Connect with us

विशेष

परिजनों ने बुजुर्ग को फ्रीजर बॉक्स में रखा, मौत का करते रहे इंतजार

Published

on

परिजनों ने बुजुर्ग को फ्रीजर बॉक्स में रखा, मौत का करते रहे इंतजार

 

बुजुर्ग को परिजनों ने फ्रीजर बॉक्स में रखा
तमिलनाडु के सलेम जिले में गंभीर रूप से बीमार एक 74 वर्षीय बुजुर्ग को फ्रीजर बॉक्स से निकालकर बचाया गया. बताया जा रहा है कि बुजुर्ग को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उनका परिवार कथित तौर पर उनके मरने का इंतजार कर रहा था इसलिए उन्हें रात भर फ्रीजर बॉक्स में लेटा रखा था.

 

बुजुर्ग को परिजनों ने फ्रीजर बॉक्स में रखा

बुजुर्ग व्यक्ति को उस वक्त बचाया गया जब कर्मचारी फ्रीजर बॉक्स वापस लेने आया. उसी शख्स ने व्यक्ति के जीवित होने की सूचना दी. जानकारी के मुताबिक 74 वर्षीय बुजुर्ग के भाई ने किराए पर वो फ्रीजर बॉक्स एजेंसी से लिया था. जो वीडियो सामने आया है उसमें वो बुजुर्ग व्यक्ति बॉक्स के अंदर सांस के लिए हांफते हुए नजर आ रहे हैं. उस व्यक्ति की पहचान बाल सुब्रमनिया कुमार के रूप में हुई है जिन्हें उस फ्रीजर बॉक्स से निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

बुजुर्ग को परिजनों ने फ्रीजर बॉक्स में रखा

घटना की जांच कर रहे अधिकारियों ने कहा कि 74 वर्षीय व्यक्ति को हाल ही में गंभीर हालत में अस्पताल से छुट्टी मिली थी. उनके भाई ने एक फ्रीजर बॉक्स मांगा था क्योंकि वह कथित तौर पर उनके मरने का इंतजार कर रहे थे.

बुजुर्ग को परिजनों ने फ्रीजर बॉक्स में रखा

एजेंसी के एक कर्मचारी जिसने परिवार को फ्रीज़र बॉक्स दिया था उसने बुजुर्ग को जीवित देखकर अलार्म बजाया और उसे अस्पताल पहुंचाया. देवलिंगम जो शव ले जाने के लिए मुफ्त वाहन उपलब्ध कराते हैं, वह भी घटना के बारे में सुनकर बुजुर्ग के घर पहुंच गए थे. उसने बताया कि “बुजुर्ग को पूरी रात फ्रीजर बॉक्स के अंदर रखा गया. उसने बताया कि मुझे परिवार ने कहा था – ‘बुजुर्ग की मौत हो चुकी है और उनके अंदर अब जान नहीं बची है.

बुजुर्ग को परिजनों ने फ्रीजर बॉक्स में रखा

पुलिस के अनुसार बुजुर्ग एक निजी कंपनी से स्टोर कीपर के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे. वो अपने भाई और एक भतीजी के साथ रहते हैं. परिवार के खिलाफ पुलिस ने अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज किया है.

Source : Aaj Tak
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *