Connect with us

पानीपत

सत्यानाश कर दिया फ़ोन ने, कानो में ईयरफ़ोन लगा चला रहा था जेसीबी… लापरवाही

Advertisement  युवक की जरा सी लापरवाही ने महिला की जान ले ली। बेटी से मिलने की ख्वाहिश को वह अपने आंचल में समेटे इस दुनिया से अलविदा हो गई। बचाने के लिए लोग चिल्लाते रहे। दौड़े भी। तब तक जेसीबी से युवक ने उसके शरीर के कई हिस्से को रौंद दिया। जेसीबी चालक ईयरफोन लगाए […]

Published

on

Advertisement

 युवक की जरा सी लापरवाही ने महिला की जान ले ली। बेटी से मिलने की ख्वाहिश को वह अपने आंचल में समेटे इस दुनिया से अलविदा हो गई। बचाने के लिए लोग चिल्लाते रहे। दौड़े भी। तब तक जेसीबी से युवक ने उसके शरीर के कई हिस्से को रौंद दिया। जेसीबी चालक ईयरफोन लगाए था और इसी लापरवाही ने महिला को मौत के मुंह में ढकेल दिया।

विद्यानंद कॉलोनी में ईयरफोन लगा जेसीबी चला रहे चालक ने एक महिला को कुचल दिया। जेसीबी के पंजे की चपेट में आने से महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। पेट का अधिकांश हिस्सा जख्मी हो गया। जेसीबी के दबाव के कारण जांघ भी हड्डी भी टूट गई। महिला ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

Advertisement

जेसीबी के पीछे के पंजे में दबी थी महिला

Advertisement

लोगों के चिल्लाते रहे, लेकिन आरोपित चालक जेसीबी चलाता रहा। भीड़ जुटती देख पीछे महिला को जेसीबी के पंजे के नीचे दबा देखा तो चालक जेसीबी छोड़कर मौके से फरार हो गया। परिजनों ने घायल महिला को उपचार के लिए सामान्य अस्पताल पहुंचाया। जहां से चिकित्सकों ने उसे मेडिकल कॉलेज खानपुर रेफर कर दिया। महिला ने रास्ते में दम तोड़ दिया।

demo pic

बेटी से मिलने जा रही थी

Advertisement

विद्यानंद कॉलोनी के नफीस ने बताया कि उसकी मां नफीसा (65) उसकी बहन राशिदा के पास जा रही थी। वह शंभू फैक्ट्री के पास पहुंची ही थी कि सीवर लाइन की खुदाई कर रहे चालक ने जेसीबी चला दी।

गैर इरादतन ह’त्या का केस

नफीसा जेसीबी के पीछे से निकलने लगी तो चालक ने पिछला पंजा चला दिया। उसकी मां जेसीबी की चपेट में आकर नीचे गिर गई। जांच अधिकारी एएसआई सुभाष चंद ने बताया कि आरोपित जेसीबी चालक के खिलाफ गैर-इरादतन ह’त्या का केस दर्ज कर लिया है।

कानों में ईयरफोन नहीं होती तो बच सकती थी जान

घटना के दौरान घटनास्थल पर काफी लोग मौजूद थे। नफीसा का पड़ोसी रफीक भी वहीं कुर्सी पर बैठा हुआ था। महिला के जेसीबी के पंजे की चपेट में आते ही लोगों ने शोर मचा दिया। चिल्ला कर चालक को जेसीबी रोकने की बात कही। लेकिन ईयरफोन में बज रहे गानों की आवाज के कारण उसे लोगों की आवाज तक सुनाई नहीं दी। लापरवाह चालक ने जेसीबी का पिछला पंजा चला दिया

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *