Connect with us

विशेष

हाईवे पर खुदाई के दौरान निकला सोने-चांदी का खजाना, वायरल हो गईं तस्वीरें, आपने देखी क्या?

Advertisement ऑल वेदर रोड की खुदाई के दौरान बदरीनाथ हाईवे पर खुदाई में दस टन सोना और चांदी का खजाना निकल आया। देखिए… सोशल मीडिया में यह मैसेज चल रहा है कि ऋषिकेश और रुद्रप्रयाग के बीच हाईवे के काम में खुदाई के दौरान 10 टन सोना मिला है। इसके साथ कुछ फोटो भी पोस्ट […]

Published

on

Advertisement

ऑल वेदर रोड की खुदाई के दौरान बदरीनाथ हाईवे पर खुदाई में दस टन सोना और चांदी का खजाना निकल आया। देखिए…

सोशल मीडिया में यह मैसेज चल रहा है कि ऋषिकेश और रुद्रप्रयाग के बीच हाईवे के काम में खुदाई के दौरान 10 टन सोना मिला है। इसके साथ कुछ फोटो भी पोस्ट की जा रही है। वहीं, अधिकारियों ने अफवाह बताया। वर्तमान में ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग का ऑल वेदर रोड परियोजना में चौड़ीकरण कार्य चल रहा है।

Advertisement

पिछले माह सोशल मीडिया में परियोजना के संबंध में अफवाह फैली थी कि 2 मार्च से 20 मार्च तक चौड़ीकरण कार्य की वजह से सड़क कौडिय़ाला से देवप्रयाग के बीच बंद रहेगी। सोशल मीडिया में अतिसक्रिय रहने वाले लोगों ने यह पोस्ट फेसबुक और व्हाट्सएप पर धड़ाधड़ शेयर कर दी। जिससे अन्य लोग परेशान हो गए थे। जिसका जवाब देते-देते लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के अधिकारी थक गए।

Advertisement

अब एक-दो दिन से फिर एक और मैसेज सोशल मीडिया में शेयर हो है। इसमें फोटो अपलोड कर लिखा गया है कि हाईवे पर खुदाई के दौरान 10 टन सोना मिला है। जबकि हकीकत कुछ और है। पोस्ट के जो फोटो अपलोड की गई हैं, वह कुछ साल पूर्व अमरीका, ग्रेट ब्रिटेन और स्पेन की हैं। जहां खुदाई के दौरान सोने-चांदी के सिक्के और प्राचीन बर्तन मिले थे। लेकिन किसी इन फोटो एक साथ जोड़कर बदरीनाथ हाईवे की खुदाई का बताते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

Advertisement

यह भी जानकारी मिली है कि सोशल मीडिया में कुछ समय पूर्व मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में भी यही पोस्ट वायरल हुई थी। जिसमें पोस्ट किया गया था कि उक्त फोटो उक्त प्रदेशों में सड़क की खुदाई की हैं।

ऐसा कुछ नहीं है। खुदाई के दौरान कहीं भी सोने या चांदी का जखीरा नहीं मिला है। सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ाई गई है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *