Connect with us

विशेष

शराब नहीं मिली तो सैनिटाइजर का कर लिया सेवन, 9 लोगों की मौत

Published

on

शराब नहीं मिली तो सैनिटाइजर का कर लिया सेवन, 9 लोगों की मौत

 

आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में लॉकडाउन के चलते शराब न मिलने पर लोगों ने सैनिटाइजर का सेवन कर लिया. जिसके बाद नौ लोगों की मौत हो गई. इनमें से 3 की मौत गुरुवार जबकि 6 की मौत शुक्रवार को हुई. पुलिस के मुताबिक प्रकाशम जिले के कुरिचेदु मंडल मुख्यालय में कोरोना संक्रमण की वजह से लॉकडाउन लगा हुआ है. इसके चलते शहर व इसके आसपास के गांवों में शराब की दुकानें पिछले दस दिनों से बंद हैं. शराब न मिलने पर उसके शौकीन लोगों ने अपनी लत पूरी करने के लिए सैनिटाइजर का सेवन करना शुरू कर दिया है. सैनिटाइजर बनाने में अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाता है. जिसका इस्तेमाल हाथ साफ करने में किया जाता है. लेकिन इसका सेवन लोगों की जान ले सकता है.

शराब नहीं मिली तो सैनिटाइजर का कर लिया सेवन, 9 लोगों की मौत

गुरुवार रात सैनिटाइजर पीकर 3 लोगों ने तोड़ा दम
गुरुवार रात तीन भिखारियों ने शराब की तलब लगने पर सैनिटाइजर का सेवन कर लिया. इनमें से दो भिखारी एक स्थानीय मंदिर में भीख मांगा करते थे. सैनिटाइजर पीने के बाद गुरुवार रात उनके पेट में अचानक तेज जलन की समस्या पैदा हुई.  जिसके बाद एक की तुरंत मौके पर ही मौत हो गई.  दूसरे को दारसी में अस्पताल ले जाया गया. जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. एक अन्य 28 वर्षीय शख्स ने देसी शराब में सैनिटाइजर को मिलाकर पीया.  वह अपने घर पर ही बेहोश होकर गिर पड़ा. परिवार वाले उसे अस्पताल लेकर गए. जहां पर उसने दम तोड़ दिया.

शुक्रवार तड़के सैनिटाइजर के सेवन से 6 और लोगों की मौत हो गई
शुक्रवार तड़के छह और लोगों को अस्पताल ले जाया गया. जहां पर इन सभी की मौत हो गई. मृतकों की पहचान श्रीनू (25), तिरुपति (37), रेमिरेड्डी (60), कदियम रमैय्या (29), रमैय्या (65), राजिरेड्डी (65), बाबू (40), चार्ल्स (45) और ऑगस्टीन (47) के रूप में की गई है. पुलिस अब यह पता लगाने की कोशिश में जुटी है कि सैनिटाइजर का सेवन करने वाले ऐसे कितने लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

पुलिस ने इलाके की दुकानों से सैनिटाइजर को जब्त किया
अमरावती के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ कौशल ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा कि इलाके की दुकानों से सैनिटाइजर्स को जब्त कर लिया गया है. उन सैनिटाइजर्स को अब रासायनिक विश्लेषण के लिए भेज दिया गया है. पुलिस यह जानने का प्रयास कर रही है कि क्या ये सभी सिर्फ सैनिटाइजर का ही उपयोग कर रहे थे या किसी ओर रसायन को भी साथ मिलाया गया था.