Connect with us

City

दिल्ली से करनाल रैपिड मेट्रो प्रॉजेक्ट में 17 स्टेशन हुए फ़ाइनल – Delhi Karnal RRTS

Published

on

दिल्ली से करनाल रैपिड मेट्रो प्रॉजेक्ट में 17 स्टेशन हुए फ़ाइनल - Delhi Karnal RRTS

हरियाणा सरकार के ड्रीम प्रोजेक्‍ट दिल्‍ली- करनाल रैपिड मेट्रो प्रोजेक्‍ट को लेकर बड़ी खबर आई है। अब रेलवे लाइन के साथ साथ नहीं बल्कि हाइवे किनारे ही दौड़ेगी रैपिड मेट्रो। पहले दिल्ली से करनाल तक रैपिड मेट्रो की लाइन रेलवे लाइन के साथ-साथ बिछाने की प्‍लानिंग थी।

Delhi-Karnal Rapid Metro Rail Line: दिल्‍ली-करनाल रैपिड मेट्रो रेल लाइन का काम जल्‍द शुरू होगा।

रैपिड मेट्रो के करनाल तक लाने के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट सिरे चढ़ने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। इस प्रोजेक्ट के तहत यह रैपिड मेट्रो को दिल्ली से करनाल तक रेलवे लाइन के साथ साथ लाने की योजना पर भी विचार हुआ था। लेकिन जनता की सहुलियत और अन्य बिंदुओं को देखते हुए इसे खारिज कर दिया। अब यह प्रोजेक्ट हाइवे के किनारे ही बनाया जाएगा। लिहाजा इससे लोगों को अधिक सहुलियत होगी।

Delhi Karnal Rapid Metro: दिल्‍ली करनाल रैपिड मेट्रो प्रोजेक्‍ट को लेकर बड़ी खबर, हाईवे किनारे दौड़ेगी मेट्रो, बनेंगे 17 रेलवे स्‍टेशन - KhabriExpress.com

करनाल के लिहाज से हाइवे के आसपास खासी आबादी है। यहां तक पहुंचने के लिए पड़ोसी जिलों के लोगों को भी आसानी होगी।अलबत्ता प्राथमिक स्तर पर इस प्रोजेक्ट को शुरू करने का कार्य भी पूरा हो गया है। ड्रोन सर्वे व पिलर लगाने के लिए मिट्टी जांच की प्रक्रिया पहले ही पूरी हो गई थी। पहले यह प्रोजेक्ट पानीपत तक था, लेकिन सीएम मनोहर लाल के प्रयासों से इसे करनाल तक विस्तार दिया गया।

हाइवे के साथ साथ ही आएगी रैपिड मेट्रो-कल्याण

घरौंडा के विधायक हरविंद्र कल्याण का कहना है कि इस प्रोजेक्ट के तहत रैपिड मेट्रो को रेलवे लाइन के साथ साथ लाने का पहलू भी सामने आया था, लेकिन यह सिरे नहीं चढ़ सका।

जनता की सहुलियत और अन्य बिंदुओं को देखते हुए इसे हाइवे के साथ साथ ही बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीएम के प्रयासों से ही करनाल तक यह प्रोजेक्ट आ रहा है। प्रदेश सरकार की ओर से इस प्रोजेक्ट को लेकर स्वीकृत मिल चुकी है। इस प्रोजेक्ट को लेकर तेजी से कार्य चल रहा है।

Delhi-Meerut RRTS: Here's how NCRTC is planning to revolutionize public transportation in NCR | The Financial Express

एक घंटे में पहुंच जाएंगे राजधानी

करनाल से दिल्ली तक पहुंचने के लिए बस या ट्रेन में ढाई घंटे तक लग जाते हैं। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद यही सफर महज एक घंटा कुछ मिनट में तय हो जाएगा। पिछले साल दिल्ली-पानीपत रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम आरआरटीएस को सरकार से मंजूरी मिल थी। हालांकि पहले यह प्रोजेक्ट दिल्ली से पानीपत तक था, लेकिन प्रदेश सरकार के प्रयासों से यह प्रोजेक्ट करनाल तक कर दिया गया।

 

इस कार्य के गति से होने की संभावना इस बात से भी है कि जब पहले दिल्ली से पानीपत तक का प्रोजेक्ट बना तो इसका कार्य तेजी से हुआ। स्टेशन व रूट तय हो गए थे और डीपीआर भी बन गई थी।

बलड़ी बाइपास, ऊंचा समाना व घरौंडा में बनेंगे स्टेशन

प्रोजेक्ट में दिल्ली से लेकर करनाल तक कुल 17 स्टेशन बनाए जाने प्रस्तावित हैं। करनाल जिले में पानीपत की ओर से आते हुए सबसे पहला स्टेशन घरौंडा में बनाया जाएगा।

First RRTS trainset handed over to NCRTC - Hindustan Times

इसके बाद ट्रेन में सवार होने के लिए एक स्टेशन ऊंचा समाना में बनाया जाएगा। जबकि तीसरा स्टेशन बलड़ी बाइपास के पास होगा। तीनों जगह ही हाइवे के साथ हैं। ऊंचा समाना स्टेशन का लाभ आसपास के ग्रामीणों को मिलेगा तो साथ हाइवे से होकर भी स्टेशन पर पहुंचा जा सकता है। जबकि बलड़ी बाइपास के स्टेशन नए बस स्टैंड के समीप होगा।

यहां दूसरे जिलों से बसों में आकर लोग दिल्ली जाने के लिए ट्रेन के सफर का आनंद ले सकेंगे। जबकि घरौंडा स्टेशन भी लोगों के लिए लाभदायक रहेगा।

छह से 10 मिनट में मिलेगी सर्विस

इस प्रोजेकट की खास बात यह है कि ट्रेन का लोगों को ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि छह से 10 मिनट के बीच में ट्रेन स्टेशन पर उपलब्ध होगी। एक बार ट्रेन में 250 लोग सवार हो सकेंगे।

 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.