Connect with us

अंबाला

‘मां! मैं जीना चाहती हूं, मुझे जबरदस्ती जहर पिलाया है’ एक गर्भवती नवविवाहिता के शब्द!!

Published

on

Spread the love

अंबाला सिटी के निकटवर्ती गांव निवासी एक नवविवाहिता की रविवार रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। परिजनों को महिला के ससुरालजनों ने फोन कर बीमार होने की सूचना दी, जिस पर वे देर शाम उसके ससुराल पहुंचे और उसे शहर के नागरिक अस्पताल लाए। डॉक्टरों ने महिला की नाजुक हालत को देखते हुए चंडीगढ़ रेफर किया। लेकिन अस्पताल में ही दम तोड़ दिया।  इसके बाद महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए शवगृह में रखवाया गया। सूचना मिलने पर पुलिस ने पहुंचकर परिजनों के बयान दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। मामले में जांच जारी है। वहीं विवाहिता की मां ने ससुरालियों पर जहर देकर मारने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि बेटी ने फोन पर बताया था कि मां! मैं जीना चाहती हूं, मुझे जबरदस्ती जहर पिलाया गया है।

Image result for latest images of dead body in india

शहर के रेलवे रोड निवासी 27 वर्षीय रजनी की शादी 12 मई 2018 को पंजाब के शंभू क्षेत्र के गांव राजगढ़ निवासी जगतार सिंह के साथ हुई थी। मां बबली ने बताया कि शादी के बाद से ही उसकी बेटी रजनी के ससुराल वाले दहेज के लिए परेशान करने लगे। बबली ने आरोप लगाया कि रजनी के ससुराल वालों ने कई बार उसकी बेटी को मारपीट कर घर से बाहर भी निकाल दिया था।

Image result for latest images of murder due to dowry in ambala in india

रजनी के ससुराल वालों ने माफी मांगकर व कई बार गांव वालों द्वारा समझौता करवाने पर रजनी को हर बार ससुराल भेज दिया गया। लेकिन उसके ससुराल वाले कुछ दिन बाद फिर से दहेज के लिए मारपीट करना शुरू कर देते थे।

मरने से पहले मां को फोन कर कहा, जीना चाहती हूं
मां बबली ने बताया कि रजनी 9 माह की गर्भवती थी। रविवार शाम करीब 8 बजे उसके पास रजनी के पति जगतार सिंह ने फोन कर कहा कि तुम्हारी बेटी बीमार हो गई है। हमें परेशान कर रही है, इसे यहां से ले जाओ। बबली ने कहा कि इसके बाद रजनी ने फोन कर उसे बताया कि मां मुझे मेरे पति जगतार सिंह व ननद ने जहर पिला दिया है। उसने कहा मां मैं जीना चाहती हूं, मुझे जबरदस्ती जहर पिलाया है।

Image result for latest images of murder due to dowry in ambala in india

रजनी को लेने पहुंचे तो जगतार पिला रहा था पानी

बबली ने बताया कि रजनी का फोन आते ही वह उसी वक्त अपने भतीजे विकास को साथ लेकर गाड़ी में रजनी का हाल जानने पहुंचे तो उस वक्त जगतार सिंह रजनी को पानी पिला रहा था। बबली ने कहा कि इसके बाद रजनी की गंभीर हालत को देखते हुए वह रात करीब 9 बजे उसे सीधे शहर नागरिक अस्पताल ट्रामा सेंटर लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे चंडीगढ़ रेफर कर दिया। लेकिन इससे पहले ही रजनी ने अस्पताल में ही दम तोड़ दिया।

सांकेतिक तस्वीर

सोमवार शाम को रजनी के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के हवाले कर दिया है। परिजनों की शिकायत पर आरोपी जगतार सिंह और उसकी बहन सत्या उर्फ सत्ती के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *