Connect with us

पानीपत

किशनपुरा पार्क घोटाले की जांच के लिए दिया 10 दिन का टाइम खत्म, पर जांच शुरू ही नहीं

Published

on

Spread the love

किशनपुरा पार्क घोटाले की जांच के लिए दिया 10 दिन का टाइम खत्म, पर जांच शुरू ही नहीं

 

वार्ड-15 के किशनपुरा में रेलवे लाइन किनारे वाले पार्क निर्माण में हुए करीब 1 करोड़ के घोटाले की जांच करने के लिए गठित की गई टीम को दिए 10 दिन खत्म हो गए हैं। नगर निगम कमिश्नर सुशील कुमार ने घोटाले की जांच करने के लिए पब्लिक हेल्थ के एक्सईएन राजेश कौशिक के नेतृत्व में 4 सदस्यीय टीम गठित कर 10 दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे। यह स्पेशल टीम 4 सितंबर को गठित की गई थी। टीम को दिया गया समय 14 सितंबर को पूरा चुका है। अब तक विशेष टीम ने जांच तक शुरू नहीं की है।

 

भ्रष्टाचार को दबाने में जुटे हैं नगर निगम अधिकारी
पार्षद सुमन छाबड़ा, भारतीय जनता पार्टी के नेता अशोक छाबड़ा, किशनपुरा निवासी सुमित, हरचरण दास, संजीव सैनी व अनिल सैनी का कहना है कि पार्क निर्माण के लिए 2018 में 49.69 और 49.69 लाख रुपए के 2 टेंडर जारी हुए थे। ठेकेदार ने आज तक भी टेंडर के तहत काम पूरे नहीं किए हैं, जबकि अधिकारियों ने ठेकेदार को पूरी पेमेंट कर रखी है। अब मामला उजागर होने के बाद ठेकेदार अपने कारिंदों को भेजकर झूले व ओपन जिम लगाने का प्रयास कर रहा है। गुरुवार की रात में भी चोरी छिपे ठेकेदार के कारिंदे एक झूला लगा गए। इतनी बातें सामने आने के बाद भी भ्रष्टाचार करने वाले नगर निगम अधिकारियों के खिलाफ काेई कार्रवाई नहीं हो रही है।

एक्सईएन कोरोना पॉजिटिव होने के कारण लेट हो रही है जांच : एक्सईएन

नगर में कार्यरत एक्सईएन प्रदीप कल्याण कोरोना पॉजीटिव हो गया है। यह पार्क उसी के समय में बनाया गया है। जब तक वह ठीक नहीं जाते, तब तक जांच कैसे शुरू करें। उनको साथ लेकर जांच करनी है। जैसे ही वे ठीक होंगे, जांच शुरू कर देंगे। – राजेश कौशिक, एक्सईएन, पब्लिक हेल्थ एवं जांच अधिकारी।