Connect with us

राज्य

150 स्कूली बच्चे कोरोना संक्रमित, गुर्जर ने कहा कोई खास बात नहीं, विज बोले सख्त कदम उठाएंगे

Published

on

Advertisement

150 स्कूली बच्चे कोरोना संक्रमित, गुर्जर ने कहा कोई खास बात नहीं, विज बोले सख्त कदम उठाएंगे

हरियाणा के रेवाड़ी और जींद जिलों के स्कूलों में करीब डेढ सौ बच्चे तथा एक दर्जन अध्यापकों के कोरोना पाॅजिटिव आने के बाद सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है। विपक्षी राजनीतिक दल कांग्रेस व इनेलो के नेताओं ने हरियाणा सरकार से स्कूल खोलने के फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग की है। विपक्ष के इस हमले के बाद शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर का बयान आया कि 14 हजार स्कूलों में दो चार केस तो आ ही जाते हैं। अभी स्कूल बंद करने का सरकार का कोई इरादा नहीं है।

Advertisement

रणदीप सुरजेवाला, कुमारी सैलजा, विवेक बंसल व  अभय चौटाला ने सरकार को घेरा

कंवरपाल गुर्जर के इस बयान के बाद मंत्री भी विपक्ष के निशाने पर आ गए। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सरकार का बचाव करते हुए मोर्चा संभाला और कहा कि एहतियात के लिए जो भी जरूरी कदम होंगे, वह उठाए जाएंगे। इसके लिए जरूरत के हिसाब से स्कूल बंद करने तक का फैसला लिया जा सकता है। मगह किसी भी फैसले से पहले समीक्षा होगी। विज ने कोरोना से बचाव तथा एहतियात के लिए अधिकारियों की बुधवार को बैठक भी ली।

Advertisement

हरियाणा में कोरोना वायरस फिर तेवर दिखा रहा है। (फाइल फोटो)

हरियाणा के रेवाड़ी, जींद व अन्य जिलों में अब तक करीब 150 स्कूली बच्चे कोरोना पाॅजिटिव हो चुके हैं। स्कूलों में कोरोना पाॅजिटिव बच्चों व अध्यापकों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। इस मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि क्या सीएम व शिक्षा मंत्री ने इसका संज्ञान लिया है। क्या सरकार स्कूलों में मास्क, सेनीटाइजर वितरण व फिजिकल डिस्टेंसिंग की अनुपालना करा रही है। सुरजेवाला ने ट्वीट के माध्यम से सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि सीएम बताएं संक्रमण कैसे रूकेगा और सरकार की क्या नीति है?

Advertisement

 

इस बीच हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस ने स्कूल खोलने के फैसले पर हरियाणा सरकार को चेताया था, लेकिन सरकार ने हमारी आवाज को अनसुना कर दिया। सैलजा ने कहा कि अब इतनी बड़ी संख्या में बच्चों का कोरोना संक्रमित होना चिंता का विषय है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल को स्कूल खोलने के फैसले पर तुरंत पुनर्विचार करना चाहिए।

हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी विवेक बंसल ने स्कूली बच्चों के कोरोना संक्रमित होने पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार का यह फैसला बेहद नासमझी से भरा है। देश-विदेश के तमाम बड़े मेडिकल संस्थानों की कोरोना की दूसरी लहर की चेतावनी के बावजूद स्कूल खोलने का निर्णय हरियाणा के बच्चों को जानबूझकर खतरे में डालना जैसा है।

 

इनेलो महासचिव एवं विधायक अभय चौटाला ने स्कूल खोलने के फैसले पर पुनर्विचार की मांग करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने बच्चों की जान को जोखिम में डाल दिया है। प्रदेश के स्कूलों में लगातार कोरोना पाॅजिटिव केस आ रहे हैं। सरकार को तुरंत बैठक बुलाकर इस संबंध में फैसला लेना चाहिए।

 

‘अभी स्कूल बंद करने की नौबत नहीं’

” जिन जिलों में कोरोना पाजिटिव केस आए हैं वहां के जिला शिक्षा अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई है। इसके अलावा सरकार पहले ही सभी अध्यापकों को निर्देश जारी कर चुकी है कि वह कोरोना जांच करवाने के बाद ही स्कूल में आएं। अभी स्कूलों को बंद करने की नौबत नहीं आई है। बच्चों के अभिभावकों को भी चाहिए कि वह बच्चों को मास्क व सेनीटाइजर के इस्तेमाल की आदत डालें। अभी स्थिति नियंत्रण में है। फिर भी इसका नियमित रिव्यू किया जा रहा है।

कंवरपाल गुर्जर, शिक्षा मंत्री, हरियाणा।

 

‘सख्त कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे’

” कोरोना से बचाव के तरीकों का और सख्ती से पालन करना होगा क्योंकि अब जिंदगी और कोरोना से बचाव के तरीके भी साथ-साथ चलेंगे। अगर सरकार को सख्त कदम उठाने पड़े तो सरकार उससे भी पीछे नहीं हटेगी। रणदीप सुरजेवाला सरीखे नेता बच्चों और उनके अभिभावकों में डर पैदा कर रहे हैं। हमने कांग्रेस को कोई जवाब नहीं देना। यह लोग तो हमेशा असली मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने का काम करते हैं। लेकिन हम समस्या के समाधान को लेकर गंभीर हैं।

– अनिल विज, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री, हरियाणा।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *