Connect with us

विशेष

कोरोना से एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत, पिछले साल करोड़पति फैमिली के 6 लोगों ने गंवाई थी जान

Published

on

Advertisement

कोरोना से एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत, पिछले साल करोड़पति फैमिली के 6 लोगों ने गंवाई थी जान

 

 

Advertisement

 

कोरोना वायरस ने झारखंड के धनबाद में एक ही परिवार के पांच लोगों को लील गया है। ये सभी मौतें पिछले एक सप्ताह के भीतर हुई हैं। बताया जा रहा है कि एक-एक दिन के अंतराल पर परिवार के पांच लोग कोरोना की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं। पूरे परिवार के कोरोना से तबाह होने से इलाके में डर का माहौल है।

Advertisement

गोविंदपुर प्रखंड के बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के काशीटांड के इस परिवार में पांच लोगों की मौत के बाद प्रशासन ने पूरे इलाके को सील कर दिया है। प्रशासन का कहना है कि गांव में कई कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका है। कोई भी कदम उठाने के लिए गांव को सील किया जाना जरूरी था। यहां प्रशासन की ओर से जरूरत का सामान मुहैया कराया जाएगा। साथ ही विशेष टीम के जरिए लोगों की एक-एक कर जांच करने के साथ ही उनके उपचार का इंतजाम किया जा रहा है।

Corona

पिछली लहर में एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत
पिछले साल हुए कोरोना संक्रमण में झारखंड के धनबाद के ही करोड़पति परिवार के छह लोगों की मौत हो गई थी। उस घटना में एक बुजुर्ग महिला किसी शादी समारोह में गई थी, जिसके चलते उसमें कोरोना का संक्रमण हो गया था। बुजुर्ग की कोरोना से मौत के बाद उसे पांच बेटों की एक-एक कर जान चली गई थी। यह परिवार धनबाद जिले के कतरास के रहने वाले थे। आल यह था कि इस परिवार में परिजनों का श्राद्ध करने वाला भी कोई नहीं बचा था।

Advertisement

झारखंड में कल से लॉकडाउन
इस बार के कोरोना लहर में भी झारखंड को काफी नुकसान हो रहा है। पिछले 24 घंटे में झारखंड में करीब 35 लोगों की जान जा चुकी है। झारखंड सरकार ने राज्य में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कोरोना वायरस संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के नाम से लॉकडाउन लगाने का निर्णय मंगलवार को आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में लिया। उच्चस्तरीय बैठक में लिये गए निर्णय के तहत केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं निजी क्षेत्र के चिह्नित कार्यालयों को छोड़कर सभी कार्यालय बंद रहेंगे।

साथ ही आवश्यक सामग्री से जुड़ी दुकानों को छोड़कर शेष सभी दुकानें एवं माल बंद रहेंगे एवं आवश्यक कार्य को छोड़कर कोई भी घर से बाहर नहीं निकलेगा। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सरकार द्वारा सप्ताह भर के इस लॉकडाउन के संबन्ध में लिये गये निर्णय की जानकारी देते हुए बताया कि 22 अप्रैल को सुबह छह बजे से 29 अप्रैल सुबह छह बजे तक पूरे झारखंड में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह मनाया जायेगा।

उन्होंने साथ ही कहा कि इसके अलावा सार्वजनिक स्थानों पर पांच से अधिक लोगों को एकत्रित होने की छूट नहीं होगी, अर्थात् राज्य में धारा 144 का अनुपालन कराया जायेगा। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि लॉकडाउन के दौरान धार्मिक स्थल खुले रहेंगे लेकिन लोगों के निश्चित संख्या में वहां जाने पर नियमों के तहत प्रतिबन्ध होगा। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के विस्तृत नियम आज शाम तक जारी कर दिये जायेंगे

Advertisement