Connect with us

राज्य

9 दिसम्बर को नई पार्टी बनाएंगे दुष्यंत चौटाला, पोस्टरों से ओम प्रकाश चौटाला की तस्वीर हुई गायब

Published

on

आगामी 9 दिसम्बर को दुष्यंत चौटाला इनेलो से अलग होकर नई पार्टी बनाने जा रहे हैं, लेकिन उससे पहले ही उनके पोस्टरों से पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला की तस्वीर गायब हो गई है.
इनेलो से अलग हुए दुष्यंत और दिग्विजय चौटाला जींद में किए जा रहे समस्त हरियाणा सम्मेलन के कार्यक्रम को लेकर पूरा जोर लगा रहे हैं. दुष्यंत समर्थकों द्वारा लगाए गए पोस्टरों से पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला की तस्वीर गायब है.

हालांकि इस मामले पर दुष्यंत चौटाला ने सफाई भी दी है. दुष्यंत ने कहा कि ओम प्रकाश चौटाला इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, कानूनी अड़चन के चलते उनकी तस्वीर नहीं लगा सकते.

चौटाला साहब का आशीर्वाद हमारे साथ- दुष्यंत

हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उन्होंने लोकसभा स्पीकर को लिखकर दे दिया है कि मेरे नाम के आगे इनेलो न लगाया जाए.

मुझे मेरी पार्टी से निष्कासित कर दिया है- दुष्यंत

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उन्होंने लोकसभा में ये स्टेटमेंट दी है कि उन्हें इनेलो से निष्कासित कर दिया गया है. इसके अलावा करण चौटाला द्वारा दिए जा रहे बयानों पर दुष्यंत ने कहा कि वो मेरा अजीज है, उन्हें हमारी चिंता करने की बजाय अपने संगठन की चिंता करनी चाहिए.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पानीपत

इस लड़ाई में पानीपत ने चीनी मशीनरी को फिर दी मात, छीन ली बादशाहत

Published

on

By

सोफा फैब्रिक्स इंडस्ट्री में पानीपत ने ड्रैगन (चीन) की बादशाहत को खत्म कर दिया है। पिछले तीन चार सालों से बाजार पर चीन का कब्जा था। वहां से आने वाले सस्ते और डिजायनर कपड़े की चमक को कम करने के लिए पानीपत के उद्यमियों ने दिन-रात एक कर दिया। दो वर्षों के भीतर यहां चीन से ही मशीनरी लाकर 50 से आधिक प्रोसेस हाउस लगाए गए और देखते ही देखते पानीपत में यह कारोबार 100 करोड़ रुपये से अधिक के जादुई आंकड़े को पार कर गया।

शहर में इस समय सोफा फैब्रिक्स निर्माण की 600 यूनिटें हैं। पहले यहां कॉटन का कपड़ा बनता था। धीरे-धीरे चीनी से आने वाले प्रिंटेड और डिजायनर पॉलिस्टर के कपड़ों ने शहर के बाजार पर कब्जा कर लिया। यहां के उद्योग-धंधे चौपट होने लगे। ऐसे में प्रतिद्वंद्वी चीन को टक्कर देने के लिए उद्यमियों ने कमर कसी।

रंग लाई मेहनत

चीनी मशीनरी लाकर यहां शटल लेस जेकॉर्ड पर सिंथेटिक का फैब्रिक बनाना शुरू किया। यह मेहनत रंग लाई और आज पानीपत ने डै्रगन की बादशाहत छीनकर अपना अधिकार फिर से हासिल कर लिया। अब अफ्रीकी देशों में भी यहां से सोफा कवर का निर्यात होने लगा है।

दो साल से कारोबार चौपट हो गया था

उद्यमी जोगेंदर खुराना बताते हैं कि दो साल यहां का कारोबार चौपट हो गया था। अब हम चीन को पछाड़ चुके हैं। मीडियम क्वालिटी रेंज का सोफा फैब्रिक्स सबसे अधिक पानीपत में बनने लगा है। कश्मीर से लेकर केरल तक यहां से कपड़ा निर्यात किया जा रहा है।

दोगुना हो सकता है निर्यात 

मुकेश फर्निसिंग मुकेश नारंग का कहना है कि सरकार यदि इस उद्योग की समस्याओं का निवारण करे तो निर्यात दोगुना हो सकता है। प्रदेश सरकार को उद्योगों की बिजली, प्रदूषण संबंधी समस्याओं को दूर करना चाहिए। इससे यहां हैवी क्वालिटी रेंज के फैब्रिक्स का निर्माण भी आसान होगा और निर्यात भी बढ़ेगा। फिलहाल, हैवी रेंज क्वालिटी सोफा फैब्रिक्स मुंबई से मंगाया जाता है।

जीएसटी, ड्यूटी बढऩे से राहत

इस इंडस्ट्री को जीएसटी और इंपोर्ट ड्यूटी बढऩे से भी राहत मिली है। आयात ड्यूटी के बढऩे से चीन से आने वाला माल अब महंगा हो गया है। जीएसटी लागू होने से उद्यमियों को इनपुट का लाभ मिल रहा है। इनपुट टैक्स के कारण इसका उत्पादन सस्ता हुआ है।  

मिंक कंबल में भी चीन को पीछे छोड़ा

पानीपत का मिंक कंबल विश्व बाजार में चीन के मिंक कंबल को चुनौती दे चुका है। पानीपत में मिंक कंबल का उत्पादन गोल्डन कंपनी ही कर रही थी। कोरिया और ताइवान से आधुनिकतम तकनीक वाली मशीनें मंगाकर यहां के उद्योगपतियों ने मिंक कंबल का उत्पादन शुरू किया और चीन को काफी पीछे छोड़ दिया।

Continue Reading

जींद

दिग्विजय चौटाला का दर्द छलका, बोले- सोचा नहीं था इनेलो से अलग होकर बनानी पड़ेगी पार्टी

Published

on

By

इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि इनेलो से अलग होकर इस तरह अलग पार्टी बनानी पड़ेगी। इनेलो से अलग होने का दर्द जरूर है, लेकिन प्रदेश की जनता का जो प्यार व दुलार इस समय मिल रहा है, उसने सबकुछ भुला दिया है। दिग्विजय चौटाला यहां एक होटल में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नौ दिसंबर को जींद में उमड़ने वाली भीड़ एक नया इतिहास लिखेगी।

इसी दिन सांसद दुष्यंत चौटाला लोगों के प्यार व दुलार से नई इबारत लिखेंगे। दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि नौ दिसंबर को जींद में समस्त हरियाणा सम्मेलन में इतनी भीड़ उमड़ेगी कि उतनी आज तक किसी भी रैली में नहीं उमड़ी। चौधरी देवीलाल ने जो 1986 में समस्त हरियाणा सम्मेलन किया था, उसका रिकार्ड नौ दिसंबर का समस्त हरियाणा सम्मेलन ही तोड़ेगा। दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि इस रैली में सांसद दुष्यंत चौटाला मुख्य वक्ता के रुप में भाग लेंगे। इसी दिन नई पार्टी के नाम की घोषणा की जाएगी। हरियाणा की जनता से मिल रहे समर्थन से उन्हें नया जोश मिला है। इसके बाद दिग्विजय सिंह चौटाला ने रैली स्थल का निरीक्षण किया।

लाखों की संख्या में जनता पहुंचकर देगी दुष्यंत चौटाला को आशीर्वाद : आनंद लाठर 

इनेलो के पूर्व हलका प्रेस प्रवक्ता आनंद लाठर ने कहा कि जींद में नौ दिसंबर को होने वाले समस्त हरियाणा सम्मेलन को लेकर लोगों का उत्साह दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। दुष्यंत चौटाला के राजनीतिक विरोधियों की नींद हराम हो रही है। उन्होंने कहा कि जुलाना के सभी 72 गांव में दुष्यंत चौटाला को लोगों का प्यार व आशीर्वाद मिल रहा है।

हर गांव से महिला व पुरुष अपने-अपने साधनों से हजारों की संख्या में पहुंचकर उनका हौंसला बढ़ाएंगे। अब प्रदेश की जनता ने दुष्यंत चौटाला को प्रदेश का सीएम बनाने का मन बना लिया है। यह रैली नया इतिहास रचेगी। इस मौके पर उनके साथ उपेंद्र दलाल, टिंकू नंबरदार, मीनू शर्मा, अमित काजल, अजय, रोहतास दलाल, सुरेंद्र खटकड़, आशीष दलाल, जितेंद्र लाठर, जोरा भी मौजूद रहे।

जुलाना से उमड़ेगा रैली में जनसैलाब : बीबीपुर 

हरको बैंक के पूर्व निदेशक पालाराम बीबीपुर ने कहा कि जुलाना हलके से हजारों की संख्या में लोग सांसद दुष्यंत चौटाला की समस्त हरियाणा सम्मेलन रैली में भाग लेंगे। इसमें 36 बिरादरी के लोग शामिल होंगे। उन्होंने जुलाना हलके के सभी गांवों का दौरा कर लोगों को निमंत्रण दिया है। लोगों में पूरा जोश व उत्साह है।

Continue Reading

जींद

हरियाणा की राजनीति में नई पार्टी की एंट्री आज, दुष्यंत चौटाला जींद में करेंगे एलान

Published

on

By

पांडू-पिंडारा की धरती पर रविवार को ताऊ देवीलाल के परिवार से एक और पार्टी का उदय होने जा रहा है। चौटाला परिवार की रार इस नई पार्टी के बनने के साथ ही सीएम की कुर्सी की जंग में बदल जाएगी। इस रैली से इनेलो से निष्कासित सांसद दुष्यंत और इनेसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय जींद रैली से अपने चाचा अभय चौटाला को ताकत दिखाने जा रहे हैं।  साथ ही दुष्यंत चौटाला खुद को भावी मुख्यमंत्री के तौर पर प्रस्तुत करेंगे। रैली में जुटने वाली भीड़ दुष्यंत के राजनीतिक भविष्य का फैसला करेगी। रैली को सफल बनाने के लिए दुष्यंत-दिग्विजय और उनकी टीम ने पूरा जोर लगा दिया है। रैली में कोई बड़ा नेता नहीं शामिल होगा। दुष्यंत के पिता अजय चौटाला के शामिल होने पर भी संशय बना हुआ है।

ग्रीन की जगह रहेगा रेड कारपेट 

रैली के लिए करीब 50 एकड़ का मैदान तैयार किया गया है। इस बार ग्रीन कारपेट की बजाय रेड कारपेट बिछाया जा रहा है। हालांकि, आयोजक बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं, लेकिन लोगों के बैठने के लिए करीब 16 एकड़ जमीन तैयार की गई है। रैली में आने वाले समर्थकों के लिए कुर्सियों की व्यवस्था नहीं है, सभी को जमीन पर बैठना होगा।

जारी किया जाएगा नया झंडा

रैली में दुष्यंत नई पार्टी का एलान तो करेंगे ही नया झंडा और नया सियासी निशान भी जारी किया जाएगा। दुष्यंत और दिग्विजय के लिए रैली चुनौतीपूर्ण होगी। रैली उनके पिता अजय चौटाला के बिना आयोजित की जा रही है। उधर, रैली में भारी युवा शक्ति को जुटाने का टारगेट रखा गया था। इसके तहत हर विधानसभा क्षेत्र से दुष्यंत और दिग्विजय ने अन्य समर्थकों के साथ-साथ युवाओं को ज्यादा एकत्रित करने के लिए जोर दिया है।

दुष्यंत ही होंगे मुख्य चेहरा

रैली को लेकर किसी भी बड़े नेता को नहीं बुलाया गया है। पूरा फोकस दुष्यंत चौटाला पर ही रहेगा। पहले सूचनाएं थी कि रैली में दूसरे प्रदेश से कोई बड़ा नेता भाग ले सकता है लेकिन अब आयोजकों ने इससे इनकार कर दिया है। हरियाणा की जनता के सामने केवल दुष्यंत को ही बड़ा चेहरा बनाकर दिखाया जाएगा।

कई राजनेता आ सकते हैं मंच पर

रैली में अजय चौटाला के आने पर संशय है, लेकिन प्रदेश के कई नेता शामिल हो सकते हैं। नई पार्टी के संगठन को रूप देने के लिए इस प्रकार की तैयारी है कि भारी संख्या में जन प्रतिनिधि पार्टी में शामिल होने की घोषणा कर सकते हैं। इसके लिए पंच से लेकर विधायक तक के जनप्रतिनिधियों को तैयार किया गया है।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2018 Panipat Live