Connect with us

पानीपत

यहाँ कल शाम आई ऐसी आँधी, दर्जनों पेड़ उखड़े, खम्बे उखड़े… उड़ गई खटिया ताऊ की

Published

on

जून के प्रथम सप्ताह में 45 किलोमीटर की स्पीड से आए आंधी तूफान ने भारी नुकसान किया है। चंदौली गांव में पोल्ट्री फार्म का गोदाम का शेड उड़ गया। बिजली के 50 के करीब खंभे टूट गए। दर्जनों पेड़ उखड़ गए। आधे शहर और दर्जनों गांव की दोपहर को गुल हुई बिजली देर शाम तक नहीं बहाल हुई। हालांकि, कई जगह ओलावृष्टि से गर्मी से आंशिक राहत जरूर मिली।

बृहस्पतिवार सुबह मौसम ने करवट ली। सुबह ही आसमान में बादल छाने के साथ कई जगह बौछारें हुई। इसके बाद तेज धूप ने पसीना से तर-बतर कर दिया। दोपहर बाद 2:48 बजे तेज आंधी और तूफान आया। सनौली सहित कई जगह ओलावृष्टि शुरू हो गई। शहर के पूर्व हिस्से में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। करीब पांच मिनट तक ओलावृष्टि रही। मौसम विशेषज्ञों ने अगले 24 घंटे आंधी या तेज हवा के साथ बूंदाबांदी होने का अनुमान जताया है। अधिकतम तापमान 43 और न्यूनतम 26 डिग्री सेल्सियस रहा। पोल्ट्री फार्म के स्टोर की छत उड़ी

Image result for गुल हुई बिजली

चंदौली गांव के अशोक ने बताया कि गांव में उनके पिता श्रीराम के नाम पोल्ट्री फार्म है। उन्होंने गांव में ही पोल्ट्री फार्म के गोदाम का 32 गुना 200 फीट का शेड है। बृहस्पतिवार को तेज आंधी में शेड की छत उड़ गई। जिससे 20 ट्राली तूड़ा, पोल्टी का सामान, भट्ठी और फीड खराब हो गया। आंधी से भारी नुकसान हुआ है। देर शाम तक बिजली गुल रही

तेज तूफान में शहर समेत पूरे सर्कल की बिजली गुल हो गई। 33 केवी बाबरपुर, 33 केवी सेक्टर-13-17 व 33 केवी कुटानी रोड देर रात तक बिजली बंद रही। लघु सचिवालय 33 केवी के जंपर उड़ गए। जिसके चलते दोपहर को एक घंटे तक बिजली नहीं आई। स्थानीय लोग देर रात तक बिजली निगम में शिकायत करते रहे, लेकिन उनको आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिला। वर्जन :

आंधी तूफान के आने से काफी खंभे टूट गए। इनको बदला जा रहा है। बिजली को सुचारु करने का प्रयास किया जा रहा है। मध्य रात तक सामान्य होने की उम्मीद है। टूटे खंभों की रिपोर्ट जल्द ही उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी।

पीके गोयल, एसई, बिजली निगम।

source jagran

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *