Connect with us

चंडीगढ़

मौसम ने फिर ली करवट, 14 मार्च तक बारिश के आसार, किसान बिल्कुल न करें ये काम

Published

on

Advertisement

मौसम लगातार करवट बदल रहा है। कई जगह बूंदाबांदी हुई। कभी बरसात तो कभी तेज धूप खिल जाती है। इससे किसानों की बेचैनी बढ़ गई। इस समय बरसात हुई तो किसानों को नुकसान झेलना पड़ेगा। क्योंकि गेहूं की फसल पर बालियां आ रही हैं। बारिश से बालियों पर आया बूर झड़ जाएगा। मार्च में जब भी 20.0 एमएम से ज्यादा बरसात हुई है तो गेहूं को नुकसान हुआ है। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में मौसम साफ रहेगा, लेकिन 14 मार्च को तेज बरसात के साथ ओलावृष्टि हो सकती है।

Rain-in-Punjab Onlineindus 600

Advertisement

अधिकतम तापमान 24.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 2.0 डिग्री कम रहा। इसी प्रकार न्यूनतम तापमान भी सामान्य 3.0 डिग्री कम 10.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह के समय नमी की मात्रा 75 फीसद दर्ज की गई जो शाम को घटकर 49 फीसद रह गई। हवा 4.2 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली।

Related image

demo pic

मार्च बरसात हुआ भारी नुकसान

Advertisement

मौसम विभाग की मानें तो वर्ष 2014 में मार्च माह में 51.6 एमएम बरसात दर्ज की गई थी। वर्ष 2015 में 127.6 एमएम दर्ज की गई थी। इसी प्रकार वर्ष 2016 में 46.5 एमएम बरसात दर्ज की गई थी। कृषि विभाग के मुताबिक मार्च माह में जब भी 20.0 एमएम से अधिक बरसात हुई है गेहूं के लिए नुकसानदायक रही है। उपरोक्त तीनों सालों में गेहूं की फसल को भारी नुकसान हुआ था। 2014 में 20 से 25 प्रतिशत, 2015 में 40 फीसद व 2016 में 25 फीसद नुकसान हुआ था। मौसम विभाग ने 14 मार्च को भी तेज बरसात की संभावना जताई है।

Advertisement

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *