Connect with us

Cities

मां के सपने को पूरा करने लिए हेलीकॉप्टर से बारात लेकर पहुंचा क्लर्क बेटा, दुल्हन ने कही ये बात

Published

on

अपनी मां की इच्छा पूरी करने के लिए एक बेटे ने हेलीकॉप्टर में बारात ले जानी की ठानी। केवल ठानी ही नहीं बल्कि इसे पूरा कर दिखाया। गांव में हेलीकॉप्टर को देखने के लिए लोगों का हूजूम उमड़ पड़ा। क्योंकि इससे पहले कभी गांव में हेलीकॉप्टर नहीं आया था। आइए जानते हैं इस खास शादी के बारे में…यह बारात हरियाणा के यमुनानगर जिले के गांव रतुवाला से निकली। सुखविन्द्र कुमार उर्फ लक्की हेलीकॉप्टर में बारात लेकर गया। हेलीकॉप्टर की लैंडिंग के लिए गांव के मुख्य मार्ग पर दो एकड़ जमीन में हेलीपैड बनाया गया था। गांव में पहली बार हेलीकॉप्टर से बारात जाती देख ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा।

Helicopter lands first time in a village of Yamuna nagar for marriage

लड़के के भाई मामचंद ने बताया कि कंपनी को दिए समय के अनुसार सुबह लगभग दस बजे देहरादून से हेलीकॉप्टर चला। गांव में ग्यारह बजकर पांच मिनट पर हेलीकॉप्टर पहुंच गया। फिर इसी हेलीकॉप्टर में सुखविन्द्र, उसकी मां पालो देवी, पिता फूलचंद, भाभी छीमा देवी, कोहिनूर चंचल सिघाल बारात लेकर सरस्वती नगर के लिए निकले।

सरस्वती नगर में हेलीकॉप्टर ग्यारह बजकर तीस मिनट पर पहुंच गया। इसके बाद सरस्वती नगर में विवाह स्थल पर बार दीवारी, जय माला सहित सभी रस्में पूरी की गई। इसके बाद दो बजकर 31 मिनट पर हेलीकॉप्टर में सुखविन्द्र सिंह अपनी नई नवेली दुल्हन कुसुम को लेकर बैठा और परिवार के सदस्यों के साथ गांव रतुवाला के लिए उड़ान भरी।

दो बजकर 56 मिनट पर हेलीकॉप्टर गांव में लैंड किया। गांव में पहुंचते ही परिवार की महिलाओं ने रस्मों व रीति रिवाजों के साथ दुल्हन का स्वागत किया। मां पालो देवी ने बताया कि बड़े बेटे की शादी के बाद परिवार में आपसी विचार विर्मश पर सभी सदस्य यहीं कहते थे कि मां तुझे एक दिन हेलीकॉप्टर की सैर अवश्य करवाऊंगा। उसकी यह इच्छा छोटे बेटे सुखविन्द्र सिंह की शादी में पूरी हो गई।

डीसी कार्यालय में क्लर्क के पद पर कार्यरत सुखविन्द्र सिंह ने बताया कि उसने कभी नहीं सोचा था कि बारात हेलीकॉप्टर में लेकर जाऊंगा। उसके पिता व भाई के प्रयासों से यह सब संभव हो पाया है।

वहीं दुल्हन कुसुम का कहना है कि वह काफी खुश है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *