Connect with us

समाचार

9वीं की छात्रा ने सुसाइड से 20 मिनट पहले किया था पापा को फोन और कही थी ये बात

नोएडा में एक 16 साल की लड़की ने मंगलवार को घर में लोहे की रेलिंग से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के पिता ने बेटी की खुदखुशी के बारे में कई खुलासे किए हैं, उन्होंने बताया कि सुसाइड से 20 मिनट पहले बेटी ने.. लड़की के पिता ने आरोप लगाया है कि उसके शिक्षक उसको अकेले […]

Published

on

नोएडा में एक 16 साल की लड़की ने मंगलवार को घर में लोहे की रेलिंग से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के पिता ने बेटी की खुदखुशी के बारे में कई खुलासे किए हैं, उन्होंने बताया कि सुसाइड से 20 मिनट पहले बेटी ने..

लड़की के पिता ने आरोप लगाया है कि उसके शिक्षक उसको अकेले में उसको गलत तरीके से छूता था। बेटी उनसे अक्सर कहा करती थी कि उसके सर उसको फेल कर देंगे।

लड़की के पिता के हिसाब से प्रिंसिपल भी उनकी बेटी से सीधे मूंह बात नहीं करता था। तीन दिन पहले ही बेटी कह रही थी कि पापा मैं साइंस तो निकाल लूंगी लेकिन एसएसटी वाले मुझे जरूर फेल कर देंगे।

मंगलवार को सुबह जब वह ऑफिस जा रहे थे तो बेटी का फोन आया। फोट सुसाइड के 20 मिनट पहले ही आया था उसमें बेटे ने कहा कि पापा मेरे लिए कोई कपड़ा ला रहे हो।

नोएडा पुलिस ने इस मामले में सही धाराओं को ना जोड़ने के लिए जांच अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है। जानकारी के अनुसार जांच अधिकारी ने शुरुआत में इस मामले में छेड़छाड़ की धारा पॉक्सो एक्ट नहीं जोड़ा था।

पिछले दिनों हुई परीक्षा के दौरान दो विषय में छात्रा की कंपार्टमेंट आ गई थी जिससे वह काफी परेशान थी। वहीं, पिता का आरोप है कि परीक्षा में कम नंबर आने से शिक्षक भी उसे प्रताड़ित कर रहे थे। पिता का कहना है कि बच्ची ने उन्हें बताया था कि एसएसटी के टीचर उसे गलत तरीके से छूते थे। मैंने उससे कहा चूंकि मैं भी एक टीचर हूं एक टीचर ऐसा नहीं कर सकता, यह उसकी गलतफहमी होगी। लेकिन इकिशा ने कहा कि वह उनसे डरती है और चाहे मैं कितना भी अच्छा कर लूं वो मुझे फेल ही कर देंगे।

इससे छात्रा काफी तनाव में थी। परिजनों से ज्यादा बात भी नहीं करती थी और घर से निकलना बंद कर दिया था। तनाव में उनकी बेटी ने आत्महत्या कर ली है। वहीं एसपी सिटी नोएडा अरुण के सिंह ने जानकारी दी है कि बच्ची के पिता ने स्कूल दो टीचरों पर बच्ची को प्रताड़ित करने और जानबूझ कर फेल करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने दोनों आरोपी शिक्षकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 और 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आगे की कार्रवाई जारी है। हमारे अधिकारी आज स्कूल का भी दौरा करेंगे।

वहीं स्कूल के प्रिंसिपल का कहना है कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। स्कूल सीबीएसई की प्रमोशन पॉलिसी फॉलो करता रहा है। मैं बता दूं कि वह फेल नहीं हुई थी, एक री-टेस्ट होने वाला था। हम पुलिस की जांच में उसकी सहायता करेंगे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *