Connect with us

पानीपत

महिला दिवस: ऐतिहासिक पानीपत नगरी की बागडोर महिलाओं के हाथ में

Published

on

Spread the love

महिला दिवस के मौके पर महिलाओं पानीपत में महिलाओं ने रिकार्ड किया है. महिलाओं ने ऐतिहासिक नगरी पानीपत की कमान संभाल रखी है.

पानीपत में सात बड़े पद शहरी विधानसभा से विधायक रोहिता रेवड़ी, मेयर अवनीत कौर, उपायुक्त, अतिरिक्त उपायुक्त, एसडीएम, सीटीएम पर महिलाएं आसीन हैं.

विधायक रोहिता रेवड़ी

Image may contain: 1 person, smiling, sitting

1. उपायुक्त सुमेधा कटारिया

पानीपत की उपायुक्त सुमेधा कटारिया उपायुक्त पद पर तैनात हैं. उनका कहना है कि वह अपने पद से है इसके साथ-साथ वह एक महिला भी है. महिला होना उनके लिए बड़े गौरव की बात है. वह हर जन्म में महिला बनकर ही पैदा होना चाहती हैं. महिलाओं को हर क्षेत्र में आगे देखना चाहती हैं. इसके साथ वे एक संस्था चलाती हैं.

Image result for उपायुक्त सुमेधा कटारिया

जिसमें महिलाओं, लड़कियों को आत्मरक्षा के गुर सिखाए जाते हैं. यह किसी सरकारी सहायता से नहीं बल्कि अन्य संस्थानों के साथ मिलकर यह संस्था चलती है. लड़कियों के लिए शिक्षा का स्तर बदलना चाहती हैं. उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने बताया कि वह सात बहने हैं जिसमें से तीन बहने आईएएस और चार बहने लेक्चरर के पद पर हैं.

2. आईएएस प्रीति 

2015 के बैच में आईएएस बनी 27 वर्षीय प्रीति पानीपत में एडीसी के पद पर तैनात हैं. उन्होंने बताया उनका लक्ष्य तीसरी क्लास से ही आईएएस बनने का था. उन्होंने उसे पूरा भी किया. आईएस प्रीति ने बताया कि इस सफलता के पीछे सिर्फ शिक्षा ही है.

ट्रांसफर है गहना, गुड वर्क से मिलते नए अवसर : एडीसी प्रीति

महिलाओं को यही संदेश देती है कि अपनी शिक्षा को बढ़ावा दें. शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाए ताकि उन्हें पीछे मुड़कर ना देख ना पड़े.

3. नगर निगम कमिश्नर व एसडीएम वीणा हुडा

पानीपत में नगर निगम कमिश्नर व एसडीएम के पद पर तैनात वीणा हुडा महिला होकर अपने आप को बड़ा गौरवान्वित महसूस करती हैं.

महिलाओं को संदेश देती हैं. उनका कहना है कि शिक्षा ही एकमात्र ऐसा साधन है जिससे वह अपने आप को मजबूत कर सकती हैं. हर क्षेत्र में उन्नति प्राप्त कर सकती हैं. महिला होने के नाते वह महिलाओं और लड़कियों के लिए शिक्षा के स्तर को उंचा उठाना चाहती हैं.

 

4. CTM  वसुंधरा 

पानीपत में CTM के पद पर तैनात वसुंधरा का कहना है कि वह जो कुछ भी है और जिस भी पद पर तैनात है वह सिर्फ एक महिला के बलबूते और प्रेरणा से हैं. सीटीएम वसुंधरा अपने नाम को शशी वसुंधरा लिखती हैं. वसुंधरा की माता शशी सोनीपत में एसडीएम के पद पर तैनात थी. बीमारी के कारण उनकी मौत हो गई थी. जिसके बाद वसुंधरा अपनी माता से प्रेरित होकर और पब्लिक की सेवा का जज्बा लेकर एचसीएस की परीक्षा पास कर सीटीएम के पद पर पानीपत में तैनात है. अपने नाम को अपनी मां के नाम के साथ शशि वसुंधरा लिखती है.

5.मेयर अवनीत कौर

Related image

हाल ही में मेयर बनी अवनीत कौर मात्र 24 साल की महिला हैं. वह अपने आप को बड़ा ही सौभाग्यशाली समझती है. उन्हें महिला अधिकारियों के साथ पानीपत में काम करने का मौका मिला है. मेयर अवनीत कौर का कहना है कि पुरुषों के मुकाबले अगर महिला अधिकारी सामने हो तो वह हर समस्या को बड़ी गंभीरता से सुनती है साथ ही जल्दी सुलजा लेती हैं.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *