Connect with us

Cities

मेयर के खिलाफ पार्षदों का मोर्चा, नगर निगम में भ्रष्टाचार को शह देने का आरोप Panipat News

Published

on

पार्षदों ने जेबीएम कंपनी के बहाने मेयर अवनीत कौर और उनके पिता पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। नगर निगम में हो रहे भ्रष्टाचार को शह देने और शहर में सफाई व्यवस्था चौपट होने का ठीकरा भी मेयर के सिर फोड़ा है। लामबंद पार्षदों ने कहा कि अब हर घर से 50 रुपये प्रतिमाह की पर्ची नहीं कटने दी जाएगी। बैठक में कुछ महिला पार्षदों के पति भी शामिल रहे।

50 लाख प्रतिमाह बढ़ जाता बजट

शाम 6 बजे मॉडल टाउन स्थित मुल्तान भवन में हुई बैठक में वार्ड नंबर 25 के पार्षद दुष्यंत भट्ट ने कहा कि मेयर की स्कूटी जब भी शहर में घूमती है, नगर निगम का बजट 50 लाख रुपये प्रति माह बढ़ जाता है। जेबीएम कंपनी ठीक से काम नहीं कर रही है। मेयर और उनके पिता चुनाव से पहले घरों से कटने वाली 50 रुपये प्रतिमाह की पर्ची का विरोध करते थे, अब दबाव बनाते हैं कि पर्ची कटवाओ।

मेयर के खिलाफ पार्षदों का मोर्चा, नगर निगम में भ्रष्टाचार को शह देने का आरोप Panipat News

पार्षदों से नहीं ले रहे संतुष्टि पत्र

पार्षद लोकेश नांगरू ने कहा कि वाडरें में साफ-सफाई ठीक से हो रही है अथवा नहीं, पहले पार्षद से संतुष्टि पत्र लिया जाता था, अब नहीं लिया जा रहा है। कंपनी मनमानी कर रही है। इससे लगता कि मेयर और उनके पिता भी जेबीएम के अधिकारियों से सांठगांठ कर चुके हैं।

भ्रष्टाचार में मेयर की शह

पार्षद अंजलि शर्मा के पिता हरीश शर्मा ने कहा कि नगर निगम में जिस कदर भ्रष्टाचार बढ़ा है, अधिकारी बेलगाम हुए हैं, उससे लगता है कि उन्हें मेयर की शह मिल रही है।

पार्षदों की आवाज, नहीं उठ रहा कूड़ा

पार्षद अशोक कटारिया ने कहा कि शहर से सुबह 10 बजे से पहले गंदगी उठाने का दावा कंपनी ने किया था, दोपहर दो बजे तक भी बाजारों से कूड़ा नहीं उठाया जाता। उन्होंने कहा कि यह आवाज एक की नहीं बल्कि सभी पार्षदों की है।

आरोप लगाने और उन्हें साबित करने में जमीन-आसमान का अंतर है। मैंने किसी ठेकेदार, किसी अधिकारी से एक रुपया भी लिया तो साबित करें। जेबीएम को डेढ़ साल पहले एक रुपया प्रति किलोग्राम कचरा के हिसाब से भुगतान किया जाता था, आज भी उतना ही है। जब पर्ची नहीं कटवाने की बात थी तब जेबीएम का वर्क 20 फीसद भी नहीं था, अब 75 फीसद से अधिक है। मासिक शुल्क एग्रीमेंट में लिखा है।

-भूपेंद्र सिंह, पूर्व मेयर।

पार्षदों की बैठक के बारे में मुङो कुछ पता नहीं है। शहर की सफाई के लिए हर समय खड़ी रहती हूं। पार्षदों को किसी तरह नाराजगी है तो वे कार्यालय में आकर मुझसे प्रश्न करें। उनके सारे प्रश्नों का जवाब देने के लिए तैयार हूं। छोटी-छोटी बातों पर इस तरह से इकट्ठे होंगे तो निगम सदन कमजोर होगा। मुझ पर लगाए गए सारे आरोप निराधार हैं।

-अवनीत कौर, मेयर।

आमसभा में रखेंगे मुद्दे

पार्षदों ने एकमत कहा कि जल्द ही आमसभा बुलाएंगे। उसमें सभी मुद्दों को रखा जाएगा। इसके बाद सीएम मनोहर लाल से समय लेकर उनसे मिलेंगे। पार्षदों ने आरोप लगाया कि मेयर अवनीत कौर और पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह शहर विधायक प्रमोद विज और सांसद संजय भाटिया को भी बरगला रहे हैं।

प्रॉपर्टी टैक्स में गड़बड़ी करने का आरोपित क्लर्क सस्पेंड

प्रॉपर्टी टैक्स में गड़बड़ी करने के आरोप में विभाग ने नगर निगम क्लर्क जो¨गद्र को सस्पेंड कर दिया है। उच्चाधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है। आउटसोर्सिंग वाले दो अन्य कर्मचारी भी हटाए जाएंगे। मेयर अवनीत कौर ने बीते छह फरवरी को पत्रकार वार्ता कर एक उद्यमी के प्रॉपर्टी टैक्स को गलत तरीके से कम करने का आरोप लगाया। संयुक्त आयुक्त की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई थी। मामले का खुलासा होने के बाद कर्मचारियों ने पल्ला झाड़ते हुए इसे क्लेरिकल मिस्टेक बताया था।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *