Connect with us

विशेष

एमपी में लावारिस हालत में मिला ‘कोवैक्सीन’ से भरा ट्रक, ड्राइवर लापता, 16 KM दूर पड़ा था मोबाइल

Published

on

Advertisement

एमपी के नरसिंहपुर जिले में एक ट्रक लावारिस हालत में मिला है। इस ट्रक में कोरोना की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ लदी थी। वहीं, ड्राइवर का कुछ पता नहीं चल पाया है। ड्राइवर का मोबाइल घटना स्थल से 16 किलोमीटर दूर मिला है। दूसरे ड्राइवर की मदद से ट्रक को करनाल भेजा गया है।

भोपाल एमपी के नरसिंहपुर जिले स्थित करेली बस अड्डे के पास सड़क किनारे करीब 12 घंटे से लावारिस खड़ी एक लॉरी मिली है, जिसमें ‘कोवैक्सीन’ टीके की आठ करोड़ रुपये मूल्य की 2.40 लाख खुराक लदी थीं। इस लॉरी का इंजन चालू था और चालक गायब है। इंजन चालू रहने से इसका रेफ्रिजेरेटर काम कर रहा था। इससे उम्मीद जताई जा रही है कि इस लॉरी के कंटेनर में रखीं ‘कोवैक्सीन’ की 2.40 लाख खुराक सुरक्षित होंगी।

इस वाहन से ‘कोवैक्सीन’ टीका हैदराबाद से करनाल भेजा जा रहा था। नरसिंहपुर एसपी विपुल श्रीवास्तव ने बताया कि इस वाहन का पंजीयन नंबर टीएन-06 क्यू 6482 है और शुक्रवार रात करीब 12 घंटे खड़ी रहने के बाद इसे इसके गंतव्य स्थान करनाल (हरियाणा) के लिए यहां से रवाना करवा दिया गया।

Advertisement

उन्होंने कहा कि ‘कोवैक्सीन’ टीके की खुराक हैदराबाद से लाई गई थीं। श्रीवास्तव ने बताया कि शुक्रवार दोपहर पुलिस को सूचना मिली कि नरसिंहपुर जिला मुख्यालय से करीब 16 किलोमीटर दूर करेली बस अड्डे के पास एक लॉरी खड़ी है, जिसका इंजन चालू है और इसपर भारत बायोटेक कंपनी लिखा है। एसपी ने कहा कि हमने गुरुग्राम की ट्रांसपोर्ट कंपनी टीसीआई से संपर्क किया और उन्हें चालक रहित लॉरी के बारे में जानकारी दी। कंपनी ने जीपीएस सिस्टम के जरिये इसे करेली में खड़ा पाया और जब वे इसके चालक से संपर्क नहीं कर पाए तो वे भी चिंतित हो गए।

Advertisement

श्रीवास्तव ने बताया कि इसके बाद इस कंपनी ने एक चालक का बंदोबस्त किया और यह लॉरी शुक्रवार रात आठ बजे करनाल के लिए रवाना हो गई। उन्होंने कहा कि इस लॉरी का चालक विकास मिश्रा अब भी लापता है। हमें उसका मोबाइल फोन मौके से 16 किलोमीटर दूर एक जगह पर मिला है। श्रीवास्तव ने कहा कि लॉरी का इंजन चालू होने के कारण रेफ्रिजरेटर काम कर रहा था। इसलिए मुझे उम्मीद है कि इसमें रखे टीके सुरक्षित होंगे।

एमपी: कोवैक्सीन से भरा कंटेनर लावारिस हालत में मिला, ड्राइवर-कंडक्टर दोनों गायब - corona vaccine container found unclaimed madhya pradesh shocking news - AajTak

यह पूछे जाने पर कि क्या इस लॉरी चालक को लूटा गया होगा, उन्होंने कहा कि पारिस्थितिजन्य साक्ष्य बताते हैं कि इस वाहन चालक को लूटा नहीं गया होगा। यदि लूटा गया होता तो अब तक वाहन चालक मिल गया होता। हो सकता है कि वह अपने परिवार में चल रही अनबन के कारण गायब हो गया हो। वह उत्तर प्रदेश के अमेठी का रहने वाला है और 22 से 25 वर्ष के बीच उसकी उम्र होगी। उसे ढूंढ़ने के प्रयास जारी हैं।

Advertisement
Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *