Connect with us

करनाल

सीएम मनोहर की नाक के नीचे हुआ बड़ा घोटाला, पूरे करनाल जिले में जाँच का जाल

Published

on

करनाल में पकड़े गए आटा घोटाले के तारे पूरे जिले से जुड़े हुए हैं। मुनाफा चोखा होने के कारण इसको मार्केट में बेचने से गुरेज नहीं करते। अब यह डिपो होल्डरों से लेकर अधिकारियों की गले की फांस बन गया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने क्लियर कर दिया है कि आटा घोटाले में कसूरवार को बख्शा नहीं जाएगा। चाहे इसमें आम आदमी की संलिप्तता हो, डिपो होल्डर या अधिकारी हों। जांच रिपोर्ट में जो सामने आएगा तुरंत प्रभाव से कार्रवाई होगी।

इससे पहले भी आटा घोटाले के संदर्भ में सूचना मिली थी, जिसमें डीएफएससी को हटा दिया था, ताकि जांच प्रभावित न हो। इस मामले की जांच चल रही है। मामला सीधे तौर पर भ्रष्टाचार से जुड़ा होने के कारण डीएफएससी अनिल कुमार की तरफ से गठित की गई जांच टीम काे तीन फ्लोर मिलों का 308 क्विंटल आटा मिला है। इन मिलों का आटा किस-किस डिपो होल्डर के पास जाता था, उनकी जांच शनिवार को होगी और लाभार्थियों के भी बयान दर्ज किए जाएंगे। दूसरी तरफ, पुलिस की डिटेक्टिव स्टाफ आरोपी आटा चक्की संचालक विजय कुमार वासी सेक्टर-16 को गिरफ्तार करने के लिए रेड कर रही है।

CM Manohar Lal said that accused will not be spared

पुलिस के डिटेक्टिव स्टाफ के इंस्पेक्टर विरेंद्र सिंह राणा ने बताया कि इसमें आरोपी के पकड़े जाने से क्लियर होगा कि किन-किन डिपो होल्डरों से राशन किस रेट में लिया है। कितने टाइम से इस खेल में शामिल है और खाद्य एवं आपूर्ति के अधिकारियों से संपर्क था या नहीं, सहित अनेक सवालों का आधार बनाकर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। करनाल में पकड़े जा रहे आटा घोटाले से सरकार को इस प्रोजेक्ट को बंद करना पड़ सकता है, क्योंकि लाभार्थियों को अच्छी क्वालिटी का आटा नहीं मिलता। आटे में कीड़े और कंकरीट भी मिलते हैं। इस भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए पब्लिक के बैंक खाते में ही इस राशन की अमाउंट डाल देनी चाहिए।

पैकिंग बदलकर गरीबों का आटा बेचा जा रहा, इस तरह हो रहा घोटाला Panipat news

3 फ्लोर मिलों का आटा जिन डिपो पर जाता था उनकी होगी जांच :
जांच कमेटी के इंचार्ज डीएफएसओ सुरेंद्र अरोड़ा ने बताया कि श्री जीजी ग्रेन प्रोडक्ट कंबोपुरा करनाल का 146 क्विंटल 20 किलोग्राम, गोल्ड ग्रेन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड राई का 36 क्विंटल 20 किलोग्राम, मुनि फ्लोर मिल्स का 72 क्विंटल 75 किलोग्राम आटा मिला है। इन फ्लोर मिलाें का आटा जिन-जिन डिपो होल्डरों पर भेजा जाता है, उनकी जांच शनिवार से शुरू करेंगे। इस दौरान विदाउट मार्का के भी 1 क्विंटल 5 किलोग्राम आटा मिला है। जिस आटा चक्की से सरकारी आटा बरामद किया है उस आटा चक्की के बारे में पहले भी सरकारी माल खरीदने की सूचना पहुंचती थी। टीम ने दो बार रेड इसी चक्की पर की थी, लेकिन गाड़ी चालक फरार हो जाता था। इसके अलावा अन्य आटा चक्की पर भी इस तरह से सरकारी माल बिकता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *