Connect with us

पानीपत

पानीपत में थाने से 500 मीटर दूर चाकू की नोक पर व्यापारी से लाखों रुपए लूटे

Published

on

Advertisement

पानीपत में थाने से 500 मीटर दूर चाकू की नोक पर व्यापारी से लाखों रुपए लूटे

 

पानीपत के चांदनी बाग थाने से करीब 500 मीटर दूर मित्तल मेगा मॉल के सामने नकाबपोश बदमाशों ने चाकू की नोक पर व्यापारी से 435000 रुपए लूट लिए। लूट के बाद बदमाश थाने की तरफ भागे। व्यापारी भी अपनी कार से शोर मचाता हुआ थाने पहुंचा। आरोप है कि बदमाशों को पकड़ने के स्थान पर पुलिस व्यापारी से ही पूछताछ करने में लगी रही। इतनी देर में बदमाश कहीं के कहीं निकल गए। चांदनी बाग थाने में केस दर्ज किया गया है।

Advertisement

सेक्टर-24 निवासी सुंदर गोयल की खन्ना रोड पर ल्यूबरीकेंट ऑयल की दुकान है। वह गुरुवार शाम को दुकान बंद करने के बाद अपनी कार से घर वापस लौट रहे थे। उनके पास पेमेंट के 435000 रुपये थे। सुंदर गोयल ने बताया कि जब वह मित्तल मेगा मॉल के सामने पहुंचे तो पीछे से बाइक पर आ रहे दो युवकों ने चलते-चलते कहा कि उनकी कार के पिछले टायर में कुछ दिक्कत है। इसपर उन्होंने गाड़ी को साइड में लगाया। वह शीशा नीचे करके जैसे ही सीट बेल्ट खोलने के लिए कंडक्टर साइड की ओर गर्दन घुमाई बाइक पर पीछे बैठे युवक ने उनके पास आकर गर्दन पर चाकू रख दिया। करीब 5 सैकेंड बाद दूसरी बाइक पर दो बदमाश और आये। दूसरी बाइक पर पीछे बैठे बदमाश ने कंडक्टर साइड की खिड़की खोली और सीट पर रखा थैला उलट दिया। थैले में टिफन व कुछ कागज थे। रुपयों की थैली कंडक्टर सीट के पास पैरों की तरफ रखी थी। थैले का सामन जैसे ही नीचे गिरा बदमाश की नजर रुपयों की थैली पर पड़ी और थैली उठाकर भाग निकले।

Advertisement

गर्दन सीधी की तो कट जाएगी
जब बदमाश ने सुंदर की गर्दन पर चाकू लगाया तब उनका मुंह कंडक्टर की तरफ था। बदमाश ने चाकू लगाते ही कहा गर्दन सीधी की तो कट जाएगी। व्यापारी ने बदमाश से कहा कि उनके पास कुछ नहीं है। व्यापारी अपनी जेब में हाथ डाला और जो भी था निकालकर बदमाश को दे दिया।

चारों ने लगाए थे हेलमेट, UP की थी भाषा
व्यापारी ने बताया कि दोनों बाइक पर सवार चारों बदमाशों ने हेलमेट लगाया था। पीछे बैठे दो बदमाशों ने काले कपड़े से मुंह ढका हुआ था। गर्दन पर चाकू लगाने वाला बदमाश हरियाणवी भाषा बोलने की कौशिश कर रहा था, लेकिन बदमाशों की भाषा UP की थी।

Advertisement

बदमाशों को पकड़ने के बजाय पूछताछ में उलझी रही पुलिस
सुंदर ने बताया कि वह बदमाशों के पीछे ही कार लेकर चिल्लाता हुआ चांदनी बाग थाने पहुंचा। गेट पर ही पुलिस वाले खड़े थे। थाना प्रभारी बदमाशों की नाकेबंदी कराने के स्थान पर उनसे ही रुपये कहा से लाने और ले जाने की जानकारी लेता रहा। प्रभारी ने एक फोन किया और उसमें भी बदमाशों की संख्या चार के स्थान पर तीन बता दी। व्यापारी का आरोप है कि पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने का प्रयास नहीं किया, नहीं तो तब तक बदमाश ज्यादा दूर नहीं निकले थे

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *