Connect with us

City

कृषि कानून वापस, जाम खुलता है तो कारोबारियों को मिलेगी बड़ी राहत

Published

on

Advertisement

कृषि कानून वापस, जाम खुलता है तो कारोबारियों को मिलेगी बड़ी राहत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरु पर्व पर तीनों कृषि कानून वापस करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही जीटी रोड पर लगा जाम भी हट सकता है। इससे पानीपत को बड़ी राहत मिल जाएगी। करोड़ों का कारोबार ठप हो चुका है। बाहर से बायर आना नहीं चाह रहे। देशभर में जो कंबल, शाल, कपड़ा सप्लाई होता है, उस पर भी असर पड़ा है। जाम खुलने से व्यापार और गति पकड़ेगा।

चीन से मिंक कंबल मंगाया जाता था। पानीपत के उद्यमियों ने मिंक कंबल की ही फैक्ट्रियां यहां लगा लीं। चीन से आयात पूरी तरह से बंद कर दिया। मिंक कंबल पर निर्भरता पूरी तरह से खत्म कर दी। पोलर कंबल उत्पादन में भी इसी तरह पानीपत आगे निकल गया। लेकिन किसान आंदोलन की वजह से काम बुरी तरह से प्रभावित हुआ। ऐसा पहली बार हुआ कि दीवाली तक फैक्ट्रियों में स्टाक पड़ा हुआ था। इससे पहले दीवाली के दिनों में कभी स्टाक नहीं होता था। यहां तक की रेट बढ़ जाया करते थे। उद्यमियों को सामान्य रेट पर ही माल बेचना पड़ा।

Advertisement

किसान आंदोलन खत्‍म होने और जाम खुलने से कारोबारियों को राहत।

टोल प्लाजा पर खुशी

Advertisement

टोल प्लाजा पर इस समय खुशी का माहौल है। किसानों का कहना है कि उनके संघर्ष की जीत हुई है। संयुक्त किसान मोर्चा के फैसले का समर्थन करेंगे। अगर कहेंगे कि धरने से हटना है तो हट जाएंगे।

जाम हटना है जरूरी

Advertisement

उद्यमी विनोद खंडेलवाल का कहना है कि इस समय जाम हटना जरूरी है। काम काफी प्रभावित हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा से अब उम्मीद जगी है कि धरना हट जाएगा। इससे पानीपत के कारोबार को राहत मिलेगी। निर्यातक ललित का कहना है कि हाईवे पर धरना लगा होने से घूमकर जाना पड़ता है। इस वजह से काफी समय खराब हो जाता है। बाहर से बायर भी नहीं आ पाते। स्थानीय उद्यमियों को तो और ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ रही है।

Advertisement