Connect with us

विशेष

बाइक नहीं रोकी तो पुलिसवाले ने मारा डंडा, गई एक फ़ौजी की जान..

Published

on

Advertisement

नेशनल हाईवे पर पुलिसकर्मियों की दादागिरी से एक फौजी की जान चली गई। बाइक पर जा रहे फौजी को पुलिसकर्मी ने पीछे से डंडा फेंककर मारा। डंडा लगते ही उसका संतुलन बिगड़ गया और वह गिर पड़ा। वहीं, पीछे से आ रहे एक ट्रक ने उसे रौंद दिया। हादसे से गुस्साए ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की गई। बाद में डीएसपी ने लोगों को शांत किया। ग्रामीण शिव कुमार की शिकायत पर तीन पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ लापरवाही बरतने का मामला दर्ज कराया। फौजी परिवार का इकलौता बेटा था।

घटना नेशनल हाईवे पर करहेड़ा खुर्द की है। तिगरा निवासी 36 वर्षीय नसीब सिंह की जीरकपुर में आर्मी में पोस्टिंग थी। वह एक महीने की छु़ट्टी लेकर घर आया हुआ था। बुधवार को दवाई लेने के लिए गया था। नेशनल हाईवे पर गांव के पास चौराहे पर पुलिसकर्मी गुरमेल और दिलीप होमगार्ड के साथ चेकिंग कर रहे थे। आरोप है यहां लेनदेन चल रहा था। जब उसे बाइक रोकने का इशारा किया तो तत्काल वह ब्रेक नहीं लगा सका। नहीं रोकने पर पुलिसकर्मी ने उसे पीछे डंडा फेंककर मार दिया।

Advertisement

पुलिसकर्मियों की 'दादागिरी' से गई एक फौजी की जान, बाइक नहीं रोकी तो मारा डंडा

डंडा लगते ही नसीब सिंह नीचे जा गिरा। इस दौरान पीछे से आ रहे रेत से भरे ट्रक ने उसे कुचल दिया। इस हादसे का पता जैसे ही गांव में लगा तो सैकड़ों लोग ट्रैक्टर ट्रॉलियों में हाईवे पर आ गए और जाम लगा दिया। लोगों को एकत्र होते देख आरोपित पुलिसकर्मी वहां से भाग निकले। करीब चार घंटे तक ग्रामीणों ने जाम लगाए रखा। बाद में कई थानों की पुलिस पहुंची। डीएसपी के आश्वासन पर ग्रामीणों ने जाम खोला। डीएसपी देशराज का कहना है कि पुलिस ने फौजी को रोकने की कोशिश की, लेकिन डंडा मारने के आरोपों  की जांच की जाएगी। परिजनों को इस बारे में लिखकर दिया गया है।

Advertisement

Source Jagran

Advertisement

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *