Connect with us

जींद

हरियाणा पुलिस की इस घटिया करतूत को लेकर देशभर थू-थू हो रही है

Published

on

उचाना के खापड़ गांव में बरसोला माइनर से उचाना थाना पुलिस को सुरेश (&0) का शव मिला। पुलिस ने शव को परिजनों को सौंपने के बजाय दूसरे थाना क्षेत्र के अंतर्गत बालसमंद माइनर में फेंक दिया। परिजन जब उचाना थाने में गए तो पुलिस दो दिन तक उनको गुमराह करती रही। परिजनों के दबाव बनाने के बाद शव हिसार के गांव खरकड़ी में बालसमंद माइनर से बरामद किया गया। मामला संज्ञान में आते ही एसएसपी अश्विन शैणवी ने पांच पुलिस कर्मियों को सस्पेंड करते हुए एक एसपीओ को बर्खास्त कर दिया। एसपी ने पांचों पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं।

परिजनों के अनुसार  7 जुलाई को सुरेश अपने दोस्त अनिल, विष्णु के साथ बरसोला माइनर में नहाने के लिए गया था। जब सुरेश नहा रहा था तो अनिल और विष्णु कुछ खाने का सामान लेने के लिए चले गए। वापस आए तो सुरेश वहां पर नहीं मिला। बाद में जब आसपास के गांव में सुरेश की तलाश कर रहे थे तो पता चला कि 8 जुलाई को गांव बड़ौदा में माइनर में एक शव मिला था। रेलवे फाटक कर्मी ने इस बारे में उचाना थाने को सूचना दी। दो पुलिसकर्मी वहां पर पहुंचे और शव को निकालने का प्रयास किया।

Image result for Director general of police

साथ ले गए थे शव
तीन पुलिसकर्मी और पहुंचे और ग्रामीणों की मौजूदगी में शव निकालकर पिकअप में ले गए। जब परिजनों ने रेलवे फाटक पर जाकर पता किया तो उसके बताए हुलिये के हिसाब से सुरेश का ही शव होने की पुष्टि हुई। इसके बाद परिजनों ने उचाना थाने में जाकर शव के बारे में पूछताछ की, लेकिन अगले दिन आने की बात करते रहे। अगले दिन परिजन थाने में गए, लेकिन पुलिस ने कोई जवाब नहीं दिया।

हिसार में मिला
मृतक के भाई राजबीर ने बताया कि 9 जुलाई को थाना प्रभारी राजपाल ने दो लोगों को बुलाकर बताया कि सुरेश का शव हिसार जिले के गांव खरकड़ी में बालसमंद माइनर में मिला है। जब परिजन वहां पर गए तो शव सुरेश का मिला। इसके बाद परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ रोष जताया तो पुलिसकर्मियों ने परिजनों के सामने कहा कि शव अज्ञात होने के कारण उनके लिए सिरदर्द बन सकता है। इसलिए उन्होंने शव को हिसार के खरकड़ी गांव में बालसमंद माइनर में डाल दिया।

इन पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज
एसएसपी अश्विन शैणवी ने इस मामले में उचाना थाने में कार्यरत एएसआइ जयबीर, एएसआइ धर्मबीर, हवलदार राजेश व मैनपाल और ईएचसी राजेश को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही एसपीओ रमेश कुमार को बर्खास्त कर दिया है। इसके अलावा विभागीय जांच करने के आदेश दिए है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: बुरी नज़र वाले तेरा मुँह कला