Connect with us

पानीपत

मेयर अवनीत कौर ने कंपनी के सुपरवाइजर के बैग में भरा कचरा और कहा जेबीएम कंपनी शहर की सफाई नहीं, सत्यानाश करने के लिए पैसे ले रही है

Spread the love

Spread the love मेयर अवनीत कौर जहां-जहां गई, वहीं-वहीं गंदगी मिली तो भावुक हो गई। उन्होंने कहा कि क्या शहरवासियों के सम्मान का हम ऐसे कर्ज चुकाएंगे। जेबीएम कंपनी शहर की सफाई नहीं, सत्यानाश करने के लिए पैसे ले रही है। ऐसे में शहर का आगे क्या हाल होगा, यह भी सोचकर दुख होता है। […]

Published

on

Spread the love

मेयर अवनीत कौर जहां-जहां गई, वहीं-वहीं गंदगी मिली तो भावुक हो गई। उन्होंने कहा कि क्या शहरवासियों के सम्मान का हम ऐसे कर्ज चुकाएंगे। जेबीएम कंपनी शहर की सफाई नहीं, सत्यानाश करने के लिए पैसे ले रही है। ऐसे में शहर का आगे क्या हाल होगा, यह भी सोचकर दुख होता है। वहीं इस बारे में जेबीएम कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि मेयर को जैन मंदिर के पास गंदगी मिली थी। वहां पर हमारे कर्मचारी गंदगी नहीं डाल रहे।

garbage bag

मेयर अवनीत कौर ने पार्षद कोमल सैनी के साथ इंसार बजार से अपना दौरा शुरू किया। यहां से प्रेम मंदिर वाली गली, जैन मंदिर वाली गली, पालिका बाजार व किला चौक क्षेत्र में दौरा किया। उनके साथ जेबीएम की ओर से सुपरवाइजर आशिफ भी साथ रहे। जब मेयर श्री दिगंबर जैन मंदिर के पास पहुंची तो यहां पर लगे गंदगी के ढेर को देखकर खुद को रोक नहीं पाई और भावुक हो गई। उन्होंने कंपनी के सुपरवाइजर को बोला कि क्या सिर्फ गंदगी फैलाने का ही ठेका लिया हुआ है।

क्‍या ये सही है ? मेयर बेटी और उनके पिता ने सुपरवाइजर के बैग में भर दिया कूड़ा

कंपनी जितना पैसा ले रही है, उसका आधा हिस्सा भी काम नहीं हो रहा। उन्होंने सफाई व्यवस्था का और भी मजबूत करने के निर्देश दिए। वहींं इस बारे में जेबीएम के जिला प्रबंधक अतिंद्र सिंह का कहना है कि इस पॉइंट पर हमारा कोई कर्मचारी गंदगी नहीं फेंकता। हमने पहले ही इस बारे में मेयर को बोला हुआ है कि यह पॉइंट हमारी ओर से बंद है।

avneet helmet

वे वार्ड-11 की पार्षद कोमल सैनी की स्कूटी पर उनको साथ लेकर करीब चार घंटे तक शहर की सड़कों पर रही। उनको हर दो कदम पर कूड़े की ढेर मिले। श्री दिगंबर जैन मंदिर के पास कूड़ा पड़ा मिला। मेयर अवनीत कौर और पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह ने जेबीएम के सुपरवाइजर के बैग में कूड़ा भर दिया।

मेयर अवनीत कौर दोपहर बाद एक बजे स्कूटी पर शहर के बाजारों का निरीक्षण शुरू किया। उन्होंने सबसे पहले पालिका बाजार का निरीक्षण किया। यहां से प्रेम मंदिर वाली गली से होते हुए श्री दिगंबर जैन मंदिर के पीछे मुख्य गली में पहुंची। प्रेम मंदिर वाली गली में जगह-जगह कूड़े के ढेर मिले। दिगंबर जैन मंदिर के पीछे सेकेंडरी प्वाइंट पर करीब एक ट्राली कूड़ा मिला। स्थानीय लोगों ने कूड़ा उठान न होने पर नाराजगी जताई। मेयर अवनीत कौर और पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह ने जेबीएम के सुपरवाजइरों की जमकर खिंचाई की।

mayor bhupender

इसके बाद किला पर पहुंची। कंपनी ने उनके पहुंचने से पहले यहां से कूड़े का उठवा दिया। विदित है कि मेयर अवनीत कौर ने शपथ ग्रहण करते ही शहर में सफाई का निरीक्षण किया था। जेबीएम कंपनी ने श्री दिगंबर जैन मंदिर के पीछे सेकेंडरी प्वाइंट बंद करने का भरोसा दिया था। जेबीएम के सहयोगी ठेकेदार राजकुमार ने शहर के 26 वार्डों में डोर-टू-डोर कूड़ा उठान सोमवार से शुरू करने का दावा किया था। कंपनी शायद ही किसी वार्ड में इसको प्रमुखता के साथ शुरू कर पाई हो। वार्ड-9 की पार्षद मीनाक्षी नारंग के पति अशोक नारंग उनके साथ रहे।

garbage bag

पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह का कहना है कि जेबीएम कंपनी शहर में डोर-टू-डोर कूड़े का उठान नहीं कर रही। कंपनी ठीक से काम करें तो लोगों को चौक-चोराहों पर कूड़ा नहीं डालना पड़े। अधिकारी कंपनी पर कोई सख्त कार्रवाई नहीं कर रहे। शहर से हर महीने कूड़ा उठान के नाम पर कंपनी को करोड़ों रुपये दे दिए जाते हैं। मुझे कंपनी के सुपरवाइजर के बैग में कूड़ा डालने में कोई ग्लानि महसूस नहीं हुई। यह सब कंपनी और अधिकारियों को शर्म महसूस कराने के लिए किया गया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *