Connect with us

Cities

हरियाणा / गुड़गांव में सबसे ज्यादा 8, सोनीपत में 2 समेत प्रदेश में अब तक 13 पॉजिटिव केस, 7117 सर्विलांस पर रखे

Published

on

पानीपत ।राज्य में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। प्रदेश में तीन और नए केस सामने आने के बाद हरियाणा में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 13 पर पहुंच गई है। अब तक सबसे ज्यादा केस गुड़गांव में आठ हो चुके हैं। रविवार को गुड़गांव में दो और सोनीपत में एक पॉजिटिव केस सामने आया है, जबकि पानीपत, पंचकूला और फरीदाबाद में एक-एक केस पहले आ चुके हैं।
इधर, राज्य में अभी भी 7117 लोग सर्विलांस पर है। कुल 7733 लोगों में अब तक 616 का ही सर्विलांस का समय पूरा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से 24 घंटे में 24 लोगों के सैंपल और लिए गए हैं। अब तक कुल 256 सैंपलों में 131 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अभी भी 112 की रिपोर्ट का इंतजार है। प्रदेश में रविवार को दिनभर प्रदेश की जनता का कर्फ्यू रहा। इस दौरान इक्का-दुक्का व्यक्ति ही सड़क पर नजर आए। पूरा दिन सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। प्रदेश की लाइफ लाइन कहा जाने वाले चंडीगढ़-दिल्ली हाईवे भी सुनसान रहा। हरियाणा के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब पूरा प्रदेश बंद रहा है।

लॉकडाउन वाले 7 जिलों में 6 आईएएस को सौंपी जिम्मेदारी
जिन जिलों में लॉकडाउन किया गया है, वहां छह आईएएस को कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अधिकारियों में कॉर्डिनेशन करने और योजना बनाने के लिए लगाया गया है। इनमें आईएएस वीएस कुंडू को गुड़गांव, आनंदमोहन शरण को सोनीपत, विनीत गर्ग को पानीपत, दीप्ति उमाशंकर को पंचकूला, डी सुरेश को रोहतक व झज्जर और संजय जून को फरीदाबाद की जिम्मेदारी दी गई है।

मुख्यालय पर 2 कंट्रोल रूम बने, 3 आईएएस और 2 एचसी लगाए
सरकार ने अब दो स्तर पर कंट्रोल रूम बना दिए हैं। मुख्य सचिव के कंट्रोल रूम में आईएएस टीसी गुप्ता व एसएस फूलिया के साथ एचसीएस संवर्तक सिंह व रोहित यादव को तैनात किया गया है। जबकि एसीएस हेल्थ के कंट्रोल रूम में आईएएस विकास गुप्ता को लगाया गया है। ये अधिकारी कोरोना वायरस से बचाव को लेकर प्लानिंग करने के साथ पूरे प्रदेश में कॉर्डिनेशन और मॉनिटरिंग करेंगे। नई एक्टिविटी को लागू कराने की जिम्मेदारी भी इनकी होगी।

जरूरी सेवा वालों को छोड़ बाकी में 50 % कर्मचारी ही आएंगे दफ्तर
राज्य सरकार ने तय किया है कि विभागों में साप्ताहिक रोस्टर प्रणाली के तहत 50 फीसदी कर्मचारी ही काम करेंगे। इनमें पहले उन कर्मचारियों को बुलाया जाएगा, जो या तो आॅफिस के पास रहते हैं या फिर अपने वाहन से आते हैं। हालांकि इस निर्णय से सरकार ने मुख्य सचिव कार्यालय के साथ रेवन्यू, स्वास्थ्य, गृह विभाग, कृषि विभाग, पंचायती राज, पब्लिक हेल्थ, बिजली, सिंचाई, नगर निकाय, मेडिकल एजुकेशन, आईटी, कॉपरेशन, फाइनेंस, एक्साइज एंड टेक्सेशन, इन्फोर्मेशन एंड पब्लिक रिलेशन और फूड एंड सप्लाई विभाग को शामिल नहीं किया है। इन विभागों में सभी कर्मचारियों को कार्यालय अाना होगा। जिन विभागों में 50 फीसदी कर्मचारी घर पर रहेंगे, वे सोशल मीडिया या अन्य जरिए से लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरुक करेंगे। उन्हें हर दिन सीएस ऑफिस में इसकी रिपोर्ट भी भेजनी होगी। सरकार ने अधिकारियों व कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंस के लिए भी कहा है। साथ ही दफ्तरों में आने वाले बाहरी व्यक्तियों की स्क्रिनिंग करने के भी आदेश दिए हैं।

जानिए… जिलों में कहां कितने लोगों को सर्विलांस पर रखा, कितनों के सैंपल लिए

गुड़गांव : नागरिक अस्पताल की एक डॉक्टर समेत दो की रिपोर्ट पॉजिटिव
गुड़गांव में कोरोना वायरस से पीड़ित पेशंट की संख्या बढ़कर आठ हो गई। शनिवार को नागरिक अस्पताल की एक डाॅक्टर को पीजीआई रोहतक ने जांच के बाद पॉजिटिव घोषित कर दिया था। वहीं, रविवार को पुणे लैब ने भी डाक्टर को पॉजिटिव बताया है। 5 दिनों से सेक्टर-10 के अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से ग्रस्त पालम विहार निवासी भाई-बहन रविवार को फोर्टिस अस्पताल में शिफ्ट कर दिए गए।
सोनीपत : 1 महिला की सेहत में सुधार, चंडीगढ़ से आया युवक पॉजिटिव मिला
साेनीपत की पहली पॉजिटिव महिला की हालत में सुधार है। चंडीगढ़ दोस्त के साथ घूमकर आया युवक भी काेराेना पॉजिटिव मिला है। पहले भर्ती युवती का इलाज खानपुर मेडिकल काॅलेज के डाॅक्टर कर रहे हैं। इसका दूसरा टेस्ट किया ताे उसमें रिपाेर्ट नेगेटिव मिली। रविवार काे 5 संदिग्धाें के सैंपल लिए गए। यह विदेश से हाल में लाैटे थे।
कैथल : 13 संदिग्धों में 4 की रिपोर्ट निगेटिव, देखभाल न करने के आरोप
जिले के शहरों व ग्रामीण क्षेत्र में पूर्णतया बंद देखा गया। मंदिरों के कपाट भी बंद हैं। अब तक 13 संदिग्ध मरीज सामने आए हैं। रविवार को भी दो संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। अब तक 4 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी गई है। अस्पताल में भर्ती एक महिला मरीज ने आइसोलेशन वार्ड में सही देखभाल न होने की बात कही।
कुरुक्षेत्र : 1 महिला आइसोलेशन में, दमकल ने किया शहर सेनेटाइज
पेट्रोल पंप और दवा की दुकानें खुली रही, सभी तीर्थ स्थल बंद रहे। कुछ शराब ठेके खुले थे, जिन्हें पुलिस ने बंद करवाया। शहर में पुलिस प्रशासन ने दमकल की गाड़ियों के साथ सेनेटाइजेशन का काम किया। इटली से लौटी एक महिला को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया और जांच के नमूने भेजे हैं। इसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है।
हांसी और नारनौंद : 41 लोगों को किया होम क्वारेंटाइन, 3 दिल्ली में
प्रशासन ने हांसी और नारनौंद में 41 लोगों को होम क्वारेंटाइन किया। इनमें 8 महिलाएं और युवतियां शामिल हैं। 2 इंडोनेशिया व अन्य नेपाल से लौटे हैं। नेपाल और आसपास घूमने के लिए गए 3 लोगों के संदिग्ध पाए जाने पर दिल्ली में निगरानी में रखा है। यहां 41 लोगों को होम क्वारेंटाइन किया गया है। नारनौंद में 32 लोगों को क्वारेंटाइन एट होम किया गया है।
रेवाड़ी : 11 लोगों के सैंपल लिए, 8 की रिपोर्ट निगेटिव, 3 की बाकी
यहां 31 मार्च तक लॉकडाउन है। मेडिकल, बैंकिंग, खाद्य सामग्री, बिजली-पानी, गैस एजेंसी, पेट्रोल पंप जैसी सुविधाएं मिलेंगी, बाकी सभी बंद। इंडस्ट्री को भी बंद रखने के आदेश। अभी तक यहां 11 सैंपल लिए गए, 8 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 3 की रिपोर्ट आनी बाकी है। इधर, नारनौल में विदेश से लौटे और उनके संपर्क में रहे 46 लोगों को सर्विलांस पर रखा गया है।
रोहतक : 5 संदिग्ध पीजीआई में भर्ती, रविवार को 2 और संदिग्ध किए भर्ती
दो संदिग्ध मरीजों के सैंपल रविवार को जांच के लिए भेजे गए। वहीं, 5 संदिग्ध मरीज पीजीआई के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। इनको रिपोर्ट आने का इंतजार है। बहादुरगढ़ में 7 लोगों को घर में ही रहने के निर्देश दिए गए हैं। जनता कर्फ्यू के दौरान रोहतक और झज्जर पूरी तरह से बंद रहा।
करनाल : 17 मरीजों में 15 की रिपोर्ट नेगेटिव, दो की आने का इंतजार
एक कोरोना संदिग्ध भर्ती हुआ, यह बुजुर्ग महिला शहर की निवासी है। इसे आइसोलेट कर सैंपल खानपुर भेजा है। 17 मरीजों को भर्ती किया है, जिनमें से 15 के सैंपल की रिेपोर्ट नेगेटिव मिली है। अभी 2 मरीजों की रिपोर्ट आना बाकी है।
यमुनानगर : 171 लोग सर्विलांस पर
अभी तक 171 लोगों को स्वास्थ्य विभाग ने अंडर सर्विलांस पर लिया है। कोई भी पॉजिटिव केस नहीं आया है। रोडवेज की बसें और ट्रेन सब बंद थीं।

करनाल | प्रदेशभर में जरूरी सेवाओं में जुटे कर्मचारियों को सम्मान देने के लिए पुलिस लाइन में शाम 5 बजे अपने घरों की छत और गेट पर खड़े होकर घंटियां और तालियां बजाते पुलिस कर्मचारियों के परिजन।
करनाल | प्रदेशभर में जरूरी सेवाओं में जुटे कर्मचारियों को सम्मान देने के लिए पुलिस लाइन में शाम 5 बजे अपने घरों की छत और गेट पर खड़े होकर घंटियां और तालियां बजाते पुलिस कर्मचारियों के परिजन।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *