Connect with us

रिश्ते

7 साल पहले इंडिया घूमने आई थी पेरिस की लड़की, गाइड से हुआ प्यार और रचा ली शादी

Published

on

7 साल पहले फ्रांस के पेरिस शहर से मांडू घूमने आईं 33 साल की मारी अब पूरी तरह से भारतीय संस्कृति में रच-बस गई हैं। मांडू के पुरातात्विक किले और खूबसूरत वादियों का इतिहास गाइड से फ्रेंच भाषा में सुनते-सुनते शिक्षक मारी ने उनकी आंखों में अपने लिए प्रेम भी पढ़ लिया। हिंदी न जानने वाली इस विदेशी महिला ने गाइड धीरज से विवाह कर मांडू में जीवन बसर करने का निर्णय ले लिया।

वे मांडू में बैठकर फ्रांस के बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा रहीं

स्वयं शिक्षक होने के साथ पिता डॉक्टर और माता भी शिक्षक हैं। आज वे टूटी-फूटी हिंदी बोलने लगी हैं, तो भारतीय पहनावा साड़ी और सलवार सूट पहनकर गर्व भी महसूस करती हैं। आज भी पेरिस के बच्चों को ऑन लाइन पढ़ाती हैं, साथ ही नोट्स भी बनाकर भेजती हैं। अपने दोनों बच्चों को भी हिंदी और फ्रेंच सिखा रही हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि मारी मांडू में अपना घर बना रही हैं और इसके लिए मिस्त्री के साथ वे खुद काम करती हैं।

विदेशी मारी के हैं दो बच्चे- एक का नाम काशी तो दूसरे का नील

धीरज से शादी के बाद मांडू में बसीं मारी के अब दो बच्चे भी हैं। एक का नाम काशी (5) तो दूसरे का नील (3) है। एक का जन्म दिल्ली में हुआ तो दूसरे का कोच्चि में। मारी पूरे घर का काम खुद करती हैं। झाड़ू लगाने से लेकर साफ-सफाई और खाना बनाना। कम्प्यूटर सिस्टम पर अलग-अलग प्रकार के नोट्स तैयार कर सीधे बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाती हैं और उनकी मदद करती हैं। उसी प्रकार से अपने बच्चों को भी पढ़ा रही हैं। उनका कहना है कि मैं अपने बच्चों को अभी स्कूल नहीं भेजूंगी। 10 वर्ष तक मैं स्वयं उन्हें पढ़ आऊंगी और बेसिक चीजें सिखाऊंगी उसके बाद ही स्कूल भेजूंगी।

वे अक्सर साड़ी और सलवार सूट पहनती हैं

मारी पूरी तरह से देशी रंग में घुल गई हैं। वे अधिकतर सलवार सूट पहनती हैं, तो क्षेत्र में कहीं कोई कार्यक्रम हो तो साड़ी भी पहनती हैं। मारी ने कहा भारतीय परिवेश की साड़ी को पहनकर सुखद अनुभव होता है। वाकई में यहां का परिवेश संस्कारवान हैं और उस में ढ़ल कर मुझे एक अलग ही अनुभूति महसूस होती है। वहीं उनके बच्चे भी बाकी बच्चों के साथ पारंपरिक खेल खेलते हैं। बस वे खाने का खास ध्यान रखती हैं, ताकि सेहत बनी रही। इसके लिए वे सादे भोजन के साथ सादा नाश्ता, सलाद और कच्ची सब्जियां, अंकुरित अनाज, बिना तेल-घी के बनाती हैं। मारी या बच्चों को स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी आती है, तो वे फ्रांस में अपने पिता से संपर्क करती हैं और उनसे पूछकर ही इलाज करती हैं।

साड़ी और सलवार सूट में आती हैं नजर, मांडू वासियों ने भी अपनाया… 

मारी मांडू में चार कमरों वाला अपना आशियाना बना रही हैं। सुबह 10 से शाम 5 बजे तक वे पति के साथ मकान निर्माण कार्य खड़े रहकर कराते हैं और स्वयं भी काम करते हैं। मारी ईंट और रेत के माल की तगारी भी उठाती हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

रिश्ते

शादी के बाद लड़कों में अचानक आते हैं ये 8 बड़े बदलाव

Published

on

By

शादी सबके जीवन में मायने रखती है और यह सबके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण फैसला होता है. शादी का गलत फैसला केवल दो लोगों की नहीं बल्कि दो परिवारों की जिंदगी खराब कर सकता है. इसलिए शादी का ये अहम फैसला बहुत सोच समझकर करना चाहिए. शादी के बाद लोगों की जिंदगी में बहुत सारे बदलाव आते हैं. लोग ये सोचते हैं कि शादी के बाद ज्यादा एडजस्ट लड़कियों को ही करना पड़ता है क्योंकि वह अपना घर और परिवार छोड़ कर आती हैं. यह बात काफी हद तक सही भी है.

लेकिन यह कहना कि शादी के बाद सारे एडजस्टमेंट्स लड़कियों को ही करना पड़ता है, ये गलत है. भले ही लड़के अपना घर और परिवार छोड़कर नहीं आते लेकिन शादी के बाद एक लड़के के जीवन में भी बहुत बदलाव आते हैं. शादी के बाद एक लड़का भी उतना ही एडजस्ट करने की कोशिश करता है जितना कि एक लड़की करती है. शादी के बाद इंसान के स्वभाव में कई सारे बदलाव आते हैं. आज हम 8 ऐसे बदलाव के बारे में बात करेंगे जो शादी के बाद एक पुरुष में देखने को मिलते हैं.

जिम्मेदारी का एहसास:

कोई भी रिश्ता बहुत जिम्मेदारी के साथ निभाया जाता है. शादी के बाद एक पुरुष पहले से ज्यादा जिम्मेदार हो जाता है. वह पहले से ज्यादा मैच्योर हो जाते हैं और चीजों को जिम्मेदारी के साथ निभाने लगते हैं. उन्हें रिश्तों की फिक्र होने लगती है.

सीख जाता है शेयरिंग:

अकेले रहने का भी अपना एक मजा होता है. शादी के पहले पुरुष आजादी के साथ रहते हैं. लेकिन शादी के बाद उनकी ये आजादी थोड़ी कम हो जाती है. उनका पर्सनल स्पेस पहले की तरह नहीं रह जाता. उन्हें अपनी हर छोटी-बड़ी चीज अपने पार्टनर से शेयर करनी पड़ती है. शादी के बाद पहले पत्नी और फिर बच्चों के साथ वक्त बंट जाता है.

सोशली होना पड़ता है एक्टिव:

शादी दो परिवारों का मिलन होता है. शादी के बाद कई रिश्ते हमसे जुड़ जाते हैं. रिश्ते-नाते बेहद नाजुक होते हैं इसलिए शादी के बाद इसका खास ध्यान रखना चाहिए. जो लोग एकांत में रहना पसंद करते हैं शादी के बाद सोशली एक्टिव होना उनके लिए बड़ी चुनौती होती है.

सीख जाता है केयर करना:

शादी से पहले व्यक्ति केयरलेस थोड़ा ज्यादा होता है. वह अपनी चीजों का ज्यादा ध्यान नहीं रखता. लेकिन शादी के बाद वह जिम्मेदार हो जाता है. वह अपनी लापरवाही और बेफिक्री दूर करके अपने जीवनसाथी का ध्यान रखने लगता है.

बनाना पड़ता है तालमेल:

शादी के बाद हर एक रिश्ते को बराबर समय देना पड़ता है. पत्नी के आने के बाद उसे सबके लिए समय निकालना पड़ता है. इस तरीके से उसे रिश्तों के बीच तालमेल बिठाना आ जाता है.

छूट जाती है मस्तियां:

42-15618365

शादी के बाद पुरुषों की बैचलर लाइफ लगभग खत्म हो जाती है. शादी के बाद उनकी पहली प्राथमिकता अपने लाइफ पार्टनर को समय देना होता है.

शौक से करना पड़ता है समझौता:

शादी के बाद जिम्मेदारी बढ़ने के कारण पुरुष को अपने शौक से समझौता करना पड़ता है. नौकरी के साथ उसे अपने परिवार को समय देना पड़ता है. समय की कमी के कारण वह अपने शौक को पूरा नहीं कर पाता.

भविष्य को लेकर सतर्क:

शादी के बाद व्यक्ति अपने भविष्य को लेकर सतर्क हो जाता है. उसके ऊपर अपने पार्टनर को संतुष्ट रखने और उसे सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी होती है.

Continue Reading

Trending

Copyright © 2018 Panipat Live