटाखे बजाने को लेकर कांग्रेस नेता और एक्साइज कमिश्नर के बीच विवाद हो गया। इस दौरान कांग्रेस नेता ओंकार नाथी ने रिवाॅल्वर निकाल ली। कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर मामला शांत करवाया। इसके बाद एक्साइज कमिश्नर ने कांग्रेस नेता के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

बुधवार रात 10 बजे की घटना

शिवप्रताप नगर निवासी एक्साइज कमिश्नर सुरेन्द्र कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि बुधवार रात लगभग 10 बजे वह घर में थे। इस दौरान गली में जोर-जोर से चिल्लाने और शोर- शराबे की आवाज सुनाई दी तो वह अपने भाई सुनील कुमार और पड़ोसी सुरेन्द्र कुमार गली में आए तो देखा कि बाइक्स सवार कुछ लड़के शोर मचा रहे हैं।

इस पर उन्होंने लड़कों को वहां से जाने के लिए कहा, तो अनसुना कर दिया। लड़के हाथ में पकड़ी किसी लोहानुमा चीज से पटाखे बजाते रहे। इस दौरान दूसरे पड़ोसी भी मौके पर इकट्ठा हो गए और  उन लड़कों को वहीं रोक लिया। एक युवक ने किसी को फोन कर तुरंत मौके पर पहुंचने को कहा तो एक शख्स जोर–जोर से चिल्लाता हुआ वहां पहुंचा और उसने कहा कि उसके बेटे को किसने मारा है।

उस शख्स ने सुरेन्द्र के साथ हाथापाई शुरू कर दी। जब सभी मोहल्ले वाले उस शख्स की तरफ भागे तो उसने पास रखी रिवाॅल्वर निकाल ली। यह देख कर मौके पर खड़े लोगों ने जब उस शख्स को पकड़ना चाहा तो वह मौके से भाग गया और जान से मारने की धमकी दे गया। सुरेन्द्र कुमार ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर जांच कर जानकारी के आधार पर पूर्व पार्षद ओंकार नाथी के खिलाफ आर्म्स एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2018 Panipat Live